Home »Union Territory »Chandigarh »News» Farmer Became Owner Of Swarna Shatabdi Train

शताब्दी एक्सप्रेस का मालिक बन गया ये किसान, बेहद रोचक है पूरी कहानी

Manish | Mar 18, 2017, 09:38 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

लाल घेरे में किसान संपूर्ण सिंह ।

लुधियाना. सुनने में अजीब लगेगा, लेकिन एक घंटे में करीब 80 किलोमीटर दौड़ने वाली स्वर्ण शताब्दी की रफ्तार थम सकती है। कोर्ट ने इस ट्रेन के साथ लुधियाना रेलवे स्टेशन मास्टर के ऑफिस की कुर्की के आदेश दिए हैं। ताकि लुधियाना-चंडीगढ़ रेलवे ट्रैक के लिए एक्वायर किसान संपूर्ण सिंह की जमीन का करीब 1 करोड़ 5 लाख रुपए का बकाया भुगतान हो सके। कोर्ट के इस आदेश के मुताबिक, अब किसान पूर्ण सिंह स्वर्ण शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन का मालिक है।स्टेशन पहुंचकर स्टॉफ ने पूरी की कार्रवाई...
- बुधवार को अदालती स्टाफ के साथ किसान के एडवोकेट्स ने बाकायदा रेलवे स्टेशन पर जाकर कुर्की के आदेश विभागीय अफसरों को तामील कराए।
- शाम को जब अमृतसर से दिल्ली जाने वाली स्वर्ण शताब्दी करीब 7 बजे प्लेटफॉर्म एक पर पहुंची तो अदालती स्टाफ ने अटैचमेंट की कार्रवाई पूरी की।
- ऐसे में प्लेटफॉर्म पर मौजूद मुसाफिर उत्सुकता से यह जानने की कोशिश करते रहे कि क्या मामला है।
- वहीं, अदालती स्टाफ ने मुवक्किल किसान के एडवोकेट्स की मौजूदगी में रेलवे के सेक्शन इंजीनियर प्रदीप कुमार को ट्रेन की सुपुर्ददारी दी।
- ताकि अदालती हुक्म की तामील के साथ ही मुसाफिरों को परेशानी पेश आए।
- सुपुर्ददारी के तहत रेलवे स्टाफ अदालती अमानत बन चुकी ट्रेन की जिम्मेदारी संभालेगा। ताकि अदालत के अगले हुक्म की तामील भी करा सके।
- अगले अदालती आदेश तक ट्रेन की आवाजाही जारी रहेगी। अगली कार्रवाई होगी 18 मार्च को :
इस मामले में अब अदालत द्वारा बेलिफ की रिपोर्ट मिलने के बाद 18 मार्च को अगला आदेश दिया जाएगा। किसान संपूर्ण सिंह के वकीलों आरडी चौधरी और राकेश गांधी के मुताबिक अगर उनके मुवक्किल को बकाया मुआवजे का भुगतान नहीं हो पाता है तो वह अदालत से कुर्क की गई रेलवे की संपत्ति की नीलामी कराने की गुहार लगाएंगे।

ये था मामला :
- लुधियाना-चंडीगढ़ रेलवे ट्रैक के लिए समराला के पास गांव कटाणा में किसान संपूर्ण सिंह की जमीन भी एक्वायर की गई थी।
- जिसका कुल मुआवजा 1 करोड़ 5 लाख 38 हजार 231 रुपए 51 पैसे तय हुआ था। जिस पर भुगतान होने तक 18 फीसदी ब्याज भी देना था।
- जब मुआवजा राशि लंबे समय तक नहीं मिली तो संपूर्ण सिंह ने लुधियाना जिला कोर्ट में एडीशनल जिला एवं सेशन जज जसपाल