Home »Uttar Pradesh »Meerut » Rajya Rani Express Coaches Derails In Rampur

खून की उल्टी हो रही थी..माएं बच्चों को सीने से लगाए थीं: यात्री की आपबीती

dainikbhaskar.com | Apr 23, 2017, 11:49 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

राज्यरानी एक्सप्रेस (22454) के 8 डिब्बे शनिवार को रामपुर के कोसीपुल के पास पटरी से उतर गए।

मेरठ. यूपी के रामपुर के पास हुए राज्यरानी एक्सप्रेस ट्रेन हादसे के प्रत्यक्षदर्शी दहशत में हैं। उनका कहना है कि सब कुछ अचानक हुआ। अचानक ट्रेन में झटके लगे और चीख पुकार मच गई। लोग एक दूसरे के ऊपर गिर रहे थे। माएं बच्चों को सीने से लगाए हुई थी। हादसा पीड़ित की जुबानी...
 
 
 
- ट्रेन में सवार सरदार वल्लभ भाई पटेल एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर आरएस सेंगर ने dainikbhaskar.com को बताया कि सब कुछ एक झटके में हुआ। 
- ट्रेन में सब अपनी सीटों पर बैठे आराम से सफर कर रहे थे। रामपुर आने वाला था, तभी अचानक तीन चार झटके लगे और ट्रेन में सवार लोग एक दूसरे के ऊपर गिरने लगे। 
- ट्रेन के पिछले हिस्से के डिब्बे पलट गई, दो तीन डिब्बे पूरी तरह पलट चुके थे, जबकि कई पटरी से उतर गए। 
- वह भी उस कोच में सवार थे जो पटरी से उतर गया था। किसी तरह वह कोच से बाहर निकले, उन्हें भी काफी चोट आई। 
- प्रोफेसर आरएस सेंगर ने बताया कि जो डिब्बे पूरी तरह पलट चुके थे, उसमें कई लोग बुरी तरह फंस गए थे। 
- लहुलुहान लोगों को की मदद के लिए ट्रेन के लोग ही दौड़े, कुछ देर में वहां आसपास के लोग भी आ गए और घायलों को निकाले में जुट गए। 
- बाद में स्थानीय पुलिसकर्मी भी वहां पहुंच गए, घायलों को लोगों ने इलाज के लिए रामपुर भिजवाना शुरू किया। 
- बताया कि झटका इतना तेज था कि पहले ही झटके से किसी अनहोनी की आशंका हो गई थी। 
 
 
महिला और बच्चों को निकालने में हुई परेशानी 
- प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सबसे अधिक परेशानी डिब्बे में फंसे यात्रियों में महिला और बच्चों को निकालने में हो रही थी। अंदर घायल बुरी तरह चीख पुकार मचा रहे थे, हर कोई ईश्वर को याद कर रहा था। डिब्बे में फंसे लोगों को बाहर से लोग धैर्य रखने का आश्वासन दे रहे थे। उनकी हिम्मत बंधाई जा रही थी। कहा जा रहा था घबराओं मत कुछ नहीं होगा। अपने खुद के शरीर पर चोट थी। खून निकल रहा था लेकिन लोग फिर भी एक दूसरे की मदद कर रहे थे। 
- प्रोफेसर आरएस सेंगर ने बताया कि एक घायल खून की उलटी कर रहा था। उसकी हालत देखकर ट्रेन में सवार दो पुलिसकर्मियों को उसे अस्पताल लेकर जाने के लिए कहा गया। तब तक बाहर से किसी तरह की मदद वहां नहीं पहुंची थी। लोग खुद ही घायलों को डिब्बे से बाहर निकालकर ला रहे थे। 
 
पेड़ और मिट्टी की वजह से कम पलटे डिब्बे
- ट्रेन में सवार मेरठ से हरदोई के लिए सवार हुए अमेरिकन इंस्टीट्यूट में मार्केटिंग अफसर अमोद के अनुसार रामपुर से पहले नदी पार करते ही यह हादसा हुआ। वह राज्यरानी के कोच संख्या डी 2 में सवार थे। उसने पहले कोच संख्या डी 1 इस हादसे में सबसे अधिक क्षतिग्रस्त हुआ। 
- अमोद ने बताया कि अचानक तेज झटका लगा, और धुएं का गुब्बार उठा। किसी को संभलने का मौका नहीं मिला। यह हादसा और बड़ा हो सकता था, गनीमत रही कि रेलवे ट्रैक के किनारे खड़े पेड़ों की वजह से डिब्बे नीचे खाई में नहीं गिरे। 
- पटरी से उतरने के बाद डिब्बे मिट्टी में धंस गई जिस कारण डिब्बे पटरी से उतर तो गए लेकिन नीचे खाई में पलटने से बच गए।
 
 
छाती से चिपका लिया बच्चों को
- डिब्बे में सवार महिलाओं ने अपनी चोट की परवाह किए बिना अपने छोटे बच्चों को छाती से चिपका लिया। बच्चें रो रहे थे, लेकिन मां अपनी चोट और दर्द को भुलकर अपने छोटे बच्चों को चुप कराने में लगी थी। 
- बताया गया कि एक डिब्बा सबसे अधिक क्षतिग्रस्त हुआ, गंभीर रूप से घायल भी उसकी डिब्बे में सवार लोग हुए।
 
 
हाल के दिनों में यूपी में हुए रेल हादसे
- 8 मार्च को रात करीब 1 बजे रक्सौल से दिल्ली जाने वाली सत्याग्रह एक्सप्रेस यूपी के सीतापुर स्टेशन के पास मालगाड़ी से टकरा गई थी। हादसे में ट्रेन का दूसरा डिब्बा मालगाड़ी के आखिरी कोच से टक्कर गया था, जिसमें 5 पैसेंजर जख्मी हो गए थे।
 
कालिंदी एक्सप्रेस की मालगाड़ी से हुई टक्कर
- 20 फरवरी को उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद के पास टुंडला स्टेशन पर कालिंदी एक्सप्रेस की टक्कर मालगाड़ी से हो गई थी। इसमें कोई हताहत नहीं हुआ था। टक्कर के बाद एक्सप्रेस ट्रेन के कई डिब्बे पटरी से उतर गए थे।
 
सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस के 15 डिब्बे पटरी से उतरे
- कानपुर देहात के पास 29 दिसंबर की सुबह सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस के 15 डिब्बे पटरी से उतर गए थे। जिसमें 50 से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे।
 
इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसे में हुई थी 145 की मौत
- कानपुर देहात के रेलवे स्‍टेशन पुखरायां के पास 20 नवंबर की सुबह करीब 3.15 बजे इंदौर-पटना एक्सप्रेस ट्रेन डिरेल हो गई थी। हादसे में 14 डिब्बे पटरी से उतरे थे। इसमें 145 लोगों की मौत हुई, जबकि 175 से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे।
 
 
आगे की स्लाइड्स में देखें ट्रेन हादसे की 8 और PHOTOS...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Rajya Rani Express Coaches Derails In Rampur
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Meerut

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top