Home »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Cm Yogi Adityanath Will Promote Eco Tourism In Uttar Pradesh

योगी ने यश भारती अवॉर्ड के द‍िए जांच के न‍िर्देश, कहा- अपात्रों को पुरस्कार देने इसकी गर‍िमा ग‍िरती है

dainikbhaskar.com | Apr 21, 2017, 07:56 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
योगी ने यश भारती अवॉर्ड के द‍िए जांच के न‍िर्देश, कहा- अपात्रों को पुरस्कार देने इसकी गर‍िमा ग‍िरती है
लखनऊ. सीएम योगी आदित्यनाथ बुंदेलखंड के दौरे के बाद गुरुवार देर रात 8 विभागों का प्रजेंटेशन देखा। संस्कृति विभाग के प्रजेंटेशन के दौरान उन्होंने यश भारती पुरस्कार की गहनता से जांच करने के न‍िर्देश द‍िए। उन्होंने कहा कि यह पुरस्कार किन आधारों और मापदंडों पर दिए गए इसकी समीक्षा की जाए। इसके बाद इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि पुरस्कारों के वितरण के दौरान उसकी गरिमा का भी ध्यान रखा जाना चाह‍िए। अपात्रों को अनावश्यक पुरस्कृत करने से पुरस्कार की गरिमा गिरती है। आगे पढ़‍िए सीएम ने और क्या कहा...
-भातखंडे संगीत संस्थान पर चर्चा करते हुए योगी ने कहा कि इसकी शाखाएं प्रदेश के अन्य ज‍िलों में भी स्थापित करने की सम्भावनाओं को तलाशा जाए, क्योंकि संगीत में बालिकाओं की रुचि होती है। ऐसे में उन्हें एक अच्छे संगीत संस्थान से शिक्षा प्राप्त करने का अवसर मिलेगा।
-उन्होंने ब्रज क्षेत्र में कला केन्द्र स्थापित करने के प्रस्ताव पर भी विचार करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि लोक परम्परा, लोक संस्कृति, लोकगीत तथा ऐतिहासिक परम्पराओं पर केन्द्रित लाइट एंड साउंड कार्यक्रमों के आयोजन पर भी काम किया जाए। उन्होंने अस्सी घाट पर सुबह-ए-बनारस कार्यक्रम को ‘सुप्रभातम’ नाम से आयोजित करने का भी आश्वासन दिया।
-योगी ने कहा कि हमारी संस्कृति को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए हम सभी को प्रयास करने होंगे। सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक धरोहरों का संरक्षण करना होगा, ताकि हमारी आने वाली पीढ़ियां अपने गौरवशाली अतीत को देख सकें।
-योगी आद‍ित्यनाथ ने कुशीनगर ज‍िले में चलाई जा रही मैत्रेय परियोजना का जिक्र आने पर कहा कि इस परियोजना पर पुनर्विचार की आवश्यकता है, क्योंकि अनावश्यक भूमि अधिग्रहण के कारण इससे प्रभावित किसान इसका पुरजोर विरोध कर रहे हैं।
-इस परियोजना की संकल्पना और इसको लागू करने का तरीका ठीक न होने के कारण यह अभी तक मूर्तरूप नहीं ले पायी है। किसी भी परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण से पहले किसानों की राय अवश्य ली जानी चाहिए। जहां तक संभव हो, ज‍िलों में मौजूद ऊसर, बंजर जैसी अनुपजाऊ भूमि का उपयोग परियोजनाओं को स्थापित करने के लिए किया जाना चाहिए।
#लोकसेवा प्रबंधन व‍िभा
-इससे पहले सीएम ने लोक सेवा प्रबन्धन विभाग का प्रजेंटेशन देखा। उन्होंने विभाग के अधिकारियों को निर्देश द‍िया कि वे जिन विभागों की सेवाओं के संबंध में जनता को सूचना दे रहे हैं, उनके द्वारा विभिन्न प्रकार के प्रमाण-पत्रों जैसे जाति प्रमाण-पत्र, आय प्रमाण-पत्र, निवास प्रमाण-पत्र, किसान बही, भूमि का अविवादित नामांतरण प्रमाण-पत्र को जारी करने में लगने वाले समय को कम करने के लिए कहें।
-उन्होंने कहा कि जाति प्रमाण-पत्र को जारी करने में 20 दिन का समय लगाना अधिक है। उन्होंने कहा कि इसे कम समय के अन्दर आवेदक को उपलब्ध कराया जाए।

#नागरिक उड्डयन विभाग
-सीएम योगी ने राज्य में हवाई कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने और इसके माध्यम से विभिन्न स्थानों को आपस में जोड़े जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा क‍ि मुख्य पर्यटक स्थलों को हेल‍िकाॅप्टर सेवा से जोड़ा जाए।
-बौद्ध परिपथ के अन्तर्गत आने वाले ज‍िलो और तीर्थ स्थलों को आपस में हवाई सेवा से जोड़ा जाए। प्रमुख पर्यटन स्थलों लखनऊ, मथुरा, वृन्दावन, अयोध्या, प्रयाग, विंध्याचल, नैमिषारण्य, चित्रकूट, कुशीनगर और वाराणसी आदि को हेलीकाॅप्टर के जरिये जोड़े जाने की कार्यवाही जल्द से जल्द की जाए।
-रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम के तहत अधिक से अधिक हवाई पट्टियों को आपस में जोड़ा जाए और एविएशन संबंधी बुनियादी ढांचे के विकास और एविएशन के संबंध में शिक्षा प्रदान करने की योजनाएं बनाई जाएं।

#वन एवं वन्य जीव विभाग
-योगी ने राज्य में वन, वृक्ष ओर वन्य जीवों के संरक्षण, संवर्धन एवं विकास के निर्देश दिए। उन्होंने कहा क‍ि ग्रीन कवर में वृद्धि एवं ईको-टूरिजम को बढ़ावा दिया जाए।
-सामाजिक वनीकरण की परियोजनाओं को विकसित कर वनों के क्षेत्रफल में वृद्धि के प्रयास किए जाएं।
-इसके अलावा उन्होंने अवैध कब्जा की गई वन भूमि को खाली कराने और वन भूमि में अवैध खनन पर सख्ती से नियंत्रण करने के निर्देश द‍िए।
-उन्होंने कहा क‍ि वनों के प्रबंधन और सुरक्षा का आधुनिकीकरण किया जाए। कृषि वानिकी को बढ़ावा दिया जाए और वृक्षारोपण कार्यक्रम जमीन पर दिखना चाहिए।
-वृक्षों की अवैध कटान और पौधरोपण के नाम पर धन के दुरुपयोग को कड़ाई से रोकने के निर्देश देने के साथ ही कहा क‍ि वृक्षारोपण और सामाजिक वानिकी के कार्यक्रमों से लोगों को जोड़ा जाए।
#पर्यटन विभाग
-उन्होंने कहा क‍ि प्रदेश के पर्यटन सेक्टर में पूंजी निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए विशेष प्रयास किए जाए। पर्यटकों को बेहतर सुविधा एवं सहयोग प्रदान करने के लिए 200 महिला पर्यटन पुलिस सहित कुल 500 पर्यटन पुलिस की व्यवस्था के लिए व्यापक प्रस्ताव तत्काल प्रस्तुत किया जाए।
-प्रदेश के मुख्य पर्यटन स्थलों-लखनऊ, मथुरा, वृंदावन, अयोध्या, प्रयाग, विन्ध्याचल, नैमिषारण्य, चित्रकूट, कुशीनगर और वाराणसी आदि के साथ प्रदेश के अन्य महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों को हेल‍िकाॅप्टर, वायुसेवा शुरू कराने के लिए आवश्यक कार्यवाहियां प्राथमिकता से सुनिश्चित कि‍या जाए।
-चिकित्सा एवं योग के माध्यम से पर्यटन को बढ़ावा देने के ल‍िए गोरखपुर और वाराणसी में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कराने के लिए व्यापक कार्य योजना जल्द से जल्द पूरा किया जाए।
-उन्होंने कहा क‍ि भारत सरकार की रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम के अन्तर्गत आगरा-लखनऊ-वाराणसी और लखनऊ-इलाहाबाद-गोरखपुर को सम्मिलित कर सस्ती वायुसेवा शुरू होगी।
-आर्थिक राजधानी मुम्बई में जुलाई महीने के प्रथम सप्ताह में रोड शो और फूड फेस्टिवल का आयोजन कराए जाने के ल‍िए व्यापक कार्य योजना जल्द शुरू होगी।
-पर्यटकों की सुविधा के लिए 08 भाषाओं-जर्मन, फ्रेंच, जापानी, कोरियन, स्पेनिश, मेन्डरिन, अंग्रेजी एवं हिन्दी में वन-स्टाॅप ट्रैवेल सोल्यूशन पोर्टल तैयार कराया जाए।
-पर्यटन के क्षेत्र में हर साल 4 हजार करोड़ के पूंजी निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए विस्तृत कार्य योजना तैयार किया जाए और सभी तीर्थ स्थलों के 4 लेन मार्ग के साथ जोड़ने की व्यापक कार्य योजना बुन्देलखंड में आने वाले पर्यटकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे को बुन्देलखण्ड से जोड़ने के भी निर्देश दिए गए।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
DBPL T20
Web Title: cm yogi adityanath will promote Eco tourism in uttar pradesh
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top