Home »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Yogi Adityanath Worship At CM House

ऐसे हैं 13 नेता: कोई करता है तंत्र पूजा, किसी ने CM बनते ही कराया रुद्राभि‍षेक

dainikbhaskar.com | Mar 21, 2017, 12:15 IST

  • योगी आदित्यनाथ ने सीएम बनने के बाद सोमवार को सीएम आवास पर रुद्राभ‍िषेक करवाया।
    लखनऊ. योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को सीएम आवास में एंट्री करने से पहले पूजा-पाठ करवाया। गोरखपुर से आए पंड‍ितों कई घंटे तक हवन-पूजन किया। इसके बाद ही आदित्यनाथ सीएम आवास के अंदर दाख‍िल हुए। dainikbhaskar.com आपको आज आपको कुछ ऐसे नेताओं के बारे में बताने जा रहा है, जोकि पूजा-पाठ, टोने-टोटका या अंधविश्वास पर यकीन करते हैं। कुछ नेता धर्म और आध्यात्म गुरु को भी फॉलो करते हैं।

    आगे की स्लाइड्स में पढ़ें नेताओं के बारे में...
  • लालू यादव, RJD चीफ


    किसी भी संकट में होने पर लालू विभूति नारायण उर्फ पगला बाबा की शरण में जाते हैं। बाबा लालू के लिए तंत्र साधना भी कर चुके हैं।
  • नरेंद्र मोदी


    ऐसा कहा जाता है कि मोदी ने स्वामी दयानंद गिरी से राजनीति, अध्यात्म और योग की बारीकियां सीखी हैं। मुश्क‍िल वक्त में उन्होंने हमेशा इनकी सलाह ली।
  • नीतीश कुमार

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शंकराचार्य के भक्त हैं। अहम फैसलों से पहले नीतीश इनका आशीर्वाद लेते हैं।
  • कपिल सिब्बल


    वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सिब्बल जयपुर के ज्योतिषी पंडित केदार शर्मा से अक्सर सलाह करते हैं।
  • बसपा: मायावती ऑफ व्हाइट कपड़े पहनती हैं, कभी-कभी पिंक भी

    - बसपा सुप्रीमो मायावती हमेशा ऑफ व्हाइट कपड़े पहनती हैं। खासतौर पर अपने जन्मदिन के मौके पर गुलाबी सूट पहनती हैं। लोग इसे शुभ-अशुभ से जोड़ते हैं।
    - इस पर मायावती सफाई में कहती हैं, "पिंक कलर कुछ चमकता है। उज्ज्वल सा है। मैं अपने समाज को पिंक कलर की तरह उसको खुशहाल बनाना चाहती हूं।"
    - "उनकी जिंदगी पिंक कलर की तरह उज्जवल रहे। यह कलर खिलता रहता है। मेरा समाज मतलब जो सर्व समाज है, वह भी खिले।
  • अटल बिहारी वाजपेयी


    चुनाव के दौरान मथुरा के जयगुरुदेव आश्रम में नेताओं का तांता लगा रहता था। अटल बिहारी वाजपेयी भी बाबा के पास आते थे और सलाह लेते थे।
  • मनोज सिन्हा

    18 मार्च 2017 को यूपी के सीएम की नाम की घोषणा होनी थी। रेस में रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा का भी नाम आगे चल रहा था। उसी दिन सुबह मनोज सिन्हा वाराणसी के काल भैरव बाबा के दर्शन करने पहुंचे थे। पुजारी ने बुरी नजरों को टालने के लिए सिन्हा के सिर से सरसों का तेल भी उतारा। इसके बाद वह काशी व‍िश्वनाथ और संकट मोचन के दरबार भी पहुंचे थे।
  • बीजेपी: कानपुर की चुनावी रैली में मोदी की लकी कुर्सी की चर्चा


    - कानपुर के बीजेपी दफ्तर में एक कुर्सी रखी है। लोकसभा चुनाव के दौरान मोदी इसी कुर्सी पर बैठे थे। पार्टी सत्ता में भी आई।
    - वहां के बीजेपी नेता इस कुर्सी को लकी मानते हैं। जब पिछले साल मोदी कानपुर आए थे, तब इस कुर्सी का टोटके के तौर पर इस्तेमाल किया गया।
    - लखनऊ में बीजेपी दफ्तर में एक पुराना पेड़ आंधी में गिर गया। लोग खुश हुए। वहम था कि पेड़ की वजह से सामने विधानसभा नहीं दिखती इसलिए पार्टी पिछड़ी है।
  • वसुंधरा राजे


    राजस्थान की सीएम वसुंधरा कई बार आध्यात्म‍िक गुरु जग्गी वासुदेव की तारीफ कर चुकी हैं। इनके मेडिटेशन प्रोग्राम में भी हिस्सा ले चुकी हैं।
  • अखिलेश ने पहले नहीं, पांचवें फेज वाली सीट से प्रचार शुरू किया


    - चर्चा है कि ज्योतिषी की सलाह पर अखिलेश यादव ने सुल्तानपुर से चुनावी रैली शुरू की। जबकि यहां चुनाव पांचवें दौर में होना है।
    - इस पर ज्योतिष के जानकार कहते हैं कि पहले चरण में चुनाव वेस्ट यूपी में है। पर दिशा शूल के चलते मंगलवार को वेस्ट में यात्रा करना शुभ नहीं माना जाता।
    - साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि अखिलेश ने 2012 में भी चुनाव प्रचार की शुरुआत सुल्तानपुर से ही की थी। सत्ता में आए। इसलिए इसे लकी मानते हैं।


  • सोनिया गांधी

    कहा जाता है कि 1989 के आम चुनाव से पहले सोनिया ने राजीव के साथ देवहरा बाबा के आश्रम जाकर इनका आशीर्वाद लिया था।
  • दिग्व‍िजय सिंह


    कांग्रेस महासचिव, शंकराचार्य स्वामी स्वरुपानंद के भक्त हैं और वो इस बात को खुलेआम स्वीकार भी कर चुके हैं।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Yogi Adityanath worship at CM house
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top