Home »Sports »Cricket »Cricket Classic» Mike Gatting Abused Umpire Shakoor Rana

PICS: जब गुस्से से बौखलाया इंग्लैंड का कप्तान, अंपायर को दे डाली दनादन गाली

Dainikbhaskar.com | Dec 08, 2012, 06:50 IST

  • खेल डेस्क. इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टर कुक अपने शालीन व्यवहार से भारत में वाहवाही बटोर रहे हैं। भारतीय गेंदबाजों के सामने उनका बल्ला बोल रहा है न कि जुबान। लेकिन इंग्लैंड क्रिकेट के इतिहास में कुछ ऐसे भी कप्तान हुए जो कि शर्म लिहाज सब भूल कर बदतमीजी पर उतर आए थे।
    1987 में हुई उस घटना में जितनी गलती इंग्लिश कप्तान माइक गैटिंग की थी, उतने ही दोषी पाकिस्तानी अंपायर शकूर राणा भी थे।
    क्रिकेट के मैदान पर अकसर खिलाड़ी अपना आपा खो बैठते हैं। जीत के जुनून में वो प्रतिद्वंदी खिलाड़ी को नीचा दिखाने के लिए बहसबाजी तक पर उतारू हो जाते हैं। लेकिन यदि खिलाड़ियों को नियंत्रित करने के लिए मैदान पर तैनात अंपायर ही उलझने लगे तो? पाकिस्तान के शकूर राणा का नाम इसी कारण क्रिकेट इतिहास के सबसे विवादास्पद अंपायरों में शुमार है।
    आगे क्लिक कर जानिए, उस बदनाम किस्से की पूरी दास्तां...
  • शकूर राणा को उनकी बल्लेबाजी से अधिक अंपायरिंग के लिए जाना गया। हालांकि राणा की अंपायरिंग तो उम्दा थी, फिर भी मैदान पर इंग्लैंड के कप्तान माइक गैटिंग के साथ हुए विवाद ने उन्हें बदनाम कर दिया। राणा ने पहली बार 1974 में पाकिस्तान बनाम वेस्ट इंडीज मैच में बतौर अंपायर इंटरनेशनल डेब्यू किया।

  • 1987 को पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच हुआ फैसलाबाद टेस्ट राणा के करियर का सबसे विवादास्पद मुकाबला था। हुआ कुछ यूं कि इंग्लैंड के एडी हेमिंग्स ने एक गेंद डाली जिसे राणा ने डेड बॉल करार दे दिया। अंपायर के इस फैसले पर इंग्लैंड के कप्तान माइक गैटिंग भड़क उठे।

  • राणा का तर्क था कि गैटिंग ने गेंदबाज के रन अप शुरू करने के बाद फील्डिंग में परिवर्तन किया है। क्रिकेट के नियमों के अनुसार एक कप्तान ऐसा नहीं कर सकता। लेकिन गैटिंग को यह बात अच्छी नहीं लगी। उन्होंने शकूर राणा के साथ गाली गलौंच शुरू कर दी। जवाब में राणा ने भी अभद्र भाषा में गैटिंग का जवाब दिया। मामला इतना बढ़ गया कि राणा ने अंपायरिंग करने से मना कर दिया।

  • राणा ने यह मांग रखी कि जबतक गैटिंग उनसे लिखित माफी नहीं मांगेंगे वो मैदान पर नहीं जाएंगे। इस कारण दिन का खेल जल्दी समाप्त करना पड़ा। इस वाकये के कारण गैटिंग की कप्तानी खतरे में पड़ गई थी। अंततः उन्हें राणा से माफी मांगनी पड़ी।

  • इससे पहले दिसंबर 1984 में राणा के एक फैसले पर न्यूजीलैंड के कप्तान जेरेमी कोनी ने उंगली उठाई थी। राणा ने पाकिस्तान के जावेद मियांदाद के पक्ष में फैसला दिया था। इसके बाद कोनी ने अपनी टीम के साथ मैदान छोड़ने की धमकी दे डाली थी।

  • इस वाकये के बाद आईसीसी को मजबूरन तटस्थ अंपायर का नियम लाना पड़ा। इसके अंतर्गत एक टेस्ट मैच के दौरान मेजबान टीम के अंपायर नहीं हो सकते।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: mike gatting abused umpire shakoor rana
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Cricket Classic

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top