Home »Uttar Pradesh »Lucknow »News » Abbas Ansari To Dinesh Kant Yadav, Read About Criminal Politicians Sons And Wives

कोई पढ़ाई में अव्वल तो कोई है प्लेयर, ऐसे हैं 8 बाहुबलियों के ये बेटे-बहू

dainikbhaskar.com | Feb 10, 2017, 10:03 IST

पिता मुख्तार अंसारी के साथ अब्बास।

लखनऊ. यूपी का चुनावी संग्राम इस बार बाहुबलियों के लिए काफी अहम हो गया है। इसमें बाहुबली के बेटे और बहू मैदान में हैं। उनकी साख दांव पर लगी है। ऐसे एक दो नहीं बल्कि आधा दर्जन से ज्यादा हैं। ये बाहुबली 2017 चुनावों में अपने बच्चों का भविष्य तलाश रहे हैं। इस अगली पीढ़ी में कोई पढ़ाई में अव्वल है तो कोई नेशनल प्लेयर है। dainikbhaskar.com इसी नई पीढ़ी के बारे में बता रहा है। 
 
अब्बास अंसारी (बसपा)
सीट - घोसी 
 
- बाहुबली मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी नेशनल लेवल के निशानेबाज हैं। 
-अब्बास कहते हैं कि "मेरे पिता ही मेरे कोच है, मेरे मेंटर और मेरे मनोवैज्ञानिक गाइड है, उनके रहते हुए मुझे कभी किसी विदेशी कोच की जरूरत खेल में नहीं पड़ी।"
 
बाहुबली पिता-मुख़्तार अंसारी
 
- क्राइम की दुनि‍या में पहली बार उनका नाम 1988 में आया।
- उस समय मंडी परिषद की ठेकेदारी को लेकर उन पर लोकल ठेकेदार सच्चिदानंद राय की हत्या का आरोप लगा। 
- इसी दौरान त्रिभुवन सिंह के कांस्टेबल भाई राजेंद्र सिंह की हत्या बनारस में कर दी गई। मामले में मुख्तार का ही नाम सामने आया। क्राइम की दुनि‍या में पहली बार उनका नाम 1988 में आया।
- उस समय मंडी परिषद की ठेकेदारी को लेकर उन पर लोकल ठेकेदार सच्चिदानंद राय की हत्या का आरोप लगा। 
- इसी दौरान त्रिभुवन सिंह के कांस्टेबल भाई राजेंद्र सिंह की हत्या बनारस में कर दी गई। मामले में मुख्तार का ही नाम सामने आया।
- अक्टूबर 2005 में मऊ में हिंसा भड़की। इसके बाद उन पर कई आरोप लगे, जिन्हें खारिज कर दिया गया। 
- उसी दौरान उन्होंने गाजीपुर पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया, तभी से वे जेल में बंद हैं। इनके ऊपर कृष्णानंद राय की हत्या का भी आरोप है।
 
आगे की स्लाइड्स में देखिए बाहुबली नेताओं की नेक्स्ट जनरेशन...
Live अपडेट से लेकर हॉट सीट के एनालसिस तक की जुड़ी हर खबर सिर्फ 1 क्लिक पर
Web Title: Abbas ansari to Dinesh Kant Yadav, read about criminal politicians sons and wives
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top