Home »Union Territory »New Delhi »Sports» Hockey Was Also Facing The Threat

भारत के राष्ट्रीय खेल हॉकी पर भी मंडरा रहा था खतरा!

Bhaskar News | Feb 14, 2013, 07:31 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
भारत के राष्ट्रीय खेल हॉकी पर भी मंडरा रहा था खतरा!

नई दिल्ली.भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी भी ओलिंपिक से बाहर होते-होते रह गया। अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति (आईओसी) के कार्यकारी बोर्ड की लुसाने में हुई बैठक में चार राउंड की वोटिंग के बाद अंतत: हॉकी को संजीवनी मिली।

बैठक में कुश्ती को बाहर करने के लिए सबसे ज्यादा वोट पड़े। बैठक में कुश्ती, आधुनिक पेंटाथलन, हॉकी, केनोइंग और ताइक्वांडो में से किसी एक को ओलिंपिक से बाहर करने के मुद्दे पर चार राउंड वोङ्क्षटग करनी पड़ी। आईओसी के अध्यक्ष जैक्स रोगे ने अपना मतदान नहीं किया।

कुश्ती ऐसे हुआ बाहर : केनोइंग पहले राउंड की वोङ्क्षटग में सुरक्षित निकल गया। अगले राउंड में ताइक्वांडो भी सुरक्षित बच गया। अब तीन खेल बचे थे जिनमें से एक को बाहर होना था।

कुश्ती को बाहर करने के लिए सबसे ज्यादा आठ वोट पड़े जबकि हॉकी और पेंटाथलन के विरोध में तीन-तीन वोट पड़े। इस तरह कुश्ती को ओलिंपिक से बाहर करने की सिफारिश कर दी गई जबकि हॉकी और पेंटाथलन बच गए।

इसलिए बच गई हॉकी :

हॉकी के पक्ष में एक बड़ी बात यह रही कि उसके हाल के पदक विजेताओं में जर्मनी,स्पेन,ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन जैसे देश शामिल रहे।

पेंटाथलन के पक्ष में भी यह तथ्य काम कर गया कि आईओसी के पूर्व अध्यक्ष जुआन एंटोनियो के पुत्र जुआन एंटोनियो जूनियर मॉडर्न पेंटाथलन महासंघ के उपाध्यक्ष भी हैं और आईओसी कार्यकारी बोर्ड में भी शामिल हैं।

कार्यकारी बोर्ड में ये हैं सदस्य :

ईओसी कार्यकारी बोर्ड में बेल्जियम के रोगे के अलावा ङ्क्षसगापुर, जर्मनी के दो प्रतिनिधि उपाध्यक्ष एवं सदस्य, मोरक्को, ब्रिटेन,ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, स्वीडन, चीनी ताइपे, स्विट्जरलैंड, आयरलैंड, स्पेन, यूक्रेन और ग्वाटेमाला के सदस्य शामिल थे। इनमें से केवल जर्मनी, यूक्रेन और स्वीडन के पहलवानों ने पिछले २० वर्षों में पदक जीते हैं।

'फेसबुक के सहारे जुटाएंगे कुश्ती के लिए समर्थन': ओलिंपिक खेलों से कुश्ती हटाने की सिफारिश का अंतरराष्ट्रीय कुश्ती जगत ने कड़ा विरोध किया है।

अमेरिकी कुश्ती के कार्यकारी निदेशक रिच बेंडर ने कहा 'हमने ओलिंपिक में कुश्ती को बनाए रखने पर लोगों का समर्थन हासिल करने के लिए फेसबुक पेज भी बनाया है जिसका नाम है 'कीप रेसङ्क्षलग इन द ओलिंपिक'।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Hockey was also facing the threat
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Sports

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top