Home »Sports »Cricket »Latest News» How Sreesanth Got Involved In IPL Spot Fixing

गुस्सैल रवैया और पैसा कमाने की चाह... इन्होंने बिगाड़ा श्रीसंथ का हाल?

Dainikbhaskar.com | Sep 13, 2013, 17:33 IST

  • खेल डेस्क. कभी टीम इंडिया की शान रहे तेज गेंदबाज श्रीसंथ पर ताउम्र प्रतिबंध लग चुका है। बीसीसीआई ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में कार्रवाई करते हुए उस कांड में पकड़े गए सभी खिलाड़ियों पर लाइफटाइम बैन लगा दिया है।
    इसी साल आईपीएल के दौरान स्पॉट फिक्सिंग कांड का खुलासा हुआ था। राजस्थान रॉयल्स टीम जो टूर्नामेंट में फेयर प्ले अवार्ड की होड़ में टॉप पर थी, उसी टीम के तीन खिलाड़ी प्रशंसकों के जज्बातों के साथ खिलवाड़ करते हुए पकड़ाए। रॉकस्टार इमेज वाले श्रीसंथ, हरियाणा के अजित चंडिला और अंकित चव्हाण की सटोरियों के साथ बातचीत जब पुलिस ने रिकॉर्ड कर मीडिया में सार्वजनिक की, तो खेल के पीछे के खेल का पर्दाफाश हो गया।
    आखिर कैसे फंस गए ये तीन होनहार खिलाड़ी स्पॉट फिक्सिंग की दलदल में? क्या श्रीसंथ में पहले से थे भटकने के लक्ष्ण? आगे क्लिक कर जानिए, इन गंभीर सवालों के जवाब...
    Sports News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड करें Hindi News App और रहें हर खबर से अपडेट
  • अधि‍कारि‍यों के मुताबि‍क तकनीक ने पंटर्स के काम करने का तरीका बदल दि‍या है। पहले वो एक छोटे से कमरे में बुकिंग करते थे तो अब उनके पास बीपीओ की तरह सेटअप है। इनकी टीम में एक व्‍यक्‍ति दुबई में अपने आका को रि‍पोर्ट देता रहता है और वहां से निर्देश लेता है तो बाकी के लोग सट्टा लगवाने में व्‍यस्‍त रहते हैं। सट्टे में सब कुछ जुबान पर ही होता है।
    पुलि‍स ने इस ऑपरेशन में डाले छापे के दौरान एक कमरे से मि‍ले 113 मोबाइल और 100 इयरफोन सीज कि‍ए हैं। इनमें से 110 मोबाइल का प्रयोग सट्टा लगाने में होता था। दो मोबाइल से सट्टे के नए रेट लि‍ए जाते थे। एक मोबाइल बुकीज की हॉटलाइन होती थी।
    दि‍ल्‍ली और एनसीआर के इलाके में पि‍छले सप्‍ताहांत में आईपीएल-6 के मैचों में पांच करोड़ का सट्टा लगा था। सट्टेबाजी में बैक एन ले प्रो नाम के एक सॉफ्टवेयर का भी प्रयोग कि‍या गया।
  • सट्टेबाजी का रेट वि‍केट गि‍रने और रन बनने के दौरान गि‍रता चढ़ता रहा। टीवी पर लाइव आने वाला क्रि‍केट भी सट्टेबाजों की मदद करता रहा और वह मोबाइल से अपना धंधा बढ़ाते रहे। सट्टेबाजी में मोबाइल फोन में कॉल रि‍कॉर्डिंग की सुवि‍धा ने भी खासी मदद की।
    युवाओं और कि‍शोरों में सट्टेबाजी नशे की तरह फैल रही है। क्राइम ब्रांच के सूत्र बताते हैं कि सट्टे का बीज बुकीज अक्‍सर स्‍कूल-कॉलेज जाने वाले कि‍शोरों में बोते हैं। बुकीज इन कि‍शोरों के ग्रुप को कान्‍टैक्‍ट करते हैं। वह वहां पर सट्टा लगाने की बात करते हैं और उस ग्रुप से यह बात दूसरे ग्रुप तक फैलती है।
    सट्टे की शुरुआत 3000 रुपयों से शुरू होती है। बुकीज के नि‍शाने पर अक्‍सर अमीरों के बच्‍चे रहते हैं जो और लोगों को भी सट्टेबाजी के लि‍ए लेकर आते हैं। सड़क के कि‍नारे पर लगने वाली दुकानें और साइबर कैफे इन बुकीज के कॉमन अड्डे होते हैं।
  • गुस्‍सैल व्‍यक्ति
    श्रीसंथ काफी गुस्‍सैल इंसान हैं। गुस्‍सैल इतने कि वो यह भी भूल जाते हैं कि पूरी दुनिया उन्‍हें देख रही है। सोशल मीडिया पर श्रीसंथ के गुस्से की जानवरों से तुलना अकसर उन्हें मजाक का विषय बना देती है। एक बार तो एंड्रयू सायमंड्स को आउट करने के बाद उन्‍होंने ऐसा गुस्सा दिखाया कि मीडिया में सुर्खियां बन गए।
  • अंधविश्‍वासी इंसान
    श्रीसंथ बहुत ही धार्मिक परंतु अंधविश्‍वासी इंसान है। अंधविश्‍वासी इतने अधिक हैं कि मैच खेलने से पहले वह भगवान का पत्र लिखना नहीं भूलते हैं। हर मैच से पहले वह बैट छोड़कर कागज और कलम संभाल लेते हैं। पत्र के अंत में श्रीसंथ कभी भी अपना नाम नहीं लिखते हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर श्रीसंथ भगवान के नाम पत्र में लिखते क्‍या होंगे ? वो लिखते हैं कि कल का मैच मैं अपने देश के लिए जीतूंगा। हे भगवान, मेरी मदद कीजिएगा।
  • यारों के यार, दुश्‍मनों के दुश्‍मन
    श्रीसंथ यारों के यार हैं। वह दुश्‍मनी को भूल कर आगे बढ़ने में यकीन रखते हैं। लेकिन कभी भी दुश्‍मन को नहीं भूलते हैं। आईपीएल के थप्पड़ वाली घटना के बाद श्रीसंथ ने भले ही हरभजन से दोस्‍ती कर ली हो लेकिन मौका मिलते ही वार करना नहीं भूले।
  • डांस के शौकीन
    श्रीसंथ को चाहने वालों ने उन्‍हें कई मौकों पर ठुमके लगाते हुए देखा है। इसी साल मई में जयपुर में ट्राइटन मॉल में किंगफिशर प्रीमियम की ओर से क्रिकेट फैन्स के लिए बॉल आउट इवेंट आयोजित किया गया था। इसमें इसमें राजस्थान रॉयल्स टीम से एस. श्रीसंथ, सिद्धार्थ त्रिवेदी, ब्रेड हॉज, सचिन बेबी, सैमुअल बद्री खिलाड़ी ने बल्ला संभाला। मौका मिलते ही एस.श्रीसंथ ने पुंगी बजा के सांग पर चीयरलीडर्स के साथ ठुमके लगाए।
  • तोड़फोड़ में माहिर
    श्रीसंथ भले ही साफ दिल के इंसान हों लेकिन उन्‍हें गुस्‍सा बहुत जल्‍दी आता है। पुणे में 11 अप्रैल को वॉरियर्स के खिलाफ हार के बाद उन्होंने अपना गुस्सा ड्रेसिंग रूम में निकाला था। जब आखिरी ओवर में श्रीसंथ की धुनाई हुई, तो वे खुद से काफी नाराज थे। मैच के बाद ड्रेसिंग रूम पहुंचते ही उन्होंने अपने दो चश्मे तोड़ दिए। गुस्से में उन्होंने अपनी कुर्सी को भी जोर से धक्का दिया। साथियों ने उन्हें समझाया और हार को खेल का हिस्सा मानने के लिए कहा। श्रीसंथ ने मैच का अंतिम ओवर किया था, जिसमें एक छक्का व एक चौका लगा था। वे रॉयल्स की तरफ से सबसे महंगे साबित हुए थे और 16 गेंदों पर ही 38 रन दिए थे।
  • धार्मिक इंसान 
     
    श्रीसंथ काफी धार्मिक इंसान हैं। मंदिरों से लेकर क्रिकेट के मैदान तक में वह भगवान को शुक्रिया अदा करना नहीं भूलते हैं। दक्षिण भारत से लेकर उत्‍तर भारत के मंदिरों में कई बार श्रीसंथ को देखा गया है। मैदान में विकेट लेने के बाद कभी भी वो ऊपर वाले को शुक्रिया करना नहीं भूलते हैं। 
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: how sreesanth got involved in IPL spot fixing
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Latest News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top