Home »Union Territory »Chandigarh »News » 3 Crore Fake Note In Chandigarh, Know The A To Z Story In Hindi

जानिए, 3 करोड़ के नकली नोट की A टू Z कहानी, लड़की के घर मिला ताला

dainikbhaskar.com | Dec 02, 2016, 12:31 PM IST

अभिनव और विशाखा को गिरफ्तार किया।

मोहाली.मोहाली से पकड़ी गई 42 लाख की 2000-2000 के नोटो की जारी करंसी के मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। जहां से आरोपियों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया है। वहीं, पुलिस ने नकली नोट बनाने वाले प्रिंटर, कटर नोट बनाने वाले पेपर को बरामद कर लिया है। 20 साल की लड़की के साथ मिलकर तीन करोड़ रुपए के नोट छाप डाले थे...

आर्मी फैमिली से हैं संबंध...

-आरोपी आर्मी फैमिली से संबंध रखने वाला 21 साल का बीटेक स्टूडेंट अभिनव वर्मा है।
- उसने अपनी 20 साल की कजिन विशाखा वर्मा के साथ मिलकर पहले तो 2000-2000 के करीब तीन करोड़ कीमत के नए नोट स्कैन किए।
- फिर लोगों से पुराने नोट लेकर उन्हें नए नोटों का झांसा देकर नकली नोट दे दिए।
- इस तरह उन्होंने 2 करोड़ रुपए मार्केट में चला दिए।
- इस काम के लिए उन्होंने 30 फीसदी कमीशन भी लिया।

मास्टरमाइंड था अभिनव कलर करेक्शन का रखा पूरा ध्यान...

-इस मामले में गिरफ्तार किया गया मास्टरमाइंड अभिनव बहुत ही शातिर किस्म का युवक है।
-वह पीएम नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया मुहिम में काम कर रहा था।
-जैसे ही नोटबंदी के फैसले का ऐलान हुआ तो उसने अपना दिमाग चलाया और नोट बनाने की सोची।
-पहले अभिनव पर पूरी महनत करके प्रिंटर स्केनर में कलर करेक्शन करके नोटो के जैसे हूबहू दस नोट छापे।
-जब वो नोट चल गए तो उसके होंसले और बुलंद हो गए और उसने तीन करोड़ की करंसी छापी।
- इसमें से वह दो करोड़ रुपए मार्केट में उतार भी चुका है।
प्रिंटर, कटर नोट में प्रयोग किए जाने वाला पेपर मिला...


पुलिस की ओर से जब आरोपियों की इंडस्ट्रियल एरिया स्थित फैक्ट्री में रेड की गई तो वहां से पुलिस को जहां नकली नोट बनाने के लिए प्रयोग किए जाने वाले प्रिंटर, कटर नोट में प्रयोग किए जाने वाला पेपर मिला, वहीं दूसरी ओर पुलिस को तलाशी के दौरान कुछ बहुत ही जरूरी फाइल्स भी मिली हैं। पुलिस को जो फाइल्स मिली हैं इनमें ऐसे लोगों की जानकारी है, जिन्हें नोट दे दिए गए हैं।

लड़की के घर मिला ताला, पड़ोसी भी हैरान...

-मोहाली पुलिस ने लाल बत्ती लगी ऑडी कार से नई जाली करंसी के साथ पकड़े गए आरोपियों में लड़की विशाखा वर्मा कपूरथला की रहने वाली है।
-पुलिस कपूरथला पहुंची तो पता चला कि उसके घर पर दो दिन से ताला लगा है।
-उसके पिता पिता रेल कोच फैक्टरी में एसएसई हैं और मां किसी स्कूल में टीचर है।
-इनके पड़ोसियों ने इनके व्यवहार की प्रशंसा करते हुए बताया कि यह परिवार हरियाणा का मूल निवासी है।
-लेकिन लड़की विशाखा के जाली करंसी रैकेट में फंसने की खबर सुन सभी हैरान हैं।
-सूत्र बताते हैं कि इस दीवाली पर विशाखा अपने घर पर आई थी।
-वह अधिकतर चंडीगढ़ में ही अपने कजन के साथ रहती थी।


आगे स्लाइड्स के जरिए जानिए इस खबर से जुड़ी कुछ और बाते...


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: 3 crore fake note in chandigarh, know the A to Z Story in Hindi
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        Top