Home »Uttar Pradesh »Lucknow »News » Latest News Badaun Gangrape Samajwadi Party Mulayam Akhilesh

कहीं बदायूं छीन न ले सपा से मैनपुरी का किला

dainikbhaskar.com | Jun 02, 2014, 19:36 PM IST

लखनऊ.बदायूं गैंगरेप कांडको लेकर सपा सरकार की चौतरफा आलोचना हो रही है। गैंगरेप की घटना का शिकार हुई लड़कियां पिछड़े वर्ग (शाक्य) से आती हैं। ऐसे में सरकार के खिलाफ पिछड़े वर्ग में काफी रोष है। इसे देखते हुए मैनपुरी में होने वाले आगामी उपचुनाव में सपा के लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं। सरकार के सामने सूबे में कानून-व्यवस्था बहाल करना और अपनी पारंपरिक मैनपुरी सीट बचाए रखने की दोहरी चुनौती है।
बदायूं से सटे मैनपुरी सीट में करीब ढाई लाख शाक्य वोट हैं। यह कुल वोटरों का 22 फीसदी है। मुलायम के मैनपुरी सीट छोड़ने के बाद यहां उपचुनाव होने वाले हैं। अभी तक पिछड़ी जाति के वोटरों पर समाजवादी पार्टी की खासी पकड़ मानी जाती रही है। ऐसे में कहीं इस घटना के चलते उसका एक बड़ा वोट बैंक खिसकता हुआ नजर आ रहा है।
लोकसभा चुनाव के परिणाम बता रहे हैं कि सपा का वोट बैंक रहे मुसलमानों पर उनकी पकड़ ढीली होती जा रही है। ऐसे में सपा के पास यादवों और पिछड़े वर्ग का वोट बैंक ही बचता दिख रहा है। बदायूं का पीड़ित परिवार शाक्य जाति से है, जबकि सभी आरोपी यादव हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि समाजवादी पार्टी अपने ही बनाए जातीय चक्रव्यूह में फंसती नजर आ रही है।
बदायूं के पड़ोसी जिले मैनपुरी में वोटर्स की संख्या लगभग 16 लाख है। इनमें लगभग ढाई लाख शाक्य वोटर हैं और अनुसूचित जाति के लगभग में साढ़े तीन लाख वोटर हैं। वहीं, लगभग 35 फीसदी यादव वोटर हैं। यहां महिला वोटर्स की संख्या लगभग साढ़े सात लाख है।
बदायूं की घटना में यादवों के आरोपी होने और पीड़ित पक्ष के शाक्य होने से सपा को इस बार लोकसभा उपचुनावों में बड़ा झटका लग सकता है। इसके अलावा आरोपियों पर कार्रवाई होने से यादव बिरादरी के वोट भी सपा से छिटककर दूसरे पाले में जा सकते हैं।
मैनपुरी से मुलायम ने लगाई है हैट्रिक
मैनपुरी लोकसभा सीट मैनपुरी, करहल, भौगांव, किशनी, जसवंतनगर विधानसभाओं को मिलाकर बनी है। 2004 में मुलायम मैनपुरी सीट से 3 लाख 37 हजार 870 वोटों से जीते थे। वहीं, 2009 में वह 1 लाख 73 हजार 69 वोटों से जीत हासिल की थी। हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनावों में मुलायम बीजेपी के उम्मीदवार शत्रुघ्न सिंह चौहान से 3 लाख 64 हजार 666 मतों से जीत हासिल की है। ऐसे में यदि सपा से नाराज अन्य बिरादरियों का वोट किसी दूसरी पार्टी के पक्ष में डाला गया, सपा का मैनपुरी किला दरक सकता है।
आगे पढ़िए, क्या कहते हैं वरिष्ठ पत्रकार और जानकार...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: latest news badaun gangrape samajwadi party mulayam akhilesh
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    Comment Now

    Most Commented

        More From News

          Trending Now

          Top