Home »Union Territory »New Delhi »News» Sarabjit Singh Inside Kot Lakhpat Jail In Pakistan

जब कबड्डी का खिलाड़ी गलती से पहुंचा पाकिस्तान, फिर उस पर किए गए ऐसे जुल्म

bhaskar news | Mar 19, 2017, 23:46 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
नई दिल्ली. कबड्डी का बेहतरीन खिलाड़ी गलती से नशे में पाकिस्तान के अंदर चला गया। जिसके बाद वहां की फौज ने उसे पकड़ लिया और बिना सुनवाई के कोर्सट में पेश कर दिया और कोर्ट ने भी सजा-ए-मौत की सजा सुना दी। हम आपको बता दें कि इस खिलाड़ी का नाम सरबजीत सिंह था, जो कि 12 th तक पढ़ाई करने के बाद अपने परिवार के साथ भारत-पाकिस्तान सीमा पर स्थित भिखीविंड में रहता था। ये थी सरबजीत की पूरी कहानी...
- सरबजीत सिंह का जन्म 1963 में भारत के पंजाब के गांव भीखीविंद, जिला तरनतारन में हुआ था। उनके पिता श्री सुलक्षण सिंह ढिल्लों उत्तर प्रदेश रोडवेज में नौकरी करते थे।
- सरबजीत सिंह कबड्डी के अच्छे खिलाड़ी थे।
- 1984 में सुखप्रीत कौर से शादी हुई और उनकी दो बेटियां पूनमदीप और स्वपनदीप थीं।
- सरबजीत की बहन का नाम दलबीर कौर है, जिन्होंने पाकिस्तान से अपने भाई को छुड़ाने के लिए कोशिश की थीं।
शरीर में अंदर तक डाल देते थे गर्म लोहे की रॉड...
- 2013 में लाहौर में कुछ कैदियों ने ईंटो, लोहे की सलाखों और रॉड से सरबजीत सिंह पर हमला कर दिया था।
- हमले से वे कोमा में भी चले गए और उनकी रीड की हड्डी टूट गई थी।
- घंटों तक जुर्म कबूलने के लिए आंख पर पट्टी बांध कर चारों तरफ से मारा जाता था।
- पाकिस्तान के जिन्ना हॉस्पिटल में उनके शरीर के मुख्य अंग निकाल दिए गए थे।
- बेहद गर्म लाल सरिया करीब एक इंच अंदर घुसा दिया गया था। मानसिक और शरीरिक प्रताड़ता से याददाश्‍त कमजोर कर दी गई थी ।
- नजर कमजोर हो जाने के बाद भी सरबजीत को चश्मा नहीं दिया गया और जेल में ऐसा खाना देते थे कि जानवर भी ना खाए।
सरबजीत ने बहन को चिट्ठी में लिखा...
- 2-3 महीनों से खाने में कुछ मिलाकर दिया जा रहा है, खाने से मेरा शरीर गल रहा है।
- मेरे बाएं हाथ में बहुत दर्द हो रहा है और दाहिना पैर लगातार कमजोर होता जा रहा है,खाने को ना तो खाना संभव है, ना खाने के बाद पचाना। यहां का खाना जहर जैसा है।
- जब भी मेरा दर्द बर्दाश्त से बाहर होता है और मैं जेल अधिकारियों से दर्द की दवा मांगता हूं तो मेरा मजाक उड़ाया जाता है।
- मुझे पागल ठहराने की पूरी कोशिश की जाती है. मुझे एकांत कोठरी में डाल दिया गया है और मेरे लिए रिहाई का एक दिन भी इंतजार करना मुश्किल हो गया है'.
आगे की स्लाइड्स में देखिए सरबजीत सिंह की पूरी कहानी...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Sarabjit Singh inside Kot Lakhpat jail in Pakistan
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top