Home »Uttar Pradesh »Meerut» In This Village Girls Demand Guns As Dowry

यहां दहेज में लड़कियां मांगती हैं बंदूक, देखिए तस्वीरें

dainikbhaskar.com | Jan 07, 2013, 00:10 IST

  • बागपत. खाप पंचायतों के तुगलकी फरमानों के लिए मशहुर हो चुके इस इलाके की कहानी बहुत दिलचस्प है। यहां की बेटियां शादी में दहेज़ की जगह बंदूक मांगती हैं। जी हां, जिले के जौहड़ी गांव की लड़कियों को सिर्फ बंदूकों से प्यार है। इस गांव की लड़कियां मायके से ससुराल विदा होते वक्त अपने परिवार वालों से बंदूके मांग रही हैं।
    तस्वीरों की जुबानी, इस अनोखे गांव की कहानी...
  • बताते चलें कि जौहड़ी गांव की लड़कियां दहेज़ पर लगाम लगाने के लिये शादी में सोना, चांदी और गाड़ियां नहीं बल्कि बंदूके मांग रही हैं। इस गांव में 20 से ऊपर इंटरनेश्नल और 50 से ऊपर नेशनल शूटर हैं। यहां की हर लड़की निशानेबाज़ बनना चाहती है।

  • शूटरों को ट्रेनिंग देने वाले कोच फारुख ने बताया कि प्रकाशी दादी और चंद्रों दादी ने इसकी शुरुआत की थी। अंतराष्ट्रीय शूटर वर्षा की शादी में प्रकाशी दादी ने बंदूक दी थी, ताकि पोती ससुराल में जाकर भी प्रैक्टिस कर सके। सीमा को भी शादी के दौरान घर वालों ने बंदूक दी थी। शूटिंग के लिए बंदूके काफी महंगी मिलती हैं। इसकी वजह से परिवार के लोग दहेज़ की जगह बंदूक देना शुरू कर दिए हैं।

  • बुजुर्ग हो चली इंटरनेशनल खिलाड़ी प्रकाशी दादी ने बताया कि शादी में बंदूक इस लिए दिया जा रहा है, ताकि दहेज़ पर अंकुश लग सके। लड़कियां अपने पैरों पर खड़ी हो सकें। ससुराल जाने के बाद भी वो अपना प्रैक्टिस चालू रख सकें। गांव के साथ देश का नाम रोशन करें। नेशनल प्लेयर सोनिया ने बताया कि उन्होंने भी शादी पर परिवार से बंदूक मांगी है।

  • शूटर दीक्षा का कहना है कि दहेज जैसी परम्परा पर लगाम लगाने का इससे अच्छा तरीका नहीं हो सकता। दहेज़ में किसी भी सामान के जगह बंदूक कई लोग स्वीकार भी कर रहे हैं। कई शादियों में केवल बंदूक ही दिया गया। यह लड़की को आत्मनिर्भर बनाने की एक पहल मात्र है।

  • कोच राजपाल का भी मानना है कि अंतराष्ट्रीय खिलाडी वर्षा, सीमा जैसी सोच सबकी होनी चाहिये। इससे शादी के बाद भी प्रैक्टिस चलती रहेगी। सबसे बड़ी बात की दहेज़ पर रोक लग जाएगी।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: in this village girls demand guns as dowry
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Meerut

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top