Home »Sports »Cricket »Cricket Classic» Best ODI Century By Indians Vs Pakistan Virat Kohli Sehwag Ganguly

TOP 5: जब इंडियन बल्लों ने की पाकिस्तानियों की धुलाई

Dainikbhaskar.com | Dec 19, 2012, 11:35 IST

  • खेल डेस्क. पाकिस्तान की टीम पांच साल के इंतजार के बाद भारत क्रिकेट खेलने आ रही है। हमेशा से चिरप्रतिद्वंद्वी रही पाकिस्तानी टीम यहां 3 वनडे और 2 टी-20 मुकाबले खेलेगी।
    इन दोनों टीमों के बीच होने वाला मैच हमेशा रोमांच भरा रहता है। दोनों ही तरफ के खिलाड़ी मैदान पर जीत दर्ज करने की हर संभव कोशिश करते हैं।
    जब भारत और पाकिस्तान की टीमें आमने सामने होती हैं तो माहौल का गर्म होना लाजमी सा हो जाता है। इसी दौरान होती है दोनों टीमों के खिलाड़ियों के बीच गहमागहमी।
    dainikbhaskar.com आपके लिए लाया है पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय बल्लेबाजों द्वारा लगाए टॉप 10 सेंचुरी का ब्यौरा, जिनके दम पर टीम इंडिया ने चटाई पड़ोसी टीम को धूल...
  • virat kohli
    विराट कोहली - 183
    18 मार्च 2012 को ढाका में खेले गए एशिया कप के मुकाबले में भारतीय वनडे क्रिकेट सनसनी विराट कोहली ने शानदार 183 रन की पारी खेली थी। पाकिस्तान के खिलाफ किसी भी इंडियन बल्लेबाज द्वारा खेली गई यह सबसे बड़ी वनडे पारी है।
    कोहली ने बल्ले से पाकिस्तानी गेंदबाजों की जम कर खबर ली थी। स्टार स्पिनर सईद अजमल से लेकर फास्ट बॉलर उमर गुल तक, हर कोई कोहली के आगे नतमस्तक दिखा था।
    कोहली ने धुआंधार बल्लेबाजी करते हुए महज 148 गेंदों का सामना कर 22 चौकों और 1 छक्के की मदद से 183 रन बनाए थे। इसी पारी के दम पर भारत ने 330 रन का मुश्किल लक्ष्य आसानी के साथ हासिल कर लिया था।
    नतीजा - भारत 6 विकेट से जीता।
  • महेंद्र सिंह धोनी - 148 रन
    5 अप्रैल 2005 को विशाखापट्टनम वनडे में धोनी ने इस पारी से सभी को अपना दीवाना बना लिया था। पाकिस्तानी गेंदबाजों की बेरहमी से पिटाई करने के बाद उन्हें कप्तान बनने का सुनहरा अवसर मिला था।
    कप्तान सौरव गांगुली ने धोनी को तीसरे क्रम पर बल्लेबाजी करने का मौका दिया था। उन्होंने अपने कप्तान के फैसले का मान रखते हुए महज 123 गेंदों में 148 रन बनाए थे। अपनी इस आतिशी पारी में धोनी ने 15 चौके और 4 गगनचुंबी छक्के लगाए थे। उनके हेलिकॉप्टर शॉट के आगे मोहम्मद समी, नवेद उल हसन और अब्दुल रज्जाक जैसे दिग्गज बगलें झांकते नजर आए थे।
    नतीजा - भारत 58 रन से जीता।
  • सौरव गांगुली - 141 रन
    पाकिस्तान के खिलाफ वनडे में तीसरी सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने नाम है। उन्होंने 25 जनवरी 2000 को एडिलेड में हुए घमासान में 141 रन बनाए थे। ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान और भारत के बीच हुई ट्राइएंगुलर सीरीज के 9वें मैच में गांगुली की बल्लेबाजी देखने लायक थी। उन्होंने महज 144 गेंदों में 12 चौकों और 1 छक्के की मदद से 141 रन बनाए थे। इसी की बदौलत भारत ने पाकिस्तान के सामने 268 रन का टार्गेट रखा था।
    नतीजा - भारत 48 रन से जीता।
  • सौरव गांगुली - 124 रन
    प्रिंस ऑफ कोलकाता की यह पारी 141 रन से भी ज्यादा शानदार थी। उन्होंने टार्गेट का पीछा करते हुए यह शतक लगा कर टीम को जीत दिलाई थी। 18 जनवरी 1998 को ढाका में हुए वनडे में गांगुली ने 11 चौकों और 1 छक्के की मदद से 124 रन बनाए थे।
    पाकिस्तान ने भारत के सामने 315 रन का कठिन लक्ष्य रखा था। गांगुली ने अपने बल्ले से इस पहाड़ जैसे स्कोर को छोटा साबित कर दिया था। उन्हीं के शतक के दम पर भारत 7 विकेट से मैच जीता था।
    नतीजा - भारत 7 विकेट से जीता।
  • वीरेंद्र सहवाग - 119 रन
    पाकिस्तान के खिलाफ पांचवीं सबसे बड़ी विनिंग पारी खेलने का रिकॉर्ड सहवाग के नाम है। वीरू ने 26 जून 2008 को कराची में हुए वनडे मैच में इस सेंचुरी से टीम को शानदार जीत दिलाई थी। गंभीर के महज 9 रन के स्कोर पर आउट होने के बाद सहवाग ने सुरेश रैना के साथ मिल कर 300 रन के टार्गेट को अचीव करने में मदद की थी।
    सहवाग ने कराची में अपना आतिशी अंदाज दिखाते हुए महज 95 गेंदों में 12 चौके और 5 छक्के लगाते हुए 119 रन बनाए थे। सहवाग और रैना ने दूसरे विकेट के लिए 198 रन जोड़े थे।
    नतीजा - भारत 3 विकेट से जीता।
  • सचिन तेंडुलकर - 118 रन

    मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर ने अपने वनडे करियर में पाकिस्तान के खिलाफ 5 सेंचुरी लगाईं, लेकिन कुल एक बार वे टीम को जीत दिला पाए। 15 अप्रैल 1996 को शारजाह में खेली गई यह ऐतिहासिक पारी बेहद खास थी। साथी सलामी बल्लेबाज विक्रम राथौड़ के महज 2 रन के स्कोर पर आउट होने के बाद तेंडुलकर ने नवजोत सिंह सिद्धू के साथ मिल कर टीम को 305 रन का स्कोर बनाने में मदद की थी।

    सचिन का सामना था वकार यूनिस, आकिब जावेद और सकलैन मुश्ताक जैसे दिग्गज गेंदबाजों से। उन्होंने बॉलिंग अटैक की ताकत की परवाह किए बगैर आतिशी अंदाज में 118 रन बनाए थे। सचिन ने अपनी उस पारी में 8 चौके और 2 छक्के लगाए थे। उन्होंने सिद्धू के साथ मिल कर दूसरे विकेट के लिए बेहतरीन 231 रन जोड़े थे।

    यही नहीं, सचिन ने उस मुकाबले में अपनी गेंदबाजी से भी योगदान दिया था। उन्होंने महज 40 रन देकर बासित अली और सकलैन मुश्ताक के विकेट चटकाए थे।

    नतीजा - भारत 28 रन से जीता।

  • वीरेंद्र सहवाग - 108 रन

    टीम इंडिया के स्टार ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने 2005 में हुई वनडे सीरीज में यह शानदार सैकड़ा लगाया था। 2 अप्रैल 2005 को कोच्चि में हुए वनडे में उन्होंने राहुल द्रविड़ के साथ मिल कर टीम को 281 रन के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया था।

    सचिन तेंडुलकर (4) और कप्तान सौरव गांगुली (0) के सस्ते में आउट होने के बाद उन्होंने द्रविड़ के साथ मिल कर टीम को बचाया था।

    वीरू ने मोहम्मद समी, नवेद उल हसन और अब्दुल रज्जाक को धुनते हुए 9 चौकों और 3 छक्कों की मदद से महज 95 गेंदों में 108 रन बनाए थे। उन्होंने द्रविड़ के साथ मिल कर तीसरे विकेट के लिए 201 रन जोड़े थे।

    नतीजा - भारत 87 रन से जीता।

  • युवराज सिंह - नाबाद 107 रन

    टीम इंडिया के स्टार युवराज सिंह ने दूसरी पारी में यह सेंचुरी लगा कर टीम को शानदार जीत दिलाई थी। युवी की नॉटआउट सेंचुरी के दम पर भारत ने पाकिस्तान द्वारा दिए 287 रन के टार्गेट को हासिल किया था।

    19 फरवरी 2006 को कराची में हुए मैच में युवी ने 93 गेंदों का सामना करते हुए 14 चौकों की मदद से 107 रन बनाए थे। उन्होंने मोहम्मद समी, मोहम्मद आसिफ और इफ्तिखार अंजुम जैसे दिग्गजों को ठिकाने लगाया था।

    नतीजा - भारत 8 विकेट से जीता।

  • वीवीएस लक्ष्मण - 107 रन

    टेस्ट मैचों में बड़ी पारियां खेलने के लिए मशहूर रहे वीवीएस लक्ष्मण ने 24 मार्च 2004 को लाहौर में हुए वनडे मुकाबले में मैच विनिंग नॉक खेला था।

    लक्ष्मण के शतक की बदौलत भारत ने मैच के साथ-साथ ऐतिहासिक सीरीज जीत दर्ज की थी। वीवीएस ने सचिन तेंडुलकर और सहवाग के फेल होने के बाद पारी को संभाला था। उन्होंने अपने स्वभाव के विपरीत अंदाज में खेलते हुए 11 चौकों की मदद से महज 104 गेंदों में 107 रन बनाए थे। इसी सेंचुरी के दम पर भारत ने पाक के सामने 294 रन का लक्ष्य रखा था।

    लाहौर में हुए उस वनडे को 40 रन से जीतने के बाद भारत ने पांच मैचों की सीरीज पर 3-2 से कब्जा जमाया था। पाकिस्तान में यह भारत की पहली सीरीज जीत थी।

    नतीजा - भारत 40 रन से जीता।

  • राहुल द्रविड़ - 104 रन

    टीम इंडिया की दीवार ने 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ एकमात्र विनिंग सैकड़ा लगाया था। 2 अप्रैल 2005 को कोच्चि में हुए वनडे में द्रविड़ ने 136 गेंदों का सामना करते हुए 6 चौकों की मदद से 104 रन बनाए थे।

    उस मैच में वे मोहम्मद समी द्वारा रन आउट हो कर पवेलियन लौटे थे। उसी मैच में सहवाग ने भी 108 रन की पारी खेली थी।

    नतीजा - भारत 87 रन से जीता।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: best ODI century by indians vs pakistan virat kohli sehwag ganguly
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Cricket Classic

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top