Home »Union Territory »Chandigarh »News » Do Not Hit The Salute One Days Salary Cut

सैल्यूट नहीं मारा तो तीन लोगों को 10 दिनों का ब्रेक देकर काटी एक दिन की सैलरी

bhaskar news | Mar 21, 2017, 06:55 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
सैल्यूट नहीं मारा तो तीन लोगों को 10 दिनों का ब्रेक देकर काटी एक दिन की सैलरी
चंडीगढ़ ।सिक्योरिटी स्टाफ के 3 कर्मचारियों ने सिक्योरिटी इंचार्ज डॉ. सुखविंदर सिंह को सैल्यूट नही मारा तो सिक्योरिटी स्टाफ को 10 दिन का ब्रेक दे दिया गया। कांट्रैक्ट पर काम करने वाले सिक्योरिटी स्टाफ की एक दिन की सैलरी भी काट दी गई। सिक्योरिटी स्टाफ ने अपनी कंपनी के कार्डिनेटर से पूछा तो उसने बताया कि सिक्योरिटी इंचार्ज की शिकायत पर ऐसा किया गया है।
स्टाफ ने जब इस बारे में सुखविंदर से बात की तो उन्हें बताया गया कि सैल्यूट न मारने के लिए उनकी सैलरी काटी गई है। सैल्यूट मारना उनकी ड्यूटी का हिस्सा है लेकिन उन्होंने सैल्यूट नहीं मारा। यह सब हुआ पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी में कुछ ऐसा हुआ। पेक इंप्लाॅइज यूनियन ने कांट्रैक्ट कर्मचारियों के साथ हुए इस बर्ताव की शिकायत चंडीगढ़ के असिस्टेंट लेबर कमिश्नर को की गई है।
यूनियन के प्रेजिडेंट हरिमोहन का आरोप है कि आउटसोर्स करके रखे गए सिक्योरिटी स्टाफ के साथ गलत बर्ताव हो रहा है। कांट्रैक्ट स्टाफ ने जब सिक्योरिटी इंचार्ज से सैल्यूट न करने जैसी वजह के पीछे अपनी मजबूरी बताई तो सिक्योरिटी इंचार्ज ने उनको किसी हायर अथॉरिटी को शिकायत करने की सूरत में सर्विस से टर्मिनेट किए जाने की धमकी दी।
हम सैलरी नहीं काट सकते: डॉ. सुखविंदर सिंह
पेक के सिक्योरिटी इंचार्ज डॉ. सुखविंदर सिंह का कहना है कि ऐसा कुछ भी नही है। ये इंप्लाइज आउटसोर्स किए गए हैं। हम इनकी सैलरी कैसे काट सकते हैं क्योंकि सैलरी तो कांट्रैक्टर देता है। ब्रेक देने का फैसला भी कांट्रेक्टर ही करता है। हम तो अगर कोई सिक्योरिटी इंप्लाइज ड्यूटी के वक्त मोबाइल यूज करता या अनुशासन भंग करता पाया जाता है तो हम सिक्योरिटी कंपनी के कार्डिनेटर को शिकायत करते हैं। लेकिन हम सीधे तौर पर कोई भी एक्शन नहीं लेते।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
DBPL T20
Web Title: Do not hit the salute one days salary cut
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top