Home »Sports »Cricket »Latest News» Ayaz Memon Artical On Cricket

PICS: 'मेहमानों के सामने फजीहत तो नहीं करनी चाहिए थी'

अयाज मेमन की कलम से | Dec 16, 2012, 10:04 IST

  • बीसीसीआई की चयन समिति और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की घोर आलोचना कर पूर्व चयनकर्ता मोहिंदर अमरनाथ (जिमी) सुर्खियां बटोर रहे हैं। एक क्रिकेटर के रूप में और एक शालीन व्यक्तित्व के कारण उनकी जो उजली छवि बनी हुई थी, उसमें हल्की सी खरोंच आ गई है। मोहिंदर ने अपनी भड़ास निकालने का समय सही नहीं चुना। इंग्लैंड टीम इन दिनों भारत के दौरे पर है। कम से कम उन्हें मेहमानों के सामने अपने लोगों की फजीहत तो नहीं करनी चाहिए थी।



    तस्वीरों के जरिए पढ़िए पूरा लेख- अयाज मेमन की कलम से...

  • दरअसल, मोहिंदर टीम चयन में बीसीसीआई के कथित हस्तक्षेप से दुखी हैं। वे चयन में आजादी के पक्षधर हैं। वे साफ-साफ कहते हैं कि बीसीसीआई का प्रशासन योग्यता के आधार पर नहीं है। उनका तो यह भी कहना है कि पहले टीम का चयन होना चाहिए और फिर उसके बाद कप्तान तय किया जाए। जिमी ने चौथे टेस्ट के ठीक पहले क्यों धोनी व बीसीसीआई की आलोचना की यह समझ से परे है। आखिर उनका उद्देश्य क्या था? वे एक दिन की सनसनी क्यों बनना चाहते थे? यह और बात है कि मोहिंदर को इसका जरा भी मलाल नहीं है कि उन्होंने अपनी बात रखने का समय सही नहीं चुना।

    मोहिंदर के विरोध से तीन बातें स्पष्ट हैं- 1. बीसीसीआई धोनी को कप्तानी से हटाने के लिए तैयार नहीं हुई तो उन्होंने विरोध जताते हुए तत्काल इस्तीफा क्यों नहीं दिया?

  • -भारत अगस्त में न्यूजीलैंड को 2-0 से हराने में कामयाब रही, तब क्यों वे चुप्पी साधे रहे। अब जब टीम इंडिया खराब खेल रही है तो अपना पक्ष रख रहे हैं।

    - चयन समिति से जब मोहिंदर को हटाया गया तब लंबे समय तक वे खामोश क्यों रहे?


    मोहिंदर ट्राई सीरीज वनडे क्रिकेट में विराट कोहली को कप्तान बनाने के पक्ष में हैं। जहां तक टेस्ट का सवाल है तो वे धोनी की जगह सहवाग या गौतम गंभीर को देखना चाहते हैं। गंभीर को कप्तान बनाए जाने का सुझाव इसलिए आश्चर्यजनक है क्योंकि गौतम गंभीर ऑस्ट्रेलिया में बल्ले से असफल रहे हैं। टीम में उनकी वापसी की भी कोई गारंटी नहीं थी। मोहिंदर ने तो यहां तक कह दिया कि धोनी की टेस्ट टीम में जगह बनती ही नहीं है। अब जब नागपुर टेस्ट में संकट के क्षणों में धोनी ने दायित्वपूर्ण 99 रन की पारी खेली है तो अब जिमी क्या कहेंगे। धोनी की कप्तानी में भारत ने दो वल्र्डकप (50 ओवर, ट्वेंटी20 ओवर) जीता है। ऐसे में जिमी की बातें किसी के गले नहीं उतर रही है।

  • जहां तक बीसीसीआई के नियमों का सवाल है तो चयन समिति द्वारा लिए गए निर्णय पर बीसीसीआई अध्यक्ष को वीटो का अधिकार है। श्रीनिवासन ने वही किया जो नियमानुसार उचित लगा। मोहिंदर को बीसीसीआई के नियमों का सम्मान करना चाहिए था तथा चयन समिति के अंदर की बात को बाहर उजागर करने से बचना चाहिए था। बीसीसीआई से पंगा लेकर उन्हें क्या मिला।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Ayaz Memon artical on cricket
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Latest News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top