Home »Sports »Cricket »Cricket Classic» Zaheer Abbas Record 100th Century Against India

पाकिस्तानी के शतक के आगे चवन्नी है तेंडुलकर की 100th CENTURY

Dainikbhaskar.com | Dec 11, 2012, 12:54 IST

  • खेल डेस्क. मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर के गिरते फॉर्म पर चाहे जितने भी सवाल क्यों न खड़े हों, लेकिन इस साल भारतीय क्रिकेट के लिए एकमात्र यादगार लम्हा सिर्फ और सिर्फ उनका 100वां शतक रहा।
    बांग्लादेश के खिलाफ एशिया कप में सेंचुरी लगा कर तेंडुलकर ने इस शानदार रिकॉर्ड को हासिल किया। इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतक लगाने वाले वे दुनिया के एकमात्र बल्लेबाज हैं। उन्होंने वनडे में 49 और टेस्ट में 51 सेंचुरी लगाई हैं।
    वनडे और टी-20 क्रिकेट भले ही कितने भी रोमांचक क्यों न हों, एक बल्लेबाज की असली परख फर्स्ट क्लास क्रिकेट में होती है। सचिन ने इंटरनेशनल में 100 शतक भले ही लगाए हों, लेकिन वे प्रथम श्रेणी क्रिकेट में यह कारनामा नहीं कर सके। वर्तमान फॉर्म को देखते हुए शायद ही वे कभी इस असली महाशतक तक पहुंच सकें।
    फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 100 या उससे अधिक सेंचुरी लगाने का कारनामा वैसे तो 25 बल्लेबाजों ने किया है, लेकिन एशिया से सिर्फ एक बल्लेबाज ने 100 फर्स्ट क्लास सेंचुरी लगाई हैं। उस धाकड़ बल्लेबाज का नाम है, जहीर अब्बास।
    आगे क्लिक कर जानिए, कैसे जहीर अब्बास ने अपनी शानदार बल्लेबाजी से बनाया था यह अनूठा रिकॉर्ड...
  • भारत के खिलाफ किया कारनामा
    11 दिसंबर 1982 को पाकिस्तान के जहीर अब्बास ने भारत के खिलाफ लाहौर में हुए टेस्ट मुकाबले में फर्स्ट क्लास करियर का 100वां शतक लगाया था। उन्होंने इमरान खान की कप्तानी में खेलते हुए कपिल देव, मदनलाल व मोहिंदर अमरनाथ जैसे दिग्गजों के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए 215 रन बनाए थे। जहीर 334 मिनट तक क्रीज पर डटे रहे थे। उन्होंने 254 गेंदों का सामना करते हुए 23 चौकों व 2 छक्कों की मदद से करियर की चौथी डबल सेंचुरी लगाई थी।
  • 1969 में शुरू हुआ था सफरनामा
    सियालकोट के रहने वाले जहीर अब्बास ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 1969 में हुई घरेलू टेस्ट सीरीज से पदार्पण किया था। पहले मैच में वे 12 और 27 रन की पारियां खेल पाए थे। लेकिन उनकी काबिलियत इससे कहीं अधिक थी।
  • दूसरे मैच में किया धमाका
    जहीर अब्बास ने करियर का दूसरा मैच इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम में खेला। 3 जून 1971 को हुए उस मैच में उन्होंने पहली पारी में 467 गेंदों का सामना करते हुए 38 चौकों से सजी 274 रन की पारी खेली थी। ड्रा में खत्म हुए उस हाई स्कोरिंग मैच में जहीर ट्रिपल सेंचुरी के करीब पहुंच गए थे, लेकिन रे इलिंगवर्थ ने लकहर्स्ट के हाथों कैच करवा कर उन्हें उससे महरूम कर दिया था।
  • टूट पड़े थे अंग्रेज... सबकी चाहते थे जहीर
    जहीर अब्बास की पॉपुलारिटी सिर्फ पाकिस्तान तक सीमित नहीं थी। इंग्लैंड की लगभग हर काउंटी टीम उन्हें अपने साथ जोड़ना चाहती थी। लेकिन उन्होंने लो-प्रोफाइल ग्लूसेस्टरशायर टीम से जुड़ने का फैसला किया। जहीर के जुड़ने के बाद उस टीम की जैसे कायापलट हो गई। अब्बास ने लगभग हर साल काउंटी सीजन में 1000 से अधिक रन बनाए। 1976 में उन्होंने बेहतरीन 2544 रन बनाए। 1981 में भी वे 2305 रन बना कर स्टार रहे।
  • इकलौते एशियाई
    वैसे तो बल्लेबाजी में एशियाई क्रिकेटरों को रिकॉर्ड-किंग माना जाता है, लेकिन फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 100 शतक लगाने वाले जहीर एकमात्र एशियाई खिलाड़ी हैं। उन्होंने भारत के खिलाफ 1982 में हुए टेस्ट मैच में यह उपलब्धि हासिल की थी।
  • सचिन हैं बहुत पीछे
    सचिन तेंडुलकर ने इंटरनेशनल क्रिकेट में भले ही 100 शतक पूरे कर लिए, लेकिन फर्स्ट क्लास के मामले में वे अभी बहुत पीछे हैं। तेंडुलकर ने 51 टेस्ट सेंचुरी समेत अब तक कुल 79 सैकड़े लगाए हैं। जहीर अब्बास ने अपने करियर में 12 टेस्ट और 96 फर्स्ट क्लास सेंचुरी लगाई हैं।
  • जैक हॉब्स हैं नंबर 1
    फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सर्वाधिक 100 प्लस पारियां खेलने के मामले में इंग्लैंड के जैक हॉब्स नंबर 1 हैं। कैम्ब्रिज के इस स्टाइलिश बल्लेबाज ने अपने करियर में खेले 834 फर्स्ट क्लास मैचों में 50.70 के एवरेज से 61760 रन बनाए, जिसमें 199 शतक और 273 अर्धशतक शामिल रहे।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: zaheer abbas record 100th century against india
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Cricket Classic

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top