Home »Rajasthan »Udaipur» BSc Nursing

भास्कर खुलासा : बीएससी नर्सिग साइकोलॉजी प्रथम वर्ष का पेपर आउट

भवभूति भट्ट | Dec 12, 2012, 02:50 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
उदयपुर.बीएससी नर्सिग के प्रथम वर्ष साइकोलॉजी का पर्चा आउट हो गया। इसका खुलासा भास्कर संवाददाता ने किया। उसने खुद कुछ छात्रों की मदद से इम्तहान से चार घंटे पहले यह पर्चा हासिल किया।
इसे प्रामाणिक बनाने के लिए दोपहर 12.32 मिनट पर इस पर्चे को कलेक्टर को फैक्स के जरिए भेजा गया। परीक्षा दोपहर दो बजे से थी। शाम साढ़े पांच बजे के बाद जब पर्चा परीक्षा केन्द्रों से बाहर आया तो उसमें पांचों प्रश्न हूबहू मिले।
कलेक्टर विकास एस भाले ने इस बात की तस्दीक की है कि फैक्स और पर्चे के पांच सवाल एक ही है। राजस्थान हेल्थ एंड साइंस यूनिवर्सिटी के मुख्य परीक्षा नियंत्रक विनोद बियानी के मुताबिक फैक्स मंगाकर जांच कराई जाएगी। बात सही निकली तो यह परीक्षा निरस्त कराकर दोबारा कराई जाएगी।
मंगलवार को राज्य के सभी नर्सिग कॉलेजों में प्रथम वर्ष साइकोलॉजी की परीक्षा हुई। इसमें राज्य से करीब पांच हजार से अधिक छात्र छात्राओं ने भाग लिया। परीक्षा से एक दिन पहले ही हस्तलिखित प्रश्न पत्र बाजार में बिका।
एमबी नर्सिग कॉलेज के प्राचार्य विजया अजमेरा का कहना है कि आरएनटी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य कक्ष में डबल लॉक में यह प्रश्नपत्र रखे गए थे। वहां से लीक होने का सवाल नहीं उठता। अब सवाल यह उठ रहा है कि पर्चा आखिर कहां से आउट हुआ।
रैकेट था सक्रिय
जानकार सूत्रों के मुताबिक पर्चा बेचकर लाखों के वारे न्यारे किए गए। प्रति प्रश्न पत्र पांच हजार रुपए से भी ज्यादा की वसूली की गई। जो छात्र छात्राएं यह राशि उन्हें मुहैया करा चुके थे, उन्हें यह प्रश्न पत्र उपलब्ध कराने के साथ ही प्रश्नों के उत्तर की भी तैयारी करवाई गई। उदयपुर में इस गिरोह ने परीक्षा की तैयारी के बाद उन छात्र छात्राओं को परीक्षा से ठीक पहले ही अपने ठिकाने से बाहर निकाला।
आगे क्या
यूनिवर्सिटी को मामले की जांच करानी होगी। प्रश्न पत्र दुबारा बनवाकर नए सिरे से परीक्षा करवानी पड़ेगी। परिणाम घोषित करने में भी देरी होगी। इससे शैक्षिक सत्र गड़बड़ाने की भी आशंका है।
पांच हजार में बिका पर्चा
प्रश्न पत्र बाजार में होने की सूचना भास्कर संवाददाता को मिली। संवाददाता कुछ छात्रों के साथ हिरणमगरी क्षेत्र में परीक्षार्थी बनकर पहुंचा। वहां एक युवक ने पर्चा दिया। इसके एवज में पांच हजार रुपए दिए। इसके तुरंत बाद संवाददाता ने भास्कर ऑफिस से कलेक्टर के दफ्तर में पर्चा फैक्स कर दिया, ताकि परीक्षा से पहले प्रश्न पत्र बाजार में होने की पुष्टि हो सके।
शाम साढ़े पांच बजे आरएनटी मेडिकल कॉलेज से पेपर देकर निकले छात्र छात्राओं से प्रश्न पत्र लिया, जिसमें हूबहू ये प्रश्न थे। इस पर कलेक्टर से भी चर्चा की गई। परीक्षा की जिम्मेदारी उदयपुर में एमबी नर्सिग कॉलेज प्रशासन पर थी।
प्रभावित कौन
विद्यार्थी- पेपर आउट होने से विद्यार्थियों को परीक्षा की दुबारा तैयारी करनी पड़ेगी। दुबारा परीक्षा होने में कम से कम एक माह लग सकता है। इससे परिणाम देरी से आएगा और भविष्य की योजनाओं पर असर पड़ेगा।
यूनिवर्सिटी-मामले की जांच करानी होगी। दुबारा परीक्षा करवाने का खर्च भी यूनिवर्सिटी को करवाना पड़ेगा। इस घटना का यूनिवर्सिटी की प्रतिष्ठा पर भी असर पड़ेगा।
अभिभावक-बीएससी नर्सिग करने वाले ज्यादातर विद्यार्थी घर से दूर रहते हैं। परीक्षा में देरी का अतिरिक्त खर्च अभिभावकों पर पड़ेगा। मानसिक परेशानी भी होगी।
जो प्रश्न भास्कर से आए फैक्स में थे, वही बाद में प्रश्नपत्र में मिले। अब इसकी जांच राजस्थान हेल्थ एंड साइंस यूनिवर्सिटी करवा सकती है। प्रश्न पत्र लीक होने की स्थिति में पुन: परीक्षा करवाई जाएगी।
विकास एस भाले,कलेक्टर, उदयपुर
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: BSc Nursing
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Udaipur

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top