Home »Sports »Cricket »Talking Pictures» Cheteshwar Pujara Brilliant In ODI Format Too

PHOTOS: वनडे में भी दमदार हैं पुजारा, खुद ही देख लीजिए आंकड़े

Dainikbhaskar.com | Jan 11, 2013, 09:56 IST

  • खेल डेस्क. टीम इंडिया शुक्रवार को राजकोट में इंग्लैंड के खिलाफ पहला वनडे मुकाबला खेल रही है (पढ़ें लाइव अपडेट)। धोनी के धुरंधर पाकिस्तान के खिलाफ आखिरी वनडे में जीत दर्ज करने के बाद जोश में लौट आए हैं, लेकिन वे मेहमान टीम को किसी कीमत पर हलके में नहीं लेंगे।
    मैच की पूर्व संध्या पर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा था कि वे दिल्ली वाली प्लेयिंग इलेवन ही जारी रख सकते हैं। लेकिन उन्‍होंने एक बदलाव करते हुए टीम में शमी अहमद की जगह अशोक डिंडा को लिया है। उनका यह फैसला टीम पर भारी पड़ सकता है। लोकल ब्वॉय और मैन इन फॉर्म चेतेश्वर पुजाराको बाहर रखना टीम के लिए महंगा साबित हो सकता है।
    पुजारा ने कर्नाटक के खिलाफ मुकाबले में 352 रन की पारी खेली। राजकोट के यूनिवर्सिटी ग्राउंड पर हुए क्वार्टरफाइनल में पुजारा ने मैच विनिंग नॉक खेलते हुए 427 गेंदों में 49 चौके और 1 छक्का लगाया। इससे पहले मध्यप्रदेश के खिलाफ उन्होंने नाबाद 203 रन बनाए थे।
    पुजारा के पराक्रम ने सौराष्ट्र को रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में पहुंचा दिया।
    फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अलग-अलग लेवल पर खेलते हुए यह पुजारा की पांचवी ट्रिपल सेंचुरी है। रनों के बादशाह सचिन तेंडुलकर एक पारी में 300 रन का आंकड़ा छूने में नाकाम रहे हैं। लेकिन पुजारा बड़ी आसानी के साथ इस कारनामे को अंजाम दे देते हैं।
    ऐसा नहीं कि पुजारा सिर्फ टेस्ट जैसे गंभीर फॉर्मेट में ही धमाल कर सकते हैं। 50-50 ओवरों के फॉर्मेट में भी उन्होंने बेहतरीन औसत से रन बनाए हैं।
    अक्टूबर 2012 में खेले आखिरी घरेलू वनडे टूर्नामेंट में उन्होंने सौराष्ट्र को चैंपियन बनाया था। एनकेपी साल्वे चैलेंजर ट्रॉफी में पुजारा ने बेहतरीन बैटिंग का प्रदर्शन कर यह उपलब्धि हासिल की थी।
    आगे क्लिक कर देखिए, पुजारा की खास वनडे पारियों की झलक
  • प्रज्ञान ओझा की पिटाई कर बनाए नाबाद 158 रन
    29 सितंबर 2012 को राजकोट में खेले गए NKP साल्वे चैलेंजर ट्रॉफी के पहले मुकाबले में इंडिया-बी टीम के सामने 336 रन का टार्गेट था। पुजारा ने कप्तानी पारी खेलते हुए महज 126 गेंदों में 16 चौकों और 2 छक्कों की मदद से नॉटआउट 158 रन बनाए। हालांकि, उनकी यह पारी टीम को जीत नहीं दिला सकी। दूसरे छोर से मदद न मिल पाने के कारण उनकी टीम महज पांच रन से चूक गई। लेकिन उन्हें बेहतरीन नॉक के लिए मैन ऑफ द मैच दिया गया।
  • बंगाल की बजाई बैंड, फिर रहे नॉटआउट
    1 अक्टूबर 2012 को बंगाल के खिलाफ अगले वनडे में कप्तान पुजारा ने पहली पारी में फिर शतक लगाया। उन्होंने 130 गेंदों का सामना करते हुए 10 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 124 रन बनाए। इस बार भी कोई गेंदबाज पुजारा का विकेट लेने में असफल रहा। इसी पारी के दम पर इंडिया-बी ने बंगाल के सामने 329 रन का टार्गेट रखा। इंडिया-बी यह मैच 21 रन से जीती।
  • फिर जिताया खिताब
    टूर्नामेंट के फाइनल में इंडिया-ए और बी आमने सामने थे। पुजारा ने एक बार फिर बेहतरीन बल्लेबाजी का प्रदर्शन करते हुए टूर्नामेंट में लगातार तीसरा 50 प्लस स्कोर बनाया। उन्होंने 80 गेंदों में 8 चौकों की मदद से 79 रन बनाए। इस मैच में उन्हें परविंदर अवाना ने यूसुफ पठान के हाथों कैच करवा कर आउट किया।
    इंडिया-बी टीम यह मैच 139 रन से जीती और साथ ही खिताब पर भी कब्जा जमाया।
  • डेब्यू मैच में ठोका था तिहरा शतक
    महज 12 साल की उम्र से ही पुजारा के अंदर रनों की भूख है। सौराष्ट्र की अंडर-14 टीम से डेब्यू करते हुए उन्होंने पहले ही मैच में ट्रिपल सेंचुरी लगाई। इस पारी ने यह दिखा दिया कि देश को एक और स्टार बल्लेबाज मिलने वाला है।
  • फर्स्ट क्लास क्रिकेट में धमाकेदार प्रदर्शन ने पुजारा को इंडिया-बी टीम की कप्तानी दिलाई। महज 75 फर्स्ट क्लास मैचों में सौराष्ट्र के इस स्टार ने 59.02 की औसत से 6021 रन बनाए हैं, जिसमें 19 शतक और 22 अर्धशतक शामिल हैं।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: cheteshwar pujara brilliant in ODI format too
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Talking Pictures

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top