Home »Sports »Record Book »Test Matches» Special Test Records In South Africa Vs New Zealand Cape Town Test

STATS: 1 दिन का खेल... और ढेर हुआ 117 साल पुराना रिकॉर्ड

Dainikbhaskar.com | Jan 03, 2013, 13:48 IST

  • खेल डेस्क. साउथ अफ्रीका और न्यूजीलैंड के बीच 2 जनवरी को शुरू हुआ केप टाउन टेस्ट पहले ही दिन ऐतिहासिक बन गया। मेजबान टीम ने कीवी बल्लेबाजों को अपनी रफ्तार के आगे 45 रन के पिद्दी स्कोर पर ढेर कर दिया।
    न्यूजीलैंड के बल्लेबाज एक-एक कर आउट होते चले गए। महज 19.2 ओवरों के खेल में कीवी टीम का काम तमाम हो गया। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में यह पहला मौका था जब कोई टीम लंच से पहले मैच के पहले ही दिन 50 से कम के स्कोर पर ऑल आउट हुई।
    पिछले साल साउथ अफ्रीका के लिए सबसे तेज 50 विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाने वाले वर्नॉन फिलेंडर ने महज 7 रन देकर 5 विकेट चटकाए। मॉर्ने मॉर्केल ने 3 और डेल स्टेन ने 2 विकेट झटके।
    जवाब में साउथ अफ्रीका ने स्टंप्स तक 3 विकेट पर 252 रन बनाए। अलवीरो पीटरसन 103 रन और एबी डिविलियर्स 19 रन बना कर नाबाद रहे। हाशिम अमला ने 66 और जैक कैलिस ने 60 रन का योगदान दिया।
    आगे क्लिक कर जानिए, एक दिन में बने कौन-कौन से महान कीर्तिमान...
  • तीसरी सबसे बड़ी लीड
    साउथ अफ्रीका ने टेस्ट मैच के पहले ही दिन 200 प्लस रनों की लीड लेने का कारनामा दूसरी बार किया है। वर्ल्ड क्रिकेट में कुल दो ही टीमें यह धमाल कर पायी हैं।
    साउथ अफ्रीका ने सबसे पहले 2005 में जिम्बाब्वे के खिलाफ केप टाउन में हुए टेस्ट मैच में 286 रन की बढ़त ली थी।
    1896 में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को पहली पारी में 53 रन पर ढेर करने के बाद दिन का खेल खत्म होने तक 233 रन की लीड ली थी।
    साउथ अफ्रीका ने 2013 में केप टाउन में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट में पहले दिन 207 रन की बढ़त ली।
  • टूटा 117 साल पुराना रिकॉर्ड
    न्यूजीलैंड की टीम पहली पारी में कुल 45 रन बना कर ऑल आउट हुई। टेस्ट इतिहास में यह पहला मौका रहा जब कोई टीम लंच से पहले 50 से कम के स्कोर पर ढेर हुई। इससे पहले लंच से पहले ऑल आउट होने का घटिया रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के नाम था, जो कि 1896 में इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट मैच में कुल 53 रन पर ऑल आउट हुई थी।
    न्यूजीलैंड पहली पारी में 19.2 ओवरों में ऑल आउट होने वाली पहली टीम भी है। इससे पहले साउथ अफ्रीका 1932 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मेलबर्न में 23.2 ओवरों में 36 रन बना कर ढेर हुई थी।
  • कैलिस बने 13 हजारी
    कीवी टीम को 45 रन पर ढेर करने के बाद जैक कैलिस ने शानदार अर्धशतक जमाया। 5 चौकों और 2 छक्कों से सजी 60 रन की पारी के दौरान कैलिस ने टेस्ट में 13000 रन का आंकड़ा पार किया।
    यह उपलब्धि हासिल करने वाले वे दुनिया के चौथे बल्लेबाज हैं।
    सचिन तेंडुलकर 15645 रनों के साथ टॉप पर हैं। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने अपने करियर में 13378 रन बनाए, जबकि भारत के राहुल द्रविड़ 13288 रन बना कर सर्वाधिक टेस्ट रन बनाने वाले बल्लेबाजों में तीसरे स्थान पर हैं।
  • सबसे तेज 13 हजारी कैलिस
    कैलिस ने सबसे कम टेस्ट मैचों में 13000 रन पूरे करने का रिकॉर्ड बनाया। कैलिस ने 13 हजार का आंकड़ा 159वें मैच में पार कर लिया। द्रविड़ ने 160, पोंटिंग ने 162 और तेंडुलकर ने 163 मैचों में यह कारनामा किया था।
    हालांकि, सबसे कम टेस्ट पारियों के मामले में तेंडुलकर नंबर 1 हैं। सचिन ने जहां 266 पारियों में 13,000 रन बनाए, वहीं कैलिस उनसे महज तीन पारी बाद 269वीं इनिंग में यह आंकड़ा पार कर सके। पोंटिंग ने 275 और द्रविड़ ने 277 पारियों में 13,000 रन पूरे किए थे।
  • डेल स्टेन ने लगाई ट्रिपल सेंचुरी
    साउथ अफ्रीकी तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने न्यूजीलैंड के डग ब्रेसवैल को क्लीन बोल्ड कर टेस्ट करियर में 300 विकेट पूरे किए। सबसे कम गेंदों में 300 विकेट चटकाने के मामले में उन्होंने हमवतन गेंदबाज एलन डॉनल्ड को पीछे कर दिया।
    स्टेन ने 12605 गेंदों के बाद 300वां विकेट झटका। डॉनल्ड ने 13690 गेंदें डालने के बाद 300वां शिकार किया था। इस मामले में पाकिस्तान के वकार यूनिस 12602 गेंदों के साथ सबसे तेज हैं।
    सबसे कम पारियों के मामले में स्टेन साउथ अफ्रीका के दूसरे और वर्ल्ड के पांचवें सबसे तेज गेंदबाज रहे। उन्होंने करियर की 113वीं टेस्ट पारी में 300 विकेट पूरे किए। श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन महज 91 पारियों में 300 विकेट लेकर विकेटों की सबसे तेज ट्रिपल सेंचुरी लगाने वाले बॉलर हैं।
    ऑस्ट्रेलिया के डेनिस लिली ने 107, न्यूजीलैंड के रिचर्ड हेडली ने 110, साउथ अफ्रीका के एलन डॉनल्ड ने 112, स्टेन ने 113 पारियों में 300 विकेट का आंकड़ा पार किया।
    टेस्टे में 300 विकेट लेने वाले स्टेन दुनिया के 25वें और साउथ अफ्रीका के चौथे गेंदबाज हैं।
  • फिलेंडर का कारनामा
    वर्नॉन फिलेंडर ने महज 7 रन देकर 5 विकेट झटके। टेस्ट मैच की एक पारी में सबसे तेज 5 विकेट लेने वाले वे नंबर 1 गेंदबाज बन गए हैं। उनसे पहले यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के अरनी टोशैक के नाम था। टोशैक ने भारत के खिलाफ 1947 में हुए टेस्ट मैच में कुल 19 रन देकर 5 विकेट चटकाए थे।
    ऑस्ट्रेलिया के शेन वाटसन ने 2011 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट में कुल 21 रन देकर 5 विकेट लिए थे।
    ऑस्ट्रेलिया के ही ह्यूग ट्रम्बल ने 1904 में 23 रन देकर इंग्लैंड के पांच विकेट चटकाए थे।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: special test records in south africa vs new zealand cape town test
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Test Matches

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top