Home »Chhatisgarh »Raipur »News» Success Story Of CG Board Class 10th Rankers

हॉकर है छत्तीसगढ़ बोर्ड 10th का ये रैंकर, मां घर-घर जाकर बेचती है सब्जी

Brijesh Upadhyay | Apr 22, 2017, 10:09 IST

  • दोस्त के साथ रिजल्ट की खुशियां दोस्तों में बांटने जाते लकी।
    रायपुर। छत्तीसगढ़ बोर्ड के 10th का रिजल्ट आते ही ऐसे-ऐसे होनहारों के चेहरे सामने आए जिन्हें देख लोगों ने कहा कि ईमानदारी से मेहनत की जाए तो रिजल्ट वाकई अच्छा आता है। ऐसा ही एक चेहरा है लकी देवांगन का। लकी अल सुबह शहर के चौक पर जाते हैं और लोगों के घरों तक न्यूज पेपर पहुंचाते हैं। जानिए इस होनहार की पूरी कहानी...
    - CG बोर्ड के 10वीं के एग्जाम में 5th रैंक हासिल करने वाले लकी देवांगन की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है।
    - लकी अपनी किताबों और कॉपी के लिए अल सुबह पेपर बांटने का काम करते हैं। ये रकम भी इतनी नहीं हो पाती कि ये कोचिंग कर पाएं, हां किताब और कॉपी का खर्च निकल जाता है।
    - लकी की मां कल्याणी देवांगन घर-घर घूमकर सब्जी-भाजी बेचती हैं।
    - पिता डेरहा देवांगन कारपेंटरी का काम करते हैं। लकी के एक बहन और एक भाई हैं।
    - लकी के पिता पहले रिक्शा चलाते थे। कारपेंटरी के काम में मिलने वाले पैसे से बच्चों की परवरिश के साथ उनकी पढ़ाई करा रहे हैं।
    - इलाके में हर कोई इस बात से खुश है कि अल सुबह घरों में न्यूज पेपर पहुंचाने वाले लकी ने दुर्ग शहर का नाम रोशन कर दिया है।

    3 idiots फिल्म से हैं इंस्पायर

    - लकी थ्री इडियट से इंस्पायर हैं। ये बताते हैं कि सब्जेक्ट्स को रटने की बजाय ये समझने पर जोर देते हैं।
    - किसी भी सब्जेक्ट को ये समझते हैं जिससे वो बात इनके जेहन में बैठ जाती है। ये टेक्नीक इन्होंने थ्री इडियट फिल्म देखकर ही सीखी थी।
    - लकी ने बताया कि फिल्म थ्री इडियट से उन्होंने सीखा है कि काम वही करना चाहिए जिसमें रुचि हो।
    - लकी इंजीनियर बनना चाहते हैं। इनकी मैथ में काफी रुचि है।

    फोटो : कोमल वर्मा/ प्रवीण देवांगन/ अजय देवांगन

    आगे की स्लाइड्स में क्लिक करके जानिए CG बोर्ड टॉपर का सक्सेज मंत्रा
  • 10वीं में टॉप करने वाले धमतरी के चेतन अग्रवाल।
    मोबाइल से दूर रहने वाले इस टॉपर को यूं मिली बधाईयां

    सीजी बोर्ड में 10वीं के टॉपर चेतन अग्रवाल यूं तो मोबइल से दूर रहते हैं।
    एकाग्रचित्त होकर बिना प्रेशर लिए 4-6 घंटे की पढ़ाई से इन्होंने ये मुकाम हासिल किया है।
    मोबाइल से दूर रहने वाले चेतन के लिए पिता के मोबइल पर 250 से ज्यादा कॉल्स आईं और वे रिजल्ट आने के बाद से कई घंटों तक फोन पर ही बिजी रहे।
    धमतरी जिले के कुरूद ब्लाक के रहने वाले चेतन इंजीनियर बनना चाहते हैं।
    ध्यान देने वाली बात है कि चेतन ने सबसे ज्यादा 98.17 अंक हासिल कर सीजी बोर्ड को टॉप किया है।
    आगे की स्लाइड्स में क्लिक करके देखिए खबर की और Photos…
  • 10वीं का रिजल्ट घोषित होने के बाद रायपुर के स्कूलों में ऐसा था माहौल।
  • रायपुर में रिजल्ट की खुशी का इजहार करती गर्ल्स।
  • लकी देवांगन।
  • राजधानी में रिजल्ट के बाद का नजारा।
  • रिजल्ट की खुशी।
  • अपनी फैमिली के साथ CG बोर्ड का टॉपर।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: success story of CG Board class 10th rankers
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top