Home »Uttar Pradesh »Allahabad» Allahabad Has Village Of Twins As Mohammadpur Umari

यहां हर दूसरे घर में है जुड़वां, पत्नियां होती हैं कन्फ्यूज, सामने पति है या देवर

Dainikbhaskar.com | Apr 20, 2017, 09:53 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

जुड़वां बहनें निकहत और फरहत।

इलाहाबाद. शहर से महज 14 किमी दूर बसा मोहम्मदपुर उमरी गांव जुड़वां लोगों की आबादी के लिए मशहूर है। पिछले 70 सालों में यहां हर दूसरे घर में जुड़वां बच्चे पैदा हुए हैं। प्रेजेंट में यहां 150 से ज्यादा ट्विन्स हैं। dainikbhaskar.com इसी विचित्र गांव के बारे में अपने रीडर्स को बता रहा है। पत्नियां हो जाती हैं कन्फ्यूज, पति है या देवर...
- गांव के बुजुर्ग तौफीक चाचा ने बताया, "हमारे गांव में जुड़वों का इतिहास बहुत पुराना है। तकरीबन 1947 से यहां जुड़वां बच्चे हो रहे हैं। सबसे बुजुर्ग जुड़वां बहने थीं हसीना -मदीना, जो अब इस दुनिया में नहीं हैं।"
- हैरानी का बात है कि यहां सिर्फ इंसान ही नहीं, बल्कि मवेशी भी ट्विन्स पैदा हो रहे हैं।
- स्थानीय निवासी गुड्डू ने बताया कि बाहर से दूध लेने आने वाले लोगों का कहना है कि उमरी गांव की गाय-भैंसों का दूध पीने से उनके घर भी ट्विन्स होने लगे हैं।
- गुड्डू ने पर्सनल एक्सपीरिएंस शेयर करते हुए बताया, "कई बार हमारी पत्नी भी कन्फ्यूज हो जाती हैं। अक्सर वो खाने के समय कहती हैं कि अरे तुम तो खाना खा चुके हो। हम हंसते हैं तो समझ आता है कि छोटे भाई को खाना खिलाया था।"
साइंस भी हारी
- इस गांव में इतने जुड़वां होने की मिस्ट्री को सॉल्व करने की कोशिश अमेरिका, , और समेत कई देश कर चुके हैं।
- स्थानीय निवासी सरफराज बताते हैं, "यहां कई देशों के साइंटिस्ट आए और लोगों के ब्लड सैंपल से लेकर मिट्टी-पानी तक के सैंपल लेकर गए, लेकिन आज तक वे जुड़वां होने का कारण पता नहीं कर सके।"
जुड़वां होने के फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी हैं
- स्कूल स्टूडेंट मोहम्मद अदनान और मोहम्मद एहतशाम जुड़वां भाई हैं। अदनान बताते हैं कि जुड़वां होने का कभी फायदा मिलता है तो कभी नुकसान उठाना पड़ता है। एक बार बगल के मोहल्ले के कुछ लड़कों ने मुझे पकड़ लिया था। मेरा उनसे पुराना झगड़ा था। वो मारने लगे तो मैंने कहा कि मैं अदनान नहीं एहतशाम हूं तो उन्होंने कन्फ्यूज होकर मुझे छोड़ दिया।
- ट्विन ब्रदर से नुकसान पर अदनान कहते हैं, "एक बार मैं पड़ोस की दुकान से अपने लिए सामान खरीद के लाया। कुछ देर के बाद मेरा भाई गया उसी दुकान पर से सामान लेकर आया। हमारी मम्मी ने फिर से मुझे नमकीन का पैकेट लाने को कहा। मैं गया तो दुकानदार मुझ पर भड़क गया। बोला एक बार में सामान क्यों नहीं ले जाते, 5 बार आ चुके हो। मैंने बताया कि मेरा भाई आया होगा तो वे चुप हो गए।"
आगे की स्लाइड्स में देखें हमशक्लों की फौज से भरे इस गांव की 6 PHOTOS...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Allahabad has Village of twins as Mohammadpur Umari
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Allahabad

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top