Home »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Sport Personalities Born In UP Famous Over World

PICS: यूपी में जन्मे इन खेल-सितारों ने दुनिया में बजाया अपना डंका

अनुराग सिंह | Dec 07, 2012, 00:10 IST

  • लखनऊ. सबसे बड़े राज्य यूपी ने देश की प्रगति और विकास में बहुत बड़ा योगदान दिया है। राजनीति, कला और खेल जैसे विशिष्ट क्षेत्रों में इस प्रदेश से आने वाले लोगों ने नाम कमाया है। इन पर प्रदेश को ही नहीं देश को भी गर्व है। पहले की कड़ी में हमने बॉलीवुड के सितारों और विदेश में नाम कमाने वाले लोगों से आपको रूबरू कराया था। इस कड़ी में पढ़िए यूपी में जन्मे खेल सितारों के बारे में जिन्होंने पूरी दुनिया में अपने नाम का डंका बजाया है।
    तस्वीरों के जरिए जानिए इन सितारों के बारे में...
  • अखिल कुमार: भारत के शीर्ष मुक्केबाजों में शुमार और हरियाणा पुलिस में डिप्टी एसपी अखिल कुमार का असली नाम है अखिल कुमार मिश्रा और वो मूलतः रहने वाले है पूर्वांचल के फैजाबाद जनपद के बीकापुर तहसील के टिकरा गाँव के। बीजिंग 2008 ओलिम्पिक बैंटमवेट (54 किलो) के प्री-क्वार्टर फाइनल में रूस के विश्व चैंपियन Sergey Vodopyanov को कांटे की टक्कर में धराशायी करने वाले अखिल ओलिम्पिक में पदक तो नहीं जीत पाए, पर उनके गाँव के बाहर उनके नाम पर एक गेट ही नहीं बन गया बल्कि उनके गाँव को जाने वाली सड़क भी पक्की होने के साथ उनके नाम पर रख दी गयी। 2013 में बॉक्सिंग रिंग में वापसी के लिए प्रयासरत और चोट से जूझ रहे अखिल अयोध्या के हनुमानगढ़ी मंदिर और वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर के अखंड भक्त हैं।

  • अरुण लाल: भारतीय टीम के लिए 1980 के दशक में सलामी बल्लेबाज के रूप में खेलने वाले अरुण लाल का जन्म एक अगस्त 1955 को मुरादाबाद में हुआ था। जहां टेस्ट और एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच में अरुण लाल अपनी कोई ख़ास नहीं छोड़ पाए वहीं दिल्ली और बंगाल के लिए घरेलू क्रिकेट में उन्होंने 46.94 रन के औसत से 10,000 से भी ज्यादा रन बांये जिसमे उनका टॉप स्कोर 287 था। क्रिकेट से 2001 में पूरी तरह संन्यास लेने वाले अरुण आज टीवी पर क्रिकेट कमेन्ट्री में एक जाना माना नाम हैं।

  • दिनेश पटेल: लखनऊ के स्पोर्ट्स कॉलेज में रिंकू का बैचमेट रहा वाराणसी के खानपुर गाँव का रहने वाला दिनेश 2008 में मुंबई में हुए मिलियन डॉलर आर्म कांटेस्ट में रिंकू के पीछे दूसरे स्थान पर रहा था। उसने भी रिंकू के साथ ही यूएस बेसबाल एरिना में पिट्सबर्ग पाइरेट्स टीम के साथ ही अपना बेसबाल करियर शुरू किया है और उसके क्लब ने उसको चीन में बेसबाल प्रमोट करने के लिए एक कोच के तौर पर भेजा है। रिंकू और दिनेश जो की 2009 की गर्मियों में यूएस प्रेसिडेंट बैरक ओबामा के व्हाईट हौसे में विशेष अतिथि ही नहीं थे बल्कि अब उनकी रियल लाईफ स्टोरीज पर हॉलीवुड में थे द मिलियन डॉलर आर्म नामक फिल्म भी बन रही है।
  • हेमलता काला: 15 अगस्त 1975 को ताज सिटी आगरा में पैदा हुई हेमलता काला दायें हाथ की बल्लेबाज और गेंदबाज इस महिला क्रिकेटर ने राष्ट्रीय टीम के लिए सात टेस्ट मैच और 74 एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले हैं। जहां सात टेस्ट मैच में हेमलता ने कुल 503 स्कोर किये वहीं 74 एक दिवसीय मैच में 1023 रन बनाए।
  • मनोज प्रभाकर: 1980 और 1990 के दशक भारतीय टीम का एक महत्वपूर्ण अंग रहा यह आल राउंडर पाकिस्तानी टीम के लिए ख़ास खौफ का कारण रहा। उनका जन्म गाजिआबाद में 15 अप्रैल, 1963 को हुआ। 39 टेस्ट मैच में 1600 रन बनाने वाले और 96 विकेट लेने वाले प्रभाकर ने 130 एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच में 1858 रन बनाएं और 157 विकेट भी लिए। इंग्लिश काउंटी क्लब डरहम के लिए खेलने वाले ना सिर्फ दिल्ली के लिए घरेलू सत्र में खेलते रहे बल्कि बाद में उसी टीम के गेंदबाजी कोच और राजस्थान की टीम के कोच रहे। 1995-96 में क्रिकेट से संन्यास लेने वाले प्रभाकर पर बीसीसीआई ने मैच फिक्सिंग स्कैंडल में शामिल होने के कारण उनपर बन लगा दिया गया था।

