Home »Union Territory »New Delhi »News» All-New VVPAT Machines For 2019 Election

वोटर अपने दिए गए वोट की देख सकेगा पर्ची, VVPAT मशीन EVM से जुड़ेगी

bhaskar news | Apr 20, 2017, 08:28 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
वोटर अपने दिए गए वोट की देख सकेगा पर्ची, VVPAT मशीन EVM से जुड़ेगी
नई दिल्ली.अगले लोकसभा चुनाव में हर वोटर अपने दिए गए वोट की पर्ची देख सकेगा। उसके जरिए वो यह जान या देख सकेगा कि उसने जिस उम्मीदवार को वोट दिया है, वह उसी को मिला है या नहीं। इसके लिए चुनाव आयोग ईवीएम के साथ लगने वाली वीवीपैट खरीदेगा। आयोग ने इसके लिए सरकार से 3,174 करोड़ रुपए मांगे थे। बुधवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इसे मंजूरी दे दी।

पिछले दिनों ईवीएम से छेड़छाड़ की संभावनाओं पर विवाद के बाद चुनाव आयोग ने केंद्र सरकार को चिट्‌ठी लिखी थी और 2019 के लोकसभा चुनाव में वीवीपैट मशीनों के इस्तेमाल की याद दिलाई थी। इस खरीद के बाद हर ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीन जोड़ी जाएगी। चुनाव आयोग ने जून 2014 में तय किया किया था कि 2019 के चुनाव में सभी मतदान केंद्रों पर वीवीपैट का इस्तेमाल किया जाएगा। यह फैसला देश में चुनाव सुधार की दिशा में महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। क्योंकि वीवीपैट मशीनों के इस्तेमाल से लोकसभा और विधानसभा चुनावों में पूरी तरह पारदर्शिता आने की उम्मीद है।
बीईएल ने बनाई वीवीपैट, 4 साल पहले हुआ था इस्तेमाल
देश में भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड और इलेक्ट्रॉनिक कॉरपोरेशन आफ इंडिया लिमिटेड ने वीवीपैट मशीन 2013 में डिजाइन की। सबसे पहले इसका इस्तेमाल नगालैंड के चुनाव में 2013 में हुआ था। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने वीवीपैट मशीन बनाने और इसके लिए पैसे मुहैया कराने के आदेश केंद्र सरकार को दिए।

7 सेकंड तक दिखेगी वीवीपैट की पर्ची
ईवीएम में कोई भी बटन दबाने के बाद उससे जुड़ी वीवीपैट पर्ची निकलेगी। यह सात सैकंड तक वोट देने वाले को दिखेगी। वह देख सकेगा कि जो बटन उसने दबाया है वोट उसी को मिला है या नहीं। जिसे वोट दिया है वीवीपैट पर उसका नाम और चुनाव चिन्ह छप कर निकलेगा।

क्या होगा इस पर्ची से :
-मतगणना के समय ईवीएम में खराबी की शिकायत मिलती है या मतगणना में गड़बड़ी की शिकायत होती है तो इन पर्चियों को गिना जाएगा।
- बीईएल ने 2016 में 33,500 वीवीपैट मशीनें बनाईं। इनका इस्तेमाल इसी साल गोवा विधानसभा चुनाव में किया गया।
- हाल में हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में 52,000 वीवीपैट का इस्तेमाल किया गया।
- यूपी की 403 विधानसभा सीटों में से 20 पर वीवीपैट वाली ईवीएम के जरिए मतदान हुआ था।
5 राज्यों में चुनावी नतीजों के बाद हुआ था विवाद
पिछले दिनों पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद विपक्षी दलों ने ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत की थी। उन्होंने भविष्य में बैलट पेपर के जरिए चुनाव की मांग भी की थी। कांग्रेस ने कहा था कि सरकार को वीवीपैट के लिए जल्द ही चुनाव आयोग को रकम जारी करनी चाहिए और जब तक सभी ईवीएम के साथ वीवीपैट नहीं लग जाते, तब तक चुनाव के लिए बैलेट पेपर का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। कांग्रेस के रुख का समर्थन आम आदमी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी और तृणमूल कांग्रेस ने भी किया है।
2019 में 16 लाख वीवीपैट की जरूरत पड़ेगी
देश में लोकसभा चुनाव के दौरान करीब 16 लाख ईवीएम की जरूरत पड़ती है। लिहाजा इतनी ही वीवीपैट मशीनों की जरूरत भी होगी। इसी के लिए चुनाव आयोग ने सरकार से 3,174 करोड़ रुपए की मांग की थी। अभी चुनाव आयोग के पास कितनी वीवीपैट मशीनें हैं, इसकी जानकारी नहीं है। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को भारतीय चुनाव आयोग और दिल्ली राज्य चुनाव आयोग को नोटिस जारी कर दो दिन में वीवीपैट की उपलब्धता की जानकारी मांगी है।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
DBPL T20
Web Title: All-New VVPAT Machines For 2019 Election
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top