Chhatisgarh » Raipur » परिवार नियोजन स्टोरी

परिवार नियोजन स्टोरी

rakesh malviya | Dec 11, 2012, 17:36 PM IST

रायपुर। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि राज्य में 22 प्रतिशत महिलाएं कंडम जैसे सुरक्षित प्रसाधन के बारे में जानती ही नहीं हैं, वहीं दूसरी और यह बात भी हैरान करने वाली है कि वह महिलाओं की नसबंदी के बारे में शतप्रतिशत महिलाओं को जानकारी है। राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण तीन के नतीजों पर गौर करें तो राज्य में परिवार नियोजन के बारे में रोचक जानकारियां सामने आती हैं।

आगे की स्लाइड में पढ़िए इस सर्वेक्षण के दिलचस्प नतीजों के बारे में जानकारी
छत्तीसगढ़ में 22 प्रतिशत महिलाएं कंडम के बारे में नहीं जानती हैं। साल 2002 तक केवल 55 प्रतिशत महिलाएं जानती थीं कि कंडम क्या चीज है। मतलब 45 प्रतिशत तब भी अज्ञान थीं। आश्चर्य की बात यह है कि शत प्रतिशत महिलाएं महिला नसबंदी के बारे में जानती थीं।
कंडोम के इस्तेमाल पर जब लोगों से सवाल किया गया कि उन्होंने अंतिम बार सेक्स करते समय कंडम का इस्तेमाल किया था या नहीं। इस सवाल के जवाब में 5 प्रतिशत मर्दों ने कहा कि उन्हेांने कंडोम इस्तेमाल किया था, जबकि अंतिम बार सेक्स के समय कंडोम इस्तेमाल करने वाली महिलाओं का प्रतिशत केवल तीन था। इससे समझा जा सकता है कि कंडोम यूज करने के मामले में छत्तीसगढ़ में औरतों से आगे मर्द हैं।
राज्य के शहरों में रहने वाली 65 प्रतिशत महिलाएं जहां सेक्स के समय किसी भी तरह के साधन का इस्तेमाल कर रही हैं वहीं गांवों में केवल पचास प्रतिशत महिलाएं सुरक्षित सेक्स को अपना रही हैं।
राज्य में वह महिलाएं प्रसाधनों का इस्त्ेमाल अधिक कर रही हैं जिनके एक पुत्र है। इससे समझा जा सकता है कि लड़कों की चाह में महिलाएं अधिक संतान पैदा कर रहे हैंं।
आईयूडी के बारे में भी यहां महिलाएं बहुत अज्ञान हैं अब भी 41 प्रतिशत महिलाओं ने परिवार नियोजन के इस तरीके के बारे में सुना भी नहीं है। जाहिर है इस्तेमाल करने वालों का प्रतिशत भी बहुत कम होगा।
मजे की बात यह है कि परिवार नियोजन के लिए अपनाई जाने वाली पिल्स की पहुंच गांव—गांव तक हो गयी है। ग्रामीण क्षेत्र की म​हिलाएं बच्चों में अंतर रखने के लिए पिल्स का इस्तेमाल कर रही हैं।
88 प्रतिशत महिलाएं परिवार नियोजन के बारे में इन पिल्स के बारे में जानती हैं और उनका उपयोग कर रही हैं।
सर्वे में एक बात यह भी सामने आई कि किसी भी तरह के ​साधन का इस्तेमाल करने वाली महिलाओं का प्रतिशत 53 है।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: परिवार नियोजन स्टोरी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Raipur

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top