  • नरेन्द्र हिरवानी: 1987-88 में मद्रास के चेपक में अपने टेस्ट डेब्यू में विवियन रिचर्ड्स की वेस्टइंडीज को दो पारी में 16 विकेट लेकर उखाड़ फेंकने वाला यह फिरकी गेंदबाज मूलतः पूर्वांचल के गोरखपुर का रहने वाला है। हिरवानी ने हालांकि रणजी ट्राफी में मध्य प्रदेश और बंगाल का प्रतिनिधित्व किया और 400 से अधिक विकेट लिए। चेपक में 136 रन देकर 16 वेस्टइंडीज विकेट लेकर बॉब मैसी के 16-137 के रिकॉर्ड को तोडने वाले हीरू ने 16 टेस्ट मैच में 66 विकेट लिए जबकि 18 एक दिवसीय मैच में 23 विकेट लिए। वो हाल तक राष्ट्रीय टीम के चयनकर्ताओं में भी शामिल थे।

  • रमन लाम्बा: दो जनवरी 1960 को मेरठ में पैदा हुए लाम्बा ने चार टेस्ट मैच में 102 रन और 32 एक दिवसीय मैच में 783 रन बनाए। 1980 से 1998 तक दिल्ली के लिए रणजी ट्राफी में खेलने वाले लाम्बा ने 53.91 रन की औसत से 6362 रन बनाए जिसमे हिमाचल प्रदेश के खिलाफ खेली गयी उनकी 312 रन की यादगार पारी भी है। हालांकि इस उत्कृष्ट बल्लेबाज का दर्दनाक अंत बंगलादेश के बंगबंधु स्टेडियम में फरवरी 1998 में हुआ जब वहां की प्रीमियर डिवीज़न क्रिकेट लीग में अभानी क्रीड़ा चक्र क्लब के फॉरवर्ड शोर्ट लेग में फील्डिंग करते समय सर में गेंद लगने से उनकी तीन दिन बाद अस्पताल में मौत हो गयी।

  • रोहन गावस्कर: पिछली सदी के महानतम बल्लेबाजों में गिने जाने वाले सुनील गावस्कर के बेटे रोहन गावस्कर का जन्म अपने ननिहाल कानपुर में 20 फरवरी 1976 को हुआ था। एक स्पेशलिस्ट मिडिल आर्डर बल्लेबाज और ऑर्थोडॉक्स स्लो बाएं हाथ के गेंदबाज रोहन ने भारत की तरफ से 11 एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले है। मजेदार बात यह है की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2004 में रोहन को अपना इंटरनेशनल डेब्यू करने का मौका तब मिला जब यूपी के मोहम्मद कैफ चोटिल हो गए थे। जहां सुनील गावस्कर ने लगातार फर्स्ट क्लास क्रिकेट मुंबई और वेस्ट जोन के लिए खेला वहीं उनके बेटे ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट बंगाल और ईस्ट जोन के लिए खेला।

  • मनोज प्रभाकर: 1980 और 1990 के दशक भारतीय टीम का एक महत्वपूर्ण अंग रहा यह आल राउंडर पाकिस्तानी टीम के लिए ख़ास खौफ का कारण रहा। उनका जन्म गाजिआबाद में 15 अप्रैल, 1963 को हुआ। 39 टेस्ट मैच में 1600 रन बनाने वाले और 96 विकेट लेने वाले प्रभाकर ने 130 एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच में 1858 रन बनाएं और 157 विकेट भी लिए। इंग्लिश काउंटी क्लब डरहम के लिए खेलने वाले ना सिर्फ दिल्ली के लिए घरेलू सत्र में खेलते रहे बल्कि बाद में उसी टीम के गेंदबाजी कोच और राजस्थान की टीम के कोच रहे। 1995-96 में क्रिकेट से संन्यास लेने वाले प्रभाकर पर बीसीसीआई ने मैच फिक्सिंग स्कैंडल में शामिल होने के कारण उनपर बन लगा दिया गया था।

  • रिंकू सिंह: अप्रैल 2008 में मिलियन डॉलर आर्म कांटेस्ट का एक मिलियन डॉलर का पुरस्कार जीतकर अमेरिका की बेसबाल एरिना में धमाकेदार एंट्री करने वाला रिंकू है पूर्वांचल के भदोही जिले के होलेपुर गाँव के ट्रक ड्राईवर ब्रह्मदीन सिंह का सबसे छोटा बेटा। रिंकू ना सिर्फ भारत का पहला प्रोफेशनल बेसबाल पिचर है बल्कि उसने अमेरिका, डोमिनिकन रिपब्लिक और ऑस्ट्रेलिया लीग में खेलने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी है। अमेरिका में पिट्सबर्ग पाइरेट्स और ऑस्ट्रेलिया की एडीलेड बाईट के लिए बाए हाथ से बाल पिच कर रहे रिंकू का सपना आने वालों सालों में अपना स्थान यूएस मेजर लीग बेसबाल में बनाने का है। रिंकू ना सिर्फ भदोही के हैं बल्कि बेसबाल की दुनिया में प्रवेश से पहले लखनऊ के गुरु गोविन्द सिंह स्पोर्ट्स कॉलेज में एक होनहार जैवलीन थ्रोअर थे।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: sport personalities born in UP famous over world
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top