Home »Uttar Pradesh »News» Aarushi-Hemraj Double Murder Case In Pictures

पापा ने ही मारा था मासूम आरुषि को? तस्वीरों की जुबानी, पूरी कहानी

UP Desk/dainikbhaskar.com | Apr 24, 2013, 11:45 IST

  • नोएडा. '16 मई, 2008 की दरमियानी रात। नोएडा के जलवायु विहार स्थित फ्लैट में डॉ. राजेश तलवार टहल रहे थे। अचानक उन्हें अजीब आवाजें सुनाई देने लगीं। वह अपने नौकर हेमराज के कमरे की तरफ गए। वह वहां नहीं मिला। उनका माथा ठनका। वह अपनी इकलौती बेटी आरुषि के कमरे की तरफ भागे। आवाजें वहीं से आ रही थीं। दरवाजा अंदर से बंद नहीं था। धक्का देकर दरवाजा खोला, तो दंग रह गए। कमरे में बेटी आरुषि नौकर हेमराज के साथ बिस्तर पर आपत्तिजनक हालत में थी। बाप ने आपा खो दिया। घर में रखे गोल्फ स्टिक से दोनों पर करारा वार किया। हेमराज और आरुषि का सर फट गया। दोनों की मौत हो गई।' ऐसा कहना है आरुषि-हेमराज मर्डर मिस्ट्री की जांच कर रहे सीबीआई के एएसपी एजीएल कौल का।
    यदि कौल की दलील पर विश्वास करें तो बाप ने ही बेटी को मौत की नींद सुला दिया और मां ने इस पूरे वारदात में कंधे से कंधा मिलाकर साथ दिया। इस हत्याकांड के बाद दोनों के चेहरे पर शिकन तक नहीं दिखी। इतनी चालाकी से सब कुछ किया कि सीबीआई जैसी बड़ी जांच एजेंसी को भी यह मर्डर मिस्ट्री साल्व करने में इतना वक्त लग गया। दोनों ने जिस बेटी को मारा, उसी को इंसाफ दिलाने की लड़ाई लड़ने लगे। इस पूरी वारदात में यदि किसी ने कुछ गंवाया तो वो थे राजकुमार और कृष्णा। दोनों का करियर दांव पर लग गया और उन्हें पुलिसिया प्रताड़ना सहने के बाद वापस नेपाल जाना पड़ा।
    आइए तस्वीरों के जरिए जानिए इस मर्डर मिस्ट्री की पूरी कहानी...
  • 16 मई 2008: नोएडा के डॉक्टर दंपति राजेश तलवार और नूपुर तलवार की बेटी आरुषि तलवार उनके फ्लैट में मृत पाई गई। आरुषि का गला रेता हुआ था। पुलिस ने तलवार के घरेलू नौकर हेमराज (नेपाली नागरिक) पर हत्या का शक जताया। हेमराज को फरार माना गया।
    17 मई: नौकर हेमराज का शव भी तलवार की बिल्डिंग की छत पर पाया गया। तलवार दंपति ने हरिद्वार में आरुषि का अंतिम संस्कार किया।
  • 18 मई: पुलिस ने कहा कि दोनों हत्याएं बेहद सफाई से की गईं। साथ ही पुलिस ने माना कि हत्या में परिवार से जुड़े किसी व्यक्ति का हाथ है।
    19 मई: तलवार दंपति के पूर्व घरेलू नौकर विष्णु शर्मा पर भी पुलिस ने शक जाहिर किया।
  • 21 मई: उत्तर प्रदेश पुलिस के साथ ही दिल्ली पुलिस भी हत्या की जांच में शामिल हुई।
  • 22 मई: आरुषि की हत्या के ऑनर किलिंग होने का शक पुलिस ने जाहिर किया। इस पहलू से भी जांच शुरू की गई। पुलिस ने आरुषि के लगातार संपर्क में रहे एक नजदीकी दोस्त से भी पूछताछ की। इस दोस्त से आरुषि ने 45 दिनों में 688 बार फोन पर बात की थी।

