Home »Uttar Pradesh »News» Amazing Pictures Of Dangerous Indian Bridge

यहां 'यमराज' से होता है साक्षात्कार, देखिए हैरतअंगेज तस्वीरें

आशीष राय | Dec 17, 2012, 00:10 IST

  • लखनऊ. यूपी की सड़कों पर एक तरफ जहां फरारी दौड़ती है, वहीं कुछ ऐसे भी रास्ते हैं जहां पर पैदल चलना भी मुश्किल है। यहां लोग अपनी जान हथेली पर लेकर चलते हैं। जी हां, हम बात कर रहे हैं एक ऐसे रास्ते की जिसे मौत का रास्ता कहा जाता है। यहां हर रोज लोगों से यमराज से साक्षात्कार होता है।
    बस्ती जिले के गौर ब्लाक के उत्तरी छोर पर अईला घाट पर बने लकड़ी के इस पूल पर जिंदगी और मौत के बीच महज चंद कदमों का फासला होता है। जरा सी चूक जिंदगी को खत्म कर सकती है। यह जानते हुए भी लोग उस पर इसलिए चलते हैं क्योंकि उनके पास उसका विकल्प नहीं है। शासन और प्रशासन इस मामले में अपनी आंखें बंद किए हुए है।
    व्यस्था की पोल-खोल करती खतरनाक पुल की हैरतअंगेज तस्वीरें...
  • टूटे हुई कलडिओं को जोड़ कर उस पर बांस की सहायता से नदी पर बने पुल से बस्ती के लोग रोज आते-जाते हैं। इस पर हादसों की चिंता किए बिना बच्चे बूढ़े और महिलाएं इस पर चलते हैं। पानी में खड़े होने की चलते इसकी नींव भी कमजोर पड़ चुकी है। कभी भी एक बड़ा हादसा हो सकता है।

  • इस पुल को देखकर आप भले ही अचम्भें में पड़ गए होंगे, लेकिन हुक्मरानों पर कोई असर नही पडता। इस पुल की हालत देख ऐसा लगता है कि यहां जीवन की डोर यमराज के हाथ में है। इस पुल से गुजरने वाले लोगो की सांसे तब तक टंगी रहती है जब तब की पूरा पार नही कर लेते।

  • कूवानों नदी पर बना यह लकडी का पुल काफी समय से जर्जर हो गया है। इस पुल पर कई बार हादसे भी हो चुके है। इसे देखते हुए मौजूदा विधायक एवं पूर्व मंत्री रामप्रसाद चैधरी के प्रयासों द्वारा बगल में पक्के पुल का निर्माण शुरू हुआ।

  • विधायक का कहना है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती ने अपने जन्मदिन पर क्षेत्रीय लोगों के लिए तोहफा के रूप में दिया था, लेकिन किन्ही कारणों से वर्तमान समय में पुल का निर्माण ठप हो गया है।

  • इस पुल को लेकर सेतु निगम के अधिकारियों का कहना है कि वन विभाग द्वारा वनसंरक्षण अधिनियम के अन्तर्गत पक्के पुल का निर्माण कार्य रोक दिया गया है। अब निर्माण कार्य शुरू होने में कुछ देरी लग सकती है।

  • पुराने लकडी के पुल के मरम्मत के बारे में लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियन्ता डीपी राय का कहना है कि पुराने लकडी के पुल की मरम्मत करने के मद में धन का अभाव है। धन आने पर इसका मेन्टीनेन्स किया जा सकता है।

  • पुल पर सफर करने वाले स्थानीय लोगों का कहना है कि महज चार किमी की दूरी पर स्थित सोनहा कस्बे में पहुंचने के लिए इस पुल से होकर गुजरना पडता है।

  • संतोष वर्मा का कहना है कि अगर जन प्रतिनिधि और शासन प्रशासन इस पुल की तरफ ध्यान नही दिया तो एक न एक दिन बडा हादसा होगा। यह पुल फैजाबाद से सिद्धार्थनगर को जोडता है। इसीलिए वह इस पल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Amazing pictures of dangerous indian bridge
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top