Home »Uttar Pradesh »Varanasi» Mysterious Temples In Varanasi

277 सालों से Mystery बना है मंदिर में सूर्य के किरणों का पहुंचना-देखें VIDEO

OP Mishra | Apr 19, 2017, 09:50 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
वाराणसी.काशी के स्वामी लक्ष्मी नारायण और भू-देवी मंदिर का एक रहस्य 277 सालों से आज तक कोई नहीं जान सका। 18 अप्रैल को वर्ल्ड हेरिटेज डे है। ऐसे में dainikbhaskar.com आपको साल 1740 में बने इस मंदिर से रूबरू करा रहा है।
झरोखे से भगवान विष्णु के माथे पर जाती है सूर्य की पहली किरण

मंदिर वाराणसी के भोसले घाट पर बना है। मंदिर के शि‍खर से 20 फीट नीचे और छत के लेवल से 8 इंच ऊपर एक झरोखा बना है। इससे सूर्य की पहली किरण भगवान विष्णु के माथे पर जाती है और मुकुट से टकराकर गर्भ गृह में अपने आप रोशनी हो जाती है। खास बात है कि झरोखे से बरसात के दिनों में पानी की एक बूंद भी गर्भ गृह में नहीं जाती, न ही कोई मंदिर के अंदर से झरोखे के जरिए आसमान देख पाता है। यही वजह है कि 277 सालों से यह रहस्य आज तक बरकरार है कि झरोखा किस तरह बना है कि सूर्य की किरण से मंदिर का गर्भ गृह प्रकाश से भर जाता है।
मणि से टकराती थी सूर्य की किरण, निकलता था प्रकाश
झरोखा रेक्टेंगल शेप में एक फीट लंबा, 10 इंच चौड़ा और 4 फीट गहरा है। आचार्य बागीश दत्त शर्मा ने बताया, 1740 में इस मंदिर को नागपुर स्टेट के तत्कालीन राजा रघुजी राव भोसले ने बनवाया था। उस समय भगवान को सुबह होने से पहले आरती कर मुकुट-मणि पहनाया जाता था। गर्भ गृह में उस समय सूर्य की किरण इसी झरोखे से आकर मणि पर टकराती थी, जिससे प्रकाश मिलता था। जब तक भगवान सूर्य आकाश में दि‍खते है, भगवान के मस्तक से प्रकाश निकलता रहता था। हालांकि, अब वह मुकुट और मणि दोनों ही नहीं हैं, लेकिन सूर्य की किरण अभी भी वैसे ही भगवान के माथे से टकराती है।
मंदिर में बने अखाड़े में रियाज करते थे राजगुरु

मंदिर के अंदर सीढ़ियों के ऊपर प्राचीन अखाड़ा भी है, जहां कभी राजगुरु आकर रियाज किया करते थे। इस मंदिर को उत्तर भारतीय और दक्षिण भारतीय शैली से बनाया गया है। पत्थर चुनार के हैं। शिखर से लेकर गर्भ गृह द्वार तक नक्काशी देखने को मिलती है। कई देवी-देवताओं की मूर्तियां बनी हैं।
आगे की स्लाइड्स में देखें मंदिर की 8 फोटोज...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: mysterious temples in varanasi
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Varanasi

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top