Home »Uttar Pradesh »News» 5 Faces Behind The Babri Demolition

बाबरी विध्वंस के सूत्रधार 6 चेहरे, देखिए तस्वीरों में...

dainikbhaskar.com/BBC.com | Dec 06, 2012, 13:42 IST

  • नोएडा. 6 दिसंबर 1992 को आज के ही दिन अयोध्या में विवादित बाबरी मस्जिद का विध्वंस किया गया था। आजादी के बाद इसे देश का सबसे अहम और संवेदनशील मुद्दा माना जाता है। विश्व हिंदू परिषद, आरएसएस और भाजपा को इसके लिए जिम्मेदार माना जाता है। इन संगठनों से संबंधित कई नामचीन चेहरों ने विध्वंस की इस प्रक्रिया में महत्वूर्ण भूमिका निभाई थी।
    तस्वीरों के जरिए जानिए बाबरी विध्वंस के 5 सूत्रधार...
  • लाल कृष्ण आडवाणी ::: भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी को अयोध्या में विवादित बाबरी मस्जिद गिराने के 'षड्यंत्र' के मुख्य सूत्रधार माना जाता है। बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि ढांचे का विवाद काफी समय से चला आ रहा है। हिंदुओं का मानना है कि राम जन्मभूमि पर मीर बाकी ने मस्जिद का निर्माण किया था। यहां राम मंदिर निर्माण के लिए विश्व हिंदू परिषद और भाजपा ने अभियान चलाया। आडवाणी ने सोमनाथ से अयोध्या तक रथयात्रा की। उन्होंने तब कहा था कि बाबरी मस्जिद कभी भी मस्जिद नही रही। हिंदू संगठन अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए दृढ संकल्प हैं। आडवाणी पर रायबरेली की अदालत में विशेष समुदाय के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने के आरोप में केस चल रहा है।

  • अशोक सिंघल ::: विश्व हिंदू परिषद के नेता अशोक सिंघल अयोध्या के विवादित स्थल पर राम जन्म भूमि मंदिर निर्माण आंदोलन के प्रमुख नायक रहे हैं। चार्जशीट के अनुसार अशोक सिंघल 20 नवंबर 1992 को बाल ठाकरे से मिले और उन्हें कारसेवा में भाग लेने का निमंत्रण दिया। चार दिसंबर 1992 को बाल ठाकरे ने शिव सैनिकों को अयोध्या जाने का आदेश दिया। शिव सेना नेता जय भान सिंह पवैया ने अशोक सिंघल से चंबल घाटी में प्रशिक्षित मौत दस्ता तैनात करने के लिए कहा। सिंघल पर आरोप है कि वो छह दिसंबर को राम कथा कुंज पर बने मंच से अन्य अभियुक्तों के साथ-साथ कारसेवकों से नारा लगवा रहे थे कि "राम लला हम आए हैं, मंदिर वहीं बनाएंगे. एक धक्का और दो बाबरी मस्जिद तोड़ दो." रायबरेली में चल रहे केस नम्बर 198 के सभी अभियुक्तों, विशेषकर उमा भारती और साध्वी ऋतंभरा पर ऐसे आरोप हैं। हालांकि सभी अभियुक्तों ने आरोपों से इनकार किया है।

  • उमा भारती::: उमा भारती भी बाबरी विध्वंस की प्रमुख सूत्रधार मानी जाती हैं। जिस समय ढांचा गिराया जा रहा था उस समय वह परिसर में ही मौजूद थी। उनकी खुशी इतनी थी कि वह मुरली मनोहर जोशी के कंधों पर बैठ गईं। इस विवादित मस्जिद को ढहाने के मामले में उमा भारती आरोपी हैं। उन्होंने कहा था कि छह दिसंबर 1992 को जो कुछ भी हुआ उसको लेकर उन्हें कोई अफसोस नहीं था, लेकिन उन्होंने जोड़ा, "हममें से किसी की योजना ढांचा ढहाने की नहीं थी।"

  • कल्याण सिंह ::: यूपी के तत्कालीन मुख्यमंत्री कल्याण सिंह भी इस संबंध में आरोपी हैं। सीबीआई की मूल चार्जशीट के मुताबिक़ 1991 में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद कल्याण सिंह ने डॉ. मुरली मनोहर जोशी और अन्य नेताओं के साथ अयोध्या जाकर शपथ ली थी कि विवादित स्थान पर ही मंदिर का निर्माण होगा। केंद्र सरकार ने 195 कंपनी केन्द्रीय पैरा मिलिटरी फ़ोर्स कानून व्यवस्था में मदद के लिए भेजी, लेकिन भाजपा सरकार ने उसका उपयोग नही किया। पांच दिसंबर को प्रमुख सचिव गृह ने केन्द्रीय बल का प्रयोग करने का सुझाव दिया, लेकिन वह इससे सहमत नहीं हुए। वह घटना के समय अयोध्या में उपस्थित नही थे, फिर भी उन्हें षड्यंत्र में शामिल बताया गया, लेकिन उन्होंने सभी आरोपों से इनकार किया है।

  • विनय कटियार::: भाजपा नेता कटियार की पहचान विश्व हिंदू परिषद के सहयोगी संगठन बजरंग दल के नेता के रूप में रही है। वह फायर ब्रांड नेता के रूप में जाने जाते हैं। चार्जशीट के अनुसार 14 नवंबर 1992 को विनय कटियार ने अयोध्या में कहा कि बजरंग दल का आत्मघाती दस्ता कार सेवा करने को तैयार है, और छह दिसंबर को मौत दस्ता शिवाजी की रणनीति अपनाएगा। विवादित मस्जिद गिरने से एक दिन पूर्व पांच दिसंबर को अयोध्या में विनय कटियार के घर पर एक गोपनीय बैठक हुई, जिसमे आडवाणी के अलावा शिव सेना नेता पवन पांडे मौजूद थे. इसी बैठक में विवादित ढांचे को गिराने का अंतिम निर्णय लिया गया।

  • मुरली मनोहर जोशी::: भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख नेता मुरली मनोहर जोशी छह दिसंबर को विवादित परिसर में मौजूद थे। चार्जशीट के अनुसार मस्जिद का गुम्बद गिरने पर उमा भारती आडवाणी और डॉ. जोशी के गले मिल रही थीं। इन सभी पर आरोप है कि 28 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट से प्रतीकात्मक कारसेवा का निर्णय हो जाने के बाद भी इन लोगों ने पूरे प्रदेश में सांप्रदायिकता से ओतप्रोत भाषण दिए। इन उत्तेजनात्मक भाषणों से धर्मनिरपेक्ष भारत में सांप्रदायिक जहर घोला गया। हालांकि सभी इन आरोपों से इंकार करते रहे हैं।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: 5 faces behind the Babri demolition
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top