Home »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Mulayam Singh Yadav Press Conference

रामगोपाल के बेटे-बहू तुड़वा रहे हैं पार्टी, उससे अलग हो जाओ CM तुम ही रहोगे: अखिलेश से बोले मुलायम

DainikBhaskar.com | Jan 12, 2017, 07:50 IST

  • लखनऊ.मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को लखनऊ में पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि हमने अखिलेश को कहा है कि सीएम तुम ही बनोगे, लेकिन रामगोपाल से अलग हो जाओ। उन्होंने कहा कि रामगोपाल बेटे अक्षय यादव और बहू रिचा यादव के कहने पर पार्टी तोड़ रहे हैं। मुलायम बोले, " हम ना तो अलग पार्टी बना रहे हैं और ना ही सिंबल बदल रहे हैं। हम अपनी पार्टी नहीं छोड़ेंगे। बचा कर रहेंगे।" बता दें कि 31 दिसंबर से अब तक मुलायम और अखिलेश के बीच सुलह की 8 कोशिशें हो चुकी हैं। ये सारी कोशिशें नाकाम रही हैं। मुलायम ने कहा- लिखकर देने को तैयार हूं...
    - पार्टी दफ्तर पर मुलायम ने कार्यकर्ताओं से कहा, " मैं लिखकर देने को तैयार हूं, लेकिन अखिलेश पहले खुद को रामगोपाल से अलग करें, वो उसे बरगला रहे हैं। मैंने उनको कहा कि विवाद में मत पड़ो। हम पार्टी में एकता चाहते हैं। वो अलग पार्टी बना रहे हैं।"
    - "पार्टी बनाने के लिए हमने लाठियां खाई हैं। हम नहीं चाहते हैं कि पार्टी टूटे। मैंने गरीबी में परिवार छोड़ा। अब मेरे पास क्‍या बचा है? हम पार्टी को टूटने नहीं देंगे। न पार्टी का नाम बदलेंगे, न सिंबल बदलेंगे।"
    - "संघर्ष करके समाजवादी पार्टी बनी है। इमरजेंसी के दौरान हमने बहुत संघर्ष किया। इसके बाद चुनाव लड़ा और बहुमत में आई। कार्यकर्ताओं की मेहनत और संघर्ष से पार्टी आगे बढ़ी।"
    रामगोपाल पर बीजेपी से मिले होने का लगाया आरोप
    - मुलायम ने कहा, "रामगोपाल यादव दूसरी पार्टी के अध्‍यक्ष से 4 बार मिले। रामगोपाल लड़के-बहू के कहने पर पार्टी तोड़ रहे हैं।"
    - "रामगोपाल अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी बना रहे हैं। वे पार्टी के लिए मोटरसाइकिल चुनाव चिह्न मांग रहे हैं।"
    - "कुछ लोग बीजेपी के साथ मिलें। लेकिन, हमारी पार्टी की एकता में कोई बाधा नहीं आएगी।"
    मुलायम बोले- मेरे पास आप सब हैं
    - मुलायम ने कहा, "मेरे पास जो था वो देश का है और मेरे पास क्या है? मेरे पास आप सब (कार्यकर्ता ) हैं। मुझे पार्टी कार्यकर्ताओं पर पूरा भरोसा है। मेरे पास जो कुछ था, दे दिया।"
    - "हमने इमरजेंसी के बाद चुनाव लड़ा और बहुमत में आए। कार्यकर्ताओं की मेहनत और संघर्ष से पार्टी आगे बढ़ी।"
    इन मुद्दों के चलते मुलायम-अखिलेश के बीच सुलह की 8 कोशिशें नाकाम रहीं
    # मुलायम ये चाहते हैं
    1.राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पद पर खुद बरकरार रहें।
    2.अखिलेश इलेक्शन कमीशन से सिंबल को लेकर दायर की गई दावेदारी को वापस ले लें।
    3.रामगोपाल को 6 साल के लिए पार्टी से बाहर ही रखा जाए।
    4.शिवपाल को प्रदेश अध्‍यक्ष बनाया जाए।
    # अखिलेश इन शर्ते पर अड़े हैं

