Home »Uttar Pradesh »Allahabad» Amitabh Bachchan Neighboring Danish Mujtaba

PICS: सात समंदर पार जलवे बिखरे रहा बिग बी का पड़ोसी

अनुराग सिंह | Dec 06, 2012, 13:33 IST

  • इलाहाबाद. कई साल बाद भारत की नई हॉकी टीम इंटरनेशनल एरीना में अपना जौहर दिखा रही है। लन्दन ओलिम्पिक में आखिरी पायदान पर रहने के बाद नए खिलाड़ियों से लैस टीम मेलबोर्न में चल रही एफआईएच चैंपियंस ट्राफी में सनसनी फैला रही है। ऑस्ट्रलियाई कोच माईकल नॉब्स की इस टीम में इलाहाबाद के दानिश मुजतबा अहम सदस्य हैं। उनका घर इलाहाबाद के जिस कटघर मोहल्ले में है, उसकी सामने वाली गली में सदी के महानायक बिग बी अमिताभ बच्चन का मकान भी है।
    दानिश मुजतबा की पूरी कहानी, तस्वीरों की जुबानी.
  • महज़ 23 साल की उम्र में इस प्रतिभाशाली मिडफील्डर ने एशिया कप से लेकर वर्ल्ड कप टूर्नामेंट और कामनवेल्थ गेम्स से लेकर ओलम्पिक तक का सफ़र तय कर लिया है। लन्दन ओलम्पिक में भले ही भारत का प्रदर्शन शर्मनाक रहा हो लेकिन इस इलाहाबादी छोरे ने वहाँ भी कमाल का खेल दिखाया था। उसकी हॉकी का जादू मेलबर्न में चल रही चैम्पियंस ट्राफी में भी देखने को मिल रहा है, जहाँ उसने तीन मैचों में दो गोल किये हैं।
  • मेलबोर्न में पहले मैच लीग मैच इंग्लैंड पर 3-1 की जीत में दानिश ने रिवर्स फ्लिक से टीम का पहला गोआल दागा था, वहीं दूसरे मैच में न्यूजीलैंड पर 4-1 की फतह में किविज़ के ताबूत में चौथी और अंतिम कील दानिश ने ठोंकी थी। दानिश ने हॉकी की ABCD अपने नाना इदरीश अहमद से सीखी थी। वह काफी अरसे तक भारतीय हॉकी टीम के सदस्य थे और मेजर ध्यानचंद के करीबी दोस्तों में माने जाते थे। दुनिया इस वक्त भले ही क्रिकेट की दीवानी हो लेकिन हॉकी का खेल तो दानिश के पूरे परिवार में रचा बसा हुआ है।

  • नाना के अलावा दानिश के मामा आतिफ इदरिस परगट सिंह की अगुवाई वाली राष्ट्रीय टीम का हिस्सा थे तो बड़े भाई शारिक मुजतबा और हमजा मुजतबा भी राष्ट्रीय स्तर के हॉकी खिलाड़ी रहे हैं। कानपुर की छत्रपति शाहूजी महाराज यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट दानिश मुजतबा यूं तो बचपन से ही हॉकी खेल रहे हैं लेकिन उन्हें बड़ा मौका मिला जूनियर वर्ल्ड कप की टीम में शामिल होने के बाद। 2009 में वह जब पहली बार राष्ट्रीय टीम का हिस्सा बने तो उन्होंने दुबारा पीछे मुड़कर नहीं देखा। मैदान पर वह चीते जैसे फुर्तीले नज़र आते हैं, तो दुश्मन टीम से गेंद चुराकर गोल दागने में उनका कोइ जवाब नहीं है।

  • पुलिस हेडक्वार्टर से रिटायर हो चुके दानिश के पिता गुलाम मुजतबा और माँ शाहीन फातिमा भारत का कोइ भी मैच एक पल के लिए भी मिस नहीं करते। दानिश के हर मैच के दौरान माँ-बाप हाथों में तस्वीह (माला) लिए दानिश के बेहतर प्रदर्शन और टीम के जीतने की दुआ करते रहते हैं। माँ के मुताबिक़ बेटे के मैच के दौरान उनका ब्लड-प्रेशर बढ़ जाता है। बेटे की कामयाबी पर आज दानिश की माँ खुशी से फूली नहीं समाती लेकिन लन्दन ओलम्पिक में टीम के खराब प्रदर्शन का मलाल दानिश के साथ ही उसके परिवार को है। अपने बेहतर खेल की वजह से दानिश को दो बार यूपी का सबसे बड़ा खेल सम्मान काशीराम खेल अवार्ड दिया जा चुका है। इसी खेल की बदौलत ही वह यूपी पावर कारपोरेशन में स्पोर्ट्स आफिसर भी बने पाए हैं।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Amitabh Bachchan neighboring Danish Mujtaba
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Allahabad

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top