  • 23 मई: आरुषि के पिता राजेश तलवार को पुलिस ने दोहरी हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया।

  • 1 जून: पुलिस की जांच पर सवाल उठने के बाद सीबीआई ने मामले की जांच की जिम्मेदारी संभाली।

  • 13 जून: राजेश तलवार के एक और घरेलू नौकर कृष्णा को सीबीआई ने गिरफ्तार किया।
    20 जून: राजेश तलवार का सीएफएसएल, दिल्ली में लाई डिटेक्शन टेस्ट।
  • 25 जून: डॉक्टर नुपुर तलवार का दूसरा लाई डिटेक्शन टेस्ट किया गया। उनका पहला लाई डिटेक्शन टेस्ट अधूरा रहा था।
    26 जून: सीबीआई ने इस मामले को ‘ब्लाइंड केस’ घोषित किया। आरुषि और हेमराज की हत्या के आरोप में गिरफ्तार राजेश तलवार को गाजियाबाद में विशेष मजिस्ट्रेट अदालत ने जमानत देने से इनकार किया।
  • 3 जुलाई: सुप्रीम कोर्ट ने आरोपियों के नारको परीक्षण को चुनौती देने वाली जनहित याचिका को खारिज किया।
    12 जुलाई 2008: राजेश तलवार जमानत पर गाजियाबाद के डासना जेल से रिहा।
  • 5 जनवरी, 2010: सीबीआई ने तलवार दंपति का नारको परीक्षण करने के लिए अदालत में अपील दायर की।
  • 29 दिसंबर, 2010: सीबीआई ने मामले को बंद करने के लिए कोर्ट में रिपोर्ट दाखिल की। तलवार परिवार के तीनों घरेलू नौकरों को सीबीआई ने क्लिनचिट दी। साथ ही, सीबीआई ने मर्डर में आरुषि के माता-पिता का हाथ होने का शक भी जताया।
  • 3 जनवरी, 2011: गाज़ियाबाद अदालत में सीबीआई की क्लोज़र रिपोर्ट की वैधता पर सुनवाई हुई।
    9 जनवरी, 2011: तलवार ने बेल पर 4 फरवरी तक स्टे लिया।
  • 25 जनवरी, 2011: राजेश तलवार पर गाजियाबाद की अदालत के परिसर में उत्सव शर्मा नाम के एक युवक ने हमला किया।
    9 फरवरी 2011: अदालत ने सीबीआई की क्लोजिंग रिपोर्ट का संज्ञान लिया। आरुषि के माता-पिता पर हत्या करने और साक्ष्यों को मिटाने का आरोप लगाया।
    23 मार्च, 2011: हेमराज की पत्नी खुमकला बंजाड़े सीबीआई कोर्ट पहुंची और अपना बयान दर्ज करने की अर्जी दाखिल की। खुमकला ने आरोप लगाया कि उसके पति की हत्या तलवार दंपति ने ही की थी।
    21 फरवरी, 2012: सीबीआई ने तलवार द्वारा केस को शिफ्ट करने संबंधी याचिका का विरोध किया।

  • 2 मार्च, 2012: सु्प्रीम कोर्ट ने केस को शिफ्ट करने संबंधी याचिका को खारिज कर दिया।
    15 मार्च, 2012: तलवार की रिव्यू याचिका को ओपन कोर्ट में सुनने के लिए सु्प्रीम कोर्ट सहमत।
    26 मार्च: नुपुर तलवार की याचिका पर सु्प्रीम कोर्ट ने सीबीआई को नोटिस दिया।
    3 अप्रैल, 2012: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने राजेश तलवार को नोटिस जारी किया।

    27 अप्रैल, 2012: सुप्रीम कोर्ट ने नुपुर तलवार को सरेंडर करने के लिए आदेश दिया।
    30 अप्रैल, 2012: नुपुर तलवार ने कोर्ट में सरेंडर किया।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Aarushi-Hemraj double murder case in pictures
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top