Home »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Famous Political Strategists In UP Election 2017

हार्वर्ड से लेकर आईआईटी खड़गपुर तक, यहां से तैयार हो रही UP इलेक्‍शन के लिए रणनीति

Dinesh Mishra | Jan 16, 2017, 13:28 IST

  • लखनऊ. 2014 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी की जीत में पॉलिटिकल कैंपेनिंग का बहुत बड़ा योगदान था। इस बात को देखते हुए अन्‍य पार्टियों ने भी इलेक्‍शन कैंपेनिंग के लिए बकायदा पॉलिटिकल स्‍ट्रैटजिस्‍ट्स को हायर करना शुरू कर दिया है। इस बार के यूपी इलेक्‍शन में इसका असर साफ तौर से देखा जा सकता है। यहां सभी प्रमुख पार्टियों ने चुनावी रणनीति तैयार करने के लिए बकायदा पॉलिटिकल स्‍ट्रैटजिस्‍ट हायर किए हैं। जानें किस पार्टी के कौन हैं पॉलिटिकल मैनेजर...
    सपा
    #स्‍टीव जॉर्डिंग

    - अखिलेश की जीत के लिए पॉलिटिकल स्ट्रैटजिस्ट और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर स्टीव जार्डिंग 1 लाख से ज्‍यादा लोगों के साथ काम कर रहे हैं।
    - जार्डिंग की टीम यहां अखिलेश के प्रचार प्रसार में लगी हुई है। वे इससे पहले हिलेरी क्लिंटन का चुनाव भी मैनेज कर चुके हैं।
    - इसके अलावा यूएस के पूर्व वाइस प्रेसिडेंट अल गोर और स्पेनिश पीएम मारियानो रेजोय भी उनके क्लाइंट रहे हैं।
    - लखनऊ में स्टीव जार्डिंग के पूर्व स्टूडेंट अद्वेत विक्रम सिंह 100 ट्रेंड लोगों की टीम को लीड कर रहे हैं। ये लोग सीएम के प्रचार प्रसार से लेकर हर कार्यक्रम की कैम्‍पेनिंग में हिस्‍सा ले रहे हैं।
    - स्टीव वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए एडवेट विक्रम सिंह को गाइड करते हैं और उसके बाद अद्वेत विक्रम सिंह यहां काम कर रही 100 प्रोफेशनल्‍स की टीम को लीड कर रहे हैं।
    आगे की स्लाइड्स में पढ़ें अन्‍य पार्टियों के पॉलिटिकल स्‍ट्रैटजिस्‍ट के बारे में...
  • बसपा
    #परेश मिश्रा (आईटी सेल हेड/मीडिया प्रभारी)

    - प‍रेश लखनऊ से लॉ की पढ़ाई करके सबसे कम उम्र में यूपी बार काउंसिल का अध्यक्ष बनने के बाद से ही बसपा में महत्वपूर्ण भूमिका में उभर कर सामने आए। परेश मिश्रा बसपा के ही सतीशचंद्र मिश्रा के दामाद भी हैं।
    - विश्वसनीयता और टैलेंट की वजह से अहम जिम्मेदारी देते हुए परेश मिश्रा को यूपी मीडिया इंचार्ज के साथ-साथ आईटी सेल का हेड भी बनाया गया है। जिसमें परेश की सबसे बड़ी कामयाबी मायावती की सोशल मीडिया टीम को बिल्‍ड करनी रही। कैलाश खेर से बसपा का एंथम सांग और सोशल मीडिया एक्टिीविटी इसी की देने हैं।
  • कांग्रेस
    #प्रशांत किशोर

    - प्रशान्त किशोर अपनी पॉलिटिकल स्ट्रैटजी और मैनेजमेंट के लिए जाने जाते हैं, जो अपनी प्लानिंग से लेकर एग्जीक्यूटिव पॉलिसी तक प्लान करते हैं।
    - पीके राष्ट्रीय नेताओं से लेकर प्रदेश के सभी बड़े नेताओं से जरूरत पड़ने पर खुद ही बात करते हैं। क्षेत्र और कार्यक्रम के हिसाब से नेताओं और पदाधिकारियों को बुलाते हैं।
    - वे इनसे अपनी रणनीति को लेकर बात करते हैं। कांग्रेस के सभी इवेंट में टीम पीके की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जो कि कार्यक्रम स्थल पर दो दिन पहले से पहुंचकर और कार्यक्रम खत्म होने के दो तीन दिन बाद तक वहां रहकर लोकल लेवल पर उस कार्यक्रम पर ओपिनियन लेती है।
    - टीम पीके के पहुंचने से पहले ही कांग्रेस फ्रंटल संगठन उस क्षेत्र में जाकर प्रचार करते हैं।
    - इसके पहले पीके ने बीजेपी में जिस पैटर्न पर काम किया था वो पूरी तरह से अलग था। इसमें वो एक इवेंट की तरह ही हर रैली या र्कायक्रम को लेते थे।
    - जबकि बिहार में उन्‍होंने नितीश कुमार के लिए चुनाव प्‍लान किया था।
  • बीजेपी
    #रजत शेट्टी

    - कानपुर के रहने वाले रजत सेठी ने आईआईटी खड़गपुर से पढ़ाई की है। उन्होंने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से पब्लिक पॉलिसी में ग्रेजुएशन किया है। उनके परिवार की संघ से करीबी रही है।
    - 2012 में पढ़ाई के लिए अमेरिका गए। 2014 में रजत हार्वर्ड इंडिया एसोसिएशन के लिए इवेंट्स कराते थे। वहीं से वे आरएसएस के प्रचारक राम माधव के संपर्क में आए।
    - राम माधव के कहने पर ही रजत को यूपी में लाया गया था। रजत शेट्टी ने आते ही असम की तर्ज पर यूपी में काम शुरू कर दिया, जिसमें सबसे पहले दूसरी पार्टी के बड़े नेताओं को भाजपा में लाने का काम किया।
    - जिसमें कांग्रेस की रीता बहुगुणा जोशी, बसपा के बृजेश पाठक, स्वामी प्रसाद मौर्य, जैसे दिग्गज नेता बीजेपी मे आए।
    - रजत शेट्टी पब्लिक सर्वे करने के बाद अपनी पॉलिसी डिसाइड करते हैं, जिनमें क्षेत्रीय स्तर पर काम करते हैं।
  • बीजेपी
    #संजय राय (यूपी आईटी सेल प्रभारी)
    - संजय भाजयुमों से जुड़े पुराने कार्यकर्ता के तौर पर जाने जाते हैं। ये पूर्वाचल के गोरखपुर से जुड़े हैं। वहीं से छात्र संघ चुनावों से भाजपा में जुड़ गए थे।
    - संजय राय को संगठन में काम करने और कराने के लिए जाना जाता है। संजय राय व्यवसायिक गतिविधियों से जुड़े रहे हैं, जिनमें ठेकेदारी भी शामिल हैं।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: famous political strategists in UP election 2017
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top