Home »Union Territory »New Delhi »News » How The Months Of The Year Got Their Name

साल के 12 महीनों को ऐसे मिले उनके नाम, हर एक के पीछे है दिलचस्प वजह

dainikbhaskar.com | Jan 04, 2017, 10:43 AM IST

नई दिल्ली. 2017 का आगाज हो चुका है। कई जगह न्यू ईयर पार्टी का खुमार अभी भी नहीं उतरा है। दरअसल बचपन से ही हमें साल के 12 महीने के नाम याद करवाए जाते हैं। लेकिन कभी आपने सोचा है कि इन 12 महीनों के नाम का मतलब क्या है? वहीं इन्हें ये नाम किसने दिया। dainikbhaskar.com आज आपको यही बताने जा रहा है। 8वीं सदी में बने रोमन और ग्रीक कलेंडर हैं आधार...
- ईसा पूर्व 8वीं सदी में बने रोमन और ग्रीक कलेंडर ही आज के कलेंडर का आधार है ।
- वहीं, लैटिन कलेंडर में सबसे पहले 10 महीने होते थे और मार्च से नए साल की शुरुआत होती थी।
- उस समय साल के आखिरी चार महीने सितंबर (7वां महीना), अक्टूबर (8वां महीना), नवंबर (9वां महीना), दिसंबर (10वां महीना) हुआ करते थे।
- ईसा पूर्व पहली सदी में जनवरी और फरवरी इस कलेंडर में जोड़े गए। जनवरी महीने का नाम दरवाजों और गेट के ग्रीक देवता 'जेनस' के नाम पर है।
आगे की स्लाइड्स में जानिए, साल के कैसे पड़े 12 महीनों के नाम और उनके पीछे की कहानी...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: How The Months Of The Year Got Their Name
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top