Home »Uttar Pradesh »Meerut» Haunted Story Of GP Block Meerut

24 घंटे भूत बंगले के पास रहता है ये शख्स, बताई आत्मा से जुड़ी ऐसी बातें

dainikbhaskar.com | Apr 23, 2017, 11:51 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

देश की 10 सबसे डरावनी जगहों में मेरठ का ये जीपी बंगला भी शामिल है।

मेरठ.देश की 10 सबसे बड़ी डरावनी जगहों में मेरठ का जीपी ब्लॉक स्थित बंगला भी शामिल है। इस भूत बंगले की कहानी का सच वहां के चौकीदार की जुबानी जानने का dainikbhaskar.com ने प्रयास किया। चौकीदार की मानें तो इस भूत बंगले में एक अंग्रेज दारोगा की आत्मा भटकती है। एक्सीडेंट में मरा था दारोगा...
- जीपी ब्लॉक स्थित इस बंगले के बारे में वहां की चौकीदारी करने वाले श्रवण ने बताया कि उनके पिता परिवार के साथ वहां रहकर चौकीदारी करते थे। एक दिन पास ही स्थित कंपनी बाग चौराहे पर दारोगा डिसूजा की एक्सीडेंट में मौत हो गई। उसके कुछ दिन बाद से लोगों को एक आत्मा दिखने लगी। जिसके बारे में कहा गया कि यह दारोगा डिसूजा की आत्मा है।
- श्रवण ने बताया कि उसके पिता सोहनलाल 1945 में यहां आकर बस गए थे। बाद में देश आजाद होने पर अंग्रेज परिवार इस बंगले को खाली कर चला गया। उनके जाने के बाद जो इस बंगले में रहने आया उसे इसमें किसी आत्मा के होने का डर बैठ गया। जिसके बाद यह बंगला खाली हो गया और अब यह भूत बंगले के नाम से जाना जाता है।
- श्रवण भी अब इस बंगले से दूर अलग स्थान पर रह रहा है। इस बंगले की ओर अब कोई जाना पसंद नहीं करता। बंगले के आसपास घनी झाड़ियां उग आई हैं। कैंट एरिया में होने के कारण आम आदमी का जाना यहां वैसे भी प्रतिबंधित है।
ब्रेड-मक्कखन, अंडे मांगती थी डिसूजा की आत्मा
- लोगों का कहना है कि उस वक्त भटक रही डिसूजा की आत्मा लोगों से ब्रेड-मक्खन और अंडे की डिमांड करती थी। सुबह-सुबह अपने काम पर जाने वाले लोग डर से चौराहे पर ब्रेड मक्खन या अंडे रखकर जाते थे। लोग चौराहे पर सामान रखने के बाद मुड़कर पीछे की ओर नहीं देखते थे। बाद में यह सामान वहां से गायब मिलता था। हालांकि अब इस रास्ते कोई नहीं आता है।
ये भी है इस बंगले के बारे में किस्से
- बंगले के बारे में ये बात भी सामने आई कि यहां लाल रंग की साड़ी पहने एक औरत दिखाई देती है। कुछ लोगों का कहना है कि यहां बंगले के अंदर मोमबत्ती की रोशनी में चार लड़के बीयर पीते देखे गए। तमाम तरह की चचार्ओं के चलते ही लोगों ने इस बंगले की ओर जाना छोड़ दिया।
पंजाब से आकर रहे थे श्रवण के पिता
- भूत बंगले के नाम से मशहूर बंगले के चौकीदार रहे श्रवण कुमार का कहना है कि उनके पिता पंजाब से यहां वर्ष 1945 में आए थे। उनके पिता के बाद वह बंगले की चौकीदारी करते थे। अंग्रेज आजादी के बाद यहां से चले गए थे।
- उनके जाने के बाद ही भूतप्रेत के किस्से कहानी सामने आने लगी। हालांकि श्रवण का कहना है कि उन्हें कभी यहां कोई आत्मा दिखाई नहीं दी।
इनका है कहना
- इतिहासकार डा. केके शर्मा का कहना है कि भूतहा बंगले को लेकर जो चर्चाएं हैं उनकी कोई अधिकारिक पुष्टि नहीं है। सब मन गढंत चर्चाओं पर आधारित है।
- राजकीय संग्राहलय के अध्यक्ष डा. मनोज गौतम का कहना है कि इस बारे में कोई इतिहासिक प्रमाण नहीं है। लोग चर्चाएं करते हैं, लेकिन चश्मदीद कोई नहीं है।
- सामाजिक कार्यकर्ता शीलेंद्र कुमार का कहना है कि इस बारे में सुना जरूर है, लेकिन कोई ठोस प्रमाण नहीं है। हो सकता है अंग्रेजों के यहां से जाने के बाद यह कोठी खाली रहने पर धीरे-धीरे खंडहर में तब्दील हो गई हो और लोगों ने उसके बारे में किस्से कहानी बनाना शुरू कर दिया हो।
- सुनील तनेजा का कहना है कि उस वक्त इस जगह के आसपास रहने वाले लोग परछाई जैसी कोई चीज दिखाई देने की बात करते थे, लेकिन पुष्टि कोई नहीं करता था।
ये है देश की 9 सबसे डरावनी जगह

1. राजस्थान का भानगढ़ किला
2. राजस्थान का कुलधारा गांव
3. मुंबई की डिसूजा चॉल
4. पुणे का शनीवारवाड़ा किला
5. वृंदावन सोसाइटी- ठाणे
6. गुजरात का दमास बीच
7. असम की जट‌िंगा वैली
8. हैदराबाद का रामोजी फिल्मसिटी
9. मुंबई का राज किरन होटल
आगे की स्लाइड्स में देखें जीपी ब्लॉक के बंगले की 8 और PHOTOS...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Haunted Story Of GP Block Meerut
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Meerut

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top