Home »Uttar Pradesh »Gorakhpur» Officers Denied To Answer On Facilities Done At Martyr Prem Sagar House For Yogi

योगी के ल‍िए AC, सोफा क‍िसने लगवाया, अफसरों से मंत्र‍ियों तक के पास नहीं है जवाब

dainikbhaskar.com | May 18, 2017, 19:27 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

देवरिया में सीएम के दौरे के 24 घंटे पहले एडमिनिस्ट्रेशन ने शहीद का घर हाईटेक बना दिया। जिस कमरे में सीएम परिजन से मिलने वाले थे। उसमें एसी लगाया गया। सोफे और कालीन बिछाए गए। (फाइल)

देवरिया. यूपी के देवरिया में सीएम योगी आदित्यनाथ शहीद के परिजनों से मिलने उनके घर पहुंचे तो शहीद के घर एसी और सोफे की व्यवस्था कर दी गई। जिसपर विपक्ष ने सीएम पर जमकर निशाना साधा। अब शहीद के घर इस प्रकार की विशेष सुविधा देने का निर्देश कहां से आया था, इस बात पर लोकल अधिकारी अपना जवाब नहीं दे रहा है। सारे अधिकारी अपना पल्ला झाड़ते नजर आ रहे है।ये है पूरा मामला...
- शहीद प्रेम सागर पिछले दिनों पुंछ में पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बीएटी) के हमले में शहीद हो गए थे। 11 दिन बाद सीएम योगी आदित्यनाथ प्रेमसागर के परिजन से मिलने देवरिया के टिकमपार गांव पहुंचे।
- योगी के दौरे के 24 घंटे पहले एडमिनिस्ट्रेशन ने शहीद का घर हाईटेक बना दिया। जिस कमरे में सीएम परिजन से मिलने वाले थे। उसमें एसी लगाया गया। सोफे और कालीन बिछाए गए। इस पूरे मामले को लेकर मीडिया में उनकी खूब किरकरी हुई।
सरकार मान रही है लोकल प्रशासन की चूक
- इस पूरे मामले पर प्रदेश सरकार के मंत्री जहां लोकल प्रशासन की चूक की बात कह रहें है। वहीं लोकल प्रशासन के मुखिया जिलाधिकारी सुजीत कुमार कहना है कि प्रोटोकाल के तहत सीएम के आने से पहले सभी व्यवस्थाओं की जिमेदारी लोक निर्माण विभाग को सौंप दी जाती है। एसी और सोफा लगाने के लिए किसने निर्देश दिया है जांच किया जा रहा है।
बेहतर व्यवस्था करने में बिगड़ा खेल
- सूत्रों की माने तो शहीद के घर सीएम के आने की खबर जिले के बड़े अधिकारयों को मिली। व्यवस्थाओ का इंतजाम PWD के ऊपर थी। व्यवस्थाओं को बेहतर से बेहतर बनाने के चक्कर में एसी, सोफा और कालीन की व्यवस्था की गई। अब PWD का वरिष्ठ अधिकारी इस सारे प्रकरण का शिकार न हो जाए इस बात का डर बना हुआ है।
- उसके बाद dainikbhaskar.com की टीम ने प्रान्तीय खण्ड के एक्सशियन राम करण चौधरी से बात की तो उनका कहना था कि ये सारी व्यवस्था प्रशासन ने किया था और गोरखपुर के एक ठेकेदार के माध्यम से कराया गया था। उसने अपना सामान लाकर लगाया और सीएम के जाते ही अपना सामान लेकर चला गया।
- PWD के एक्ससियन रामकरण चौधरी ने कहा कि DM ने PWD विभाग को निर्देश दिया था। काम करने को आधा पैसा एडवांस मिल जाता है बाकि पैसा इलाहाबाद सुरक्षा बेस से मिलता है।
- जब dainikbhaskar.comकी टीम ने गोरखपुर के ठेकेदार पप्पू से बात की तो उसने बताया, 'जो भी व्यवस्था की गई थी वो डीएम सुजीत कुमार के आदेश पर किया गया था। ऐसे काम को करने के लिए जिलाधिकारी निर्देश देता है कि यह काम आपको कराना है।

आगे की स्लाइड्स में देखें खबर से रिलेटेड एक और PHOTOS...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: officers denied to answer on facilities done at martyr prem sagar house for yogi
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Gorakhpur

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top