Home »Chhatisgarh »Raipur »News» Ramnami Community Of Chhattisgarh

झोपड़ी में रहने इन लोगों के सामने बड़े-बड़े टैटू लवर हैं फेल, जानिए इसके पीछे की वजह

dainikbhaskar.com | Apr 12, 2017, 15:16 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

इस समाज की अलग पहचान है।

रायपुर।छत्तीसगढ़ के रामनामी संप्रदाय के लिए राम का नाम उनकी संस्कृति का हिस्सा है। एक ऐसी संस्कृति, जिसमें भगवान राम के नाम को कण-कण में बसाने की परंपरा है। इसी परंपरा के तहत इस संप्रदाय से जुड़े लोग अपने पूरे शरीर पर राम-राम का गुदना (स्थाई टैटू) बनवाते हैं। राम-राम लिखे कपड़े पहनते हैं। इतना ही नहीं घरों की दीवारों पर राम-राम लिखवाते हैं, आपस में एक दूसरे का अभिवादन राम-राम कह कर करते हैं, यहां तक कि एक-दूसरे को राम-राम के नाम से ही पुकारते भी हैं। कैसे शुरू हुई परंपरा...
- जांजगीर-चांपा के एक छोटे से गांव चारपारा में एक दलित युवक परशुराम द्वारा 1890 के आसपास स्थापित रामनामी संप्रदाय की स्थापना को भक्ति आंदोलन से जोड़ा जाता है।
- बताया जाता है कि एक समय में मंदिरों पर सवर्णों ने धोखे से कब्जा कर लिया और इस समाज के लोगों को भगवान राम से दूर करने की कोशिश की गई। तब से इस समाज के लोगों ने मंदिर जाना छोड़ दिया।
- इसी के बाद से ये परंपरा शुरू हुई, समाज के लोगों ने मंदिर जाना बंद किया और अपने शरीर के रोम-रोम पर राम गुदवा लिया। गांव के बुजुर्ग कहते हैं कि अब हमें राम से कोई कैसे दूर कर सकता है। ये तो हमारे शरीर में बस गए हैं।
- इस संप्रदाय में किसी भी धर्म, जाति का व्यक्ति दीक्षित हो सकता है। रहन-सहन और बातचीत में राम नाम का अधिकतम उपयोग करने वाले रामनामियों के लिए शरीर पर राम नाम गुदवाना जरूरी है।
- अपने शरीर के किसी भी हिस्से में राम नाम लिखवाने वालों को रामनामी, माथे पर दो राम नाम अंकित करने वाले को शिरोमणी, पूरे माथे पर राम नाम अंकित करने वाले को सर्वांग रामनामी और शरीर के प्रत्येक हिस्से में राम नाम अंकित कराने वालों को नखशिख रामनामी कहा जाता है।
- लेकिन नई पीढ़ी इस परंपरा से दूर होती जा रही है। नयी पीढ़ी सिर्फ माथे या हाथ पर एक या दो बार राम-राम गुदवा कर किसी तरह अपनी परंपरा को निभा रही है।

आगे की स्लाइड्स में क्लिक करके देखिए खबर की और Photos.....
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Ramnami community of Chhattisgarh
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top