Home »Sports »Other Sports »Others» Meet Oscar Pistorius Richest Paralympic Athlete

STAR: अपंग हो कर भी यह खिलाड़ी है सोने की खदान, 2700,00,000 रु का है अकेला मालिक

Dainikbhaskar.com | Feb 15, 2013, 12:04 IST

  • जोहानिसबर्ग. साउथ अफ्रीका के स्टार ऑस्कर पिस्टोरियस वैलेंटाइन्स डे के अगले दिन प्रिटोरिया की अदालत में अपनी सुनवाई का इंतजार कर रहे हैं। दोनों पैर न होने के बावजूद दुनिया के सबसे तेज धावक का रुतबा रखने वाले ऑस्कर पर अपनी गर्लफ्रेंड का खून करने का संगीन आरोप लगा है।
    वैलेंटाइन्स डे की सुबह पिस्टोरियस ने कथित तौर पर अपनी गर्लफ्रेंड रीवा स्टीनकैंप को घुसपैठिया समझ कर गोलियों से भून दिया था। इस मामले में जांच अभी जारी है।
    आपको यह जान कर हैरानी होगी कि अपंग होने के बावजूद ऑस्कर पिस्टोरियस सबसे ज्यादा कमाई करने वाले ओलिंपियन एथलीट्स में 8वें पायदान पर हैं। उन्हें अकसर 'साउथ अफ्रीकन गोल्ड माइन' के नाम से भी बुलाया जाता है।
    6 गोल्ड मैडल्स के साथ पैरालिंपिक के अनेकों वर्ल्ड रिकॉर्डधारी पिस्टोरियस पर यह आरोप लगना वाकई दुखद है।
    पिस्टोरियस के कारनामे सुन कर शायद ही कोई इस बात पर विश्वास करे कि उन्होंने एक हसीना का खून कर दिया।
    आगे क्लिक कर जानिए, पिस्टोरियस के कुछ ऐसे कारनामो का लेखा-जोखा...
  • 1 साल की उम्र में कट गए दोनों पैर
    ऑस्कर का जन्म नवंबर 1986 को हुआ था। जन्म के समय ही उनके दोनों पैरों में घुटने को टखने से जोड़ने वाली हड्डी नहीं थी। इसी कारण जब वे महज 1 साल के थे तब डॉक्टरों की सलाह पर उनके माता-पिता ने उनके दोनों पैर कटवा दिए थे।
    उन्होंने अपनी जिंदगी का सफर प्रोस्थेटिक लेग्स के साथ ही शुरू किया।
  • फिर भी खेलते थे रग्बी
    दोनों पैर न होने के बावजूद ऑस्कर को बचपन से दौड़ने भागने का शौक था। वे अपने स्कूल में हर स्पोर्ट इवेंट में हिस्सा लेते थे। जनवरी 2004 में रग्बी का मैच खेलने के दौरान उन्हें चोट लग गई थी।
    उस चोट से उबरने के लिए पिस्टोरियस ने एथलेटिक्स ट्रेनिंग का सहारा लिया।
  • मिले चीते जैसे पैर
    जून 2004 में पिस्टोरियस को ऑसुर फ्लेक्स फुट चीता लेग्स मिले। इन स्टील ब्लेड्स को नकली पैरों की जगह पहन कर वे दौड़ लगाने लगे।
  • दो महीने में ही जीत लिया पहला गोल्ड
    रनर ब्लेड्स मिलने के महज दो महीने बाद ही ऑस्कर ने अपना दमखम दिखा दिया। अगस्त 2004 में उन्होंने T44 श्रेणी के 200 मीटर और 100 मीटर वर्ग में गोल्ड और ब्रॉन्ज मैडल जीते। एथंस में हुए उस पैरालिंपिक में उन्होंने मैडल जीत कर एथलेटिक्स वर्ल्ड में धमाकेदार एंट्री की।
  • पैर वालों को दी दौड़ में टक्कर
    जुलाई 2007 में पिस्टोरियस ने एक ऐसा कमाल किया जिसे देख कर दुनिया दंग रह गई। उन्होंने रोम में हुई एथलेटिक्स मीट में स्वस्थ पैर वाले एथलीट्स के साथ दौड़ में हिस्सा लिया।
  • देखने वालों को हुई जलन, लगा दिया बैन
    नवंबर 2007 में पिस्टोरियस को कुछ क्लीनिकल टेस्ट के बाद आईएएएफ के कॉम्पिटीशन से प्रतिबंधित कर दिया गया। संघ का तर्क था कि पिस्टोरियस के स्टील ब्लेड्स उन्हें अन्य धावकों से तेज भागने में मददगार रहते हैं, जो कि दूसरे प्रतिभागियों के साथ बेइंसाफी है।
  • पर नहीं टिक सका फरमान
    मई 2008 में स्पोर्ट्स के विवाचन न्यायालय ने IAAF के फैसले को खारिज करते हुए पिस्टोरियस को एथलेटिक्स कॉम्पिटीशन में हिस्सा लेने की इजाजत दे दी।
  • लंदन ओलिंपिक में किया कमाल
    अगस्त 2012 में हुए लंदन ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर पिस्टोरियस ने इतिहास रचा। वे दुनिया के पहले विकलांग एथलीट हैं जिसने स्वस्थ एथलीट्स के साथ ओलिंपिक में हिस्सा लिया।
    अपने चीता ब्लेड्स के साथ वे 400 मीटर रेस के सेमीफाइनल तक पहुंचे, जबकि 4x400m रिले रेस में वे फाइनल में पहुंच कर हार गए।
  • महज 0.7 सेकंड से खा गए मात
    पिस्टोरियस ने सितंबर 2008 में हुए ओलिंपिक क्वालिफायर्स में हिस्सा लिया था। वे बीजिंग में हुए ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई करने से महज 0.7 सेकंड दूर रह गए। लेकिन उन्होंने इसकी कसर पैरालिंपिक में पूरी कर दी।
    बीजिंग पैरालिंपिक में पिस्टोरियस ने तीन गोल्ड मैडल जीते।
  • एक साथ जमाया तीन वर्ल्ड टाइटल्स पर कब्जा
    जनवरी 2011 में पिस्टोरियस ने तीन आईपीसी वर्ल्ड खिताब जीते। इसी साल उन्होंने करियर की पहली पराजय भी झेलनी पड़ी। सात साल के करियर में यह पहला मौका था जब 100 मीटर की रेस में वे पहले तीन धावकों में स्थान नहीं बना सके।
  • रिले रेस में जीता सिल्वर
    अगस्त 2011 में पिस्टोरियस ने देगू में आयोजित IAAF वर्ल्ड चैंपियनशिप्स के लिए क्वालिफाई किया। उन्होंने 4x400m रिले रेस में सिल्वर मैडल तो जीता, लेकिन वे साउथ अफ्रीका की फाइनल टीम में जगह बनाने से चूक गए।
  • लंदन पैरालिंपिक ओपनिंग सेरेमनी में पिस्टोरियस ने साउथ अफ्रीकन झंडा पकड़ा। साथ ही उन्होंने 200 मीटर, 400 मीटर और 4x100m रिले रेस में उन्होंने एक सिल्वर और दो गोल्ड मैडल जीते।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: meet oscar pistorius richest paralympic athlete
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Others

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top