Home »Uttar Pradesh »Allahabad» No Marriage Proposals For Youth Of This Village In Allahabad

इस गांव के लड़कों को नहीं मिल रही दुल्हनें, बेटी देने से कतराते हैं लोग

Dainikbhaskar.com | Apr 20, 2017, 15:14 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
इलाहाबाद.आजादी के 70 साल बाद भी इलाहाबाद का एक गांव बिजली और पानी के लिए तरस रहा है। यही नहीं, यहां दूर संचार व्यवस्था भी महज एक सपना है। dainikbhaskar.com पिछड़पन में जी रहे कोहड़िया गांव के बारे में अपने रीडर्स को बता रहा है। कुंवारा रहने को मजबूर हैं यहां के युवक, नहीं देना चाहता कोई अपनी बेटी...
- इलाहाबाद से 50 किमी दूर बसा कोहड़िया गांव मूलभूत सुविधाओं के अभाव से जूझ रहा है। रोज की जरूरतों के लिए पानी नहीं रहता। न घरों में बिजली है ना बाहरी दुनिया से संपर्क रखने का कोई माध्यम। ऐसी स्थिति में इस गांव के लड़कों के साथ लोग अपनी बेटी की शादी करने से कतराने लगे हैं।
- गांव निवासी हरिशचंद्र निषाद के बेटे दिनेश 35 साल के हो गए हैं। अब तक 4 बार शादी तय होने के बाद टूट चुकी है। अब वो काम की तलाश में सूरत चला गया है। पिता का कहना है कि डेढ़ साल पहले घूरपुर के कंजासा गांव की लड़की से रिश्ता तय हुआ था। सब कुछ ठीक था, लेकिन पानी की समस्या सुन लड़की वालो ने रिश्ता तोड़ दिया।
- गांव निवासी राजेन्द्र प्रसाद ने बताया, "हमारा बेटा शादी की उम्र का हो गया है, लेकिन उसके लिए लड़की नहीं मिल रही। जहां भी रिश्ता भेजते हैं वहां से यही जवाब मिलता है- बेटी को मरने के लिए नहीं छोड़ सकते। मूलभूत जरूरतों के अभाव की वजह से हमारे युवक कुंवारे रहने को मजबूर हैं।"
1 हजार की आबादी में कुल 1 हैंडपंप
- 1 हजार की आबादी वाला यह गांव सिर्फ एक हैंडपंप के भरोसे रहता है। गांव में लगे 4 में से कुल 1 हैंडपंप चालू हालत में है। बचे हुए हैंडपंप पिछले 3 साल से खराब पड़े हैं।
- एकमात्र हैंडपंप पर पानी भरने के लिए यहां लंबी लाइन लगती है। बावजूद इसके सिर्फ पीने का पानी ही मिल पाता है। रोजमर्रा की अन्य जरूरतों के लिए 1 से डेढ़ किमी दूर चलकर जाना पड़ता है।
- गांव निवासी ग्राम प्रधान से लेकर बीडीओ और SDM से लेकर डीएम तक पानी की व्यवस्था कराए जाने की गुहार लगा चुके हैं लेकिन सुनवाई नहीं हुई।
- हैरानी की बात है कि इस गांव से महज एक किमी की दूरी पर बसे वासी गांव को डीएम इलाहाबाद संजय कुमार ने गोद लिया है। उस गांव में तो पानी-बिजली है, लेकिन थोड़ी दूरी पर बसे इस गांव के दर्द से डीएम अनजान हैं।
नहीं है बिजली-फोन
- पानी के साथ-साथ इस गांव में आज तक बिजली के खंभे तक नहीं लगे हैं। बिजली-पानी के अलावा सड़क और दूरसंचार व्यवस्था भी यहां जीरो है।
- ग्राम प्रधान राम भवन सिंह का कहना है की कोहड़िया मजरा पहाड़ पर बसा है वहां मूलभूत सुविधाओं का अभाव है वह खुद भी इस बारे में कई बार शासन-प्रशासन से गुहार लगा चुके हैं लेकिन सुनवाई नहीं हुई।
- वहीं अधिकतर गांव वालों का कहना है कि ग्राम प्रधान उनकी बात नहीं सुनते। शांति देवी ने बताया कि कई परिवार यहां से पलायन कर चुके हैं। गांव का पढ़ा-लिखा यूथ बाहर जाने के बाद दोबारा यहां नहीं लौटना चाहता।
आगे की 7 स्लाइड्स में देखें बदहाल गांव कोहड़िया की 10 तस्वीरें...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: No marriage proposals for youth of this village in Allahabad
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Allahabad

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top