    1.राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष और इस बार इलेक्शन में सीएम फेस के तौर पर खुद अखिलेश ही प्रोजेक्ट हों।
    2. रामगोपाल की पार्टी में वापसी कराई जाए।
    3.अमर सिंह को पार्टी से बाहर किया जाए।
    4.चुनाव तक नरेश उत्‍तम को प्रदेश अध्‍यक्ष रखा जाए।
  • लखनऊ में मुलायम सिंह ने कहा कि हम अलग पार्टी नहीं बना रहे हैं।
    सुलह की 8 कोशिशें नाकाम
    - 31 दि‍संबर 2016 :आजम खान ने अखि‍लेश यादव की मुलाकात मुलायम सिंह और शि‍वपाल यादव से करवाई।
    - इसके बाद आपसी सहमति‍ की बात सामने आई। यह मान लि‍या गया कि‍ समझौते के बाद सारे वि‍वाद खत्‍म हो गए।
    - सूत्रों के मुताबिक, मुलायम से हुई मीटिंग में अखिलेश ने अपनी 4 शर्तें रखी थीं।
    #पहली शर्त: अखिलेश ने अमर सिंह को पार्टी से बर्खास्त करने को कहा।
    #दूसरी शर्त: शिवपाल यादव को राष्ट्रीय राजनीति में भेजा जाए।
    #तीसरी शर्त: टिकट बंटवारा मुलायम और अखिलेश की सहमति से हो। इसमें किसी तीसरे की दखलंदाजी न हो।
    #चौथी शर्त: इसके अलावा टीम अखिलेश के बर्खास्त लोगों को भी पार्टी में वापस लिया जाए।
    - लेकिन अखिलेश की ये शर्तें नहीं मानी गईं।

    - 2 जनवरी: सपा के सिंबल पर दावेदारी के लि‍ए शि‍वपाल और अमर सिंह के साथ मुलायम चुनाव आयोग पहुंचे। वहां मुलायम से मि‍लने आजम खान पहुंचे, लेकि‍न उन्‍हें फोन पर मुलायम ने कहा कि‍ लखनऊ जा रहा हूं, वहीं बात होगी।

    - 3 जनवरी:अखि‍लेश यादव ने मुलायम सिंह के घर पर जाकर मुलाकात की, पर बात नहीं बनी। अखि‍लेश की मांगें नहीं मानी गईं।

    - 4 जनवरी: आजम के साथ मुलायम की 5 घंटे बातचीत हुई, लेकि‍न फिर भी समझौता नहीं हो सका। दरअसल, अमर सिंह को पार्टी से नि‍कालने के मुद्दे पर सहमति‍ नहीं बन सकी।

    - 5 जनवरी: देर रात तक करीब 4 घंटे मुलायम, शि‍वपाल और अमर सिंह के बीच दि‍ल्‍ली में बातचीत हुई। लखनऊ लौटने पर मुलायम से रात को उनके भाई अभयराम ने भी मुलाकात की।

    - 6 जनवरी: सुबह अखि‍लेश यादव से शि‍वपाल और अमर ने मुलाकात की।
    - 8 जनवरी:रविवार की सुबह अखिलेश ने मुलायम को फोन किया था। मुलायम ने अखिलेश के सामने दो शर्तें रखीं थीं। पहली, वे नेशनल प्रेसिडेंट बने रहेंगे और दूसरी, शिवपाल प्रदेश अध्‍यक्ष बने रहेंगे। सूत्रों के अनुसार, ये दोनों ही शर्तें अखिलेश ने नहीं मानी थी।
    - 10 जनवरी:अखिलेश एक बार फिर मुलायम के घर मिलने पहुंचे। लेकिन बात नहीं बनी।
  • मुलायम बुधवार को सपा ऑफिस पहुंचे। वीडियो में देखें उन्होंने पार्टी वर्कर्स से क्या कहा ?
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: mulayam singh yadav press conference
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top