Home »Sports »Cricket »Cricket Classic» India Beat Pakistan In ODI Series After Losing 1st Match Dhoni Dravid

PICS: जब चुपचाप से धोनी ने पाकिस्तान को रौंद डाला

Dainikbhaskar.com | Jan 01, 2013, 12:08 IST

  • कोलकाता. चेन्नई में पहला वनडे शानदार अंदाज में जीतकर नए उत्साह और जोश से लबरेज पाकिस्तानी क्रिकेट टीम सोमवार को कोलकाता पहुंच गई।
    टीम इंडिया के अधिकांश खिलाड़ी मंगलवार सुबह यहां पहुंचेंगे। भारतीय सितारे परिजनों के साथ नया साल मनाने के लिए टीम इंडिया के सितारों को एक दिन की छुट्टी दी गई है।
    भारतीय टीम के सिर्फ कप्तान धोनी, रवींद्र जडेजा और अशोक डिंडा ही कोलकाता पहुंचे हैं। डिंडा कोलकाता के निवासी हैं जबकि धोनी का ससुराल कोलकाता में ही है। दोनों देशों के बीच दूसरा वनडे मैच 3 जनवरी को ईडन गार्डन में खेला जाएगा।
    मेजबान टीम सीरीज में 0-1 से पिछड़ी हुई है। टेस्ट और टी-20 के बाद वनडे में भी पराजय मिलने के बाद से ही प्रशंसक धोनी ब्रिगेड से खासे नाराज हैं।
    टीम इंडिया इस समय सीरीज में पीछे जरूर है, लेकिन इसमें ज्यादा घबराने की बात नहीं है। धोनी एंड कंपनी यदि राहुल द्रविड़ के कदमों पर चले तो पाकिस्तान पर पलटवार करना ज्यादा मुश्किल नहीं होगा।
    सात साल पहले द्रविड़ एंड कंपनी का भी हाल कुछ ऐसा ही हुआ था। उस समय टीम की हालत और भी ज्यादा खस्ता थी। पाकिस्तान से हार मिली थी और वह भी पाकिस्तान के पेशावर शहर में।
    उस समय टीम के कप्तान रहे राहुल द्रविड़ ने अपनी टीम को टूटने नहीं दिया और एक चमत्कार कर टीम को हिट करवा दिया।
    आगे क्लिक कर जानिए, क्या था राहुल द्रविड़ का कारनामा...
  • गांगुली ने की थी शुरुआत
    पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने 2003 में हुए पाकिस्तान दौरे पर विनिंग परफॉर्मेंस दिया था। उनकी अगुवाई वाली टीम इंडिया ने पाकिस्तान को उसी के घर पर वनडे सीरीज में 3-2 से हराने का कारनामा किया था। पांच मैचों की सीरीज में राहुल द्रविड़, सचिन तेंडुलकर और सौरव गांगुली का दबदबा रहा था। 1998 के बाद यह भारत की पाकिस्तान में पहली सीरीज जीत थी।
  • अब द्रविड़ पर थी जिम्मेदारी
    फरवरी 2006 में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में भारतीय टीम पाकिस्तान पहुंची थी। द्रविड़ से सभी को गांगुली जैसे कारनामे की उम्मीद थी।
  • पहले ही मैच में मिली हार
    भारत का पहला मुकाबला पेशावर में था। 6 फरवरी 2006 को हुए वनडे में मेहमान टीम इंडिया 328 रन का विशाल स्कोर खड़ा करने के बावजूद हार गई थी। सचिन तेंडुलकर ने उस मुकाबले में शानदार 100 रन की पारी खेली थी, लेकिन बारिश के कारण वह बेकार हो गई थी।
    डकवर्थ लुईस नियम के अंतरगत मेजबान पाकिस्तान को 7 रन से विजेता घोषित कर दिया गया था। इस जीत के साथ ही पाकिस्तान ने पांच मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली थी।
  • रावलपिंडी में मिली पहली जीत
    सीरीज का दूसरा मुकाबला 11 फरवरी को रावलपिंडी में था। टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने उतरे पाकिस्तान ने शोएब मलिक (95) और यूनिस खान (81) के अर्धशतकों के दम पर 265 रन का स्कोर खड़ा किया।
    266 रन के टार्गेट को भारतीय टीम ने 43.1 ओवरों में हासिल कर लिया था। ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने 67, सचिन तेंडुलकर ने 42 और कप्तान राहुल द्रविड़ ने 56 रन की मैच विनिंग पारियां खेली थीं।
    मैच के स्टार थे नाबाद 82 रन की तूफानी पारी खेलने वाले युवराज सिंह। युवी ने महज 89 गेंदों में 8 चौकों व 2 छक्कों की मदद से नाबाद 82 रन बनाए थे।
    तेज गेंदबाज इरफान पठान को 43 रन देकर 3 विकेट लेने के लिए मैन ऑफ द मैच अवार्ड से नवाजा गया था। इरफान ने सलमान बट्ट (0), कामरान अकमल (14) और शाहिद आफरीदी (18) के कीमती विकेट झटके थे।
  • फिर नहीं रुकी टीम इंडिया
    रावलपिंडी में 7 विकेट से धमाकेदार जीत दर्ज करने के बाद टीम इंडिया ने मुड़ कर पीछे नहीं देखा। रावलपिंडी के बाद लाहौर में 5 विकेट से, मुल्तान में 5 विकेट से और कराची में 8 विकेट से जीत दर्ज कर भारतीय टीम ने पांच मैचों की सीरीज पर 4-1 से कब्जा जमाया था।
  • युवी के साथ जमे थे धोनी
     
    19 फरवरी को कराची में हुए फाइनल मैच में पाकिस्तान ने भारत के सामने 287 रन का लक्ष्य रखा था। कप्तान राहुल द्रविड़ ने 50 रन और गौतम गंभीर ने 38 रन की पारियां खेल कर जीत की नींव रख दी थी। 
     
    इन दोनों खिलाड़ियों के आउट होने के बाद युवराज सिंह ने महेंद्र सिंह धोनी के साथ मिल कर मोर्चा संभाला। युवी ने जहां 14 चौकों की मदद से नाबाद 107 रन बनाए थे, वहीं धोनी 6 चौकों और 4 छक्कों से सजी 77 रन बना कर नॉट आउट रहे थे।
  • युवी रहे थे मैन ऑफ द सीरीज, स्टार रहे थे तेंडुलकर-धोनी
     
    सीरीज में 172 की औसत से 344 रन बनाने के लिए युवराज सिंह को मैन ऑफ द सीरीज का अवार्ड दिया गया था। उन्होंने उस सीरीज में 1 शतक और 2 अर्धशतक लगाए थे।
     
    सचिन तेंडुलकर ने भी अपना रोल बखूबी निभाते हुए 59.25 के एवरेज से 1 शतक और 1 अर्धशतक समेत 237 रन बनाए थे। महेंद्र सिंह धोनी ने पांच मैचों की 4 पारियों में 219 की औसत से 3 अर्धशतकों समेत 219 रन बनाए थे। 
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: india beat pakistan in ODI series after losing 1st match dhoni dravid
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Cricket Classic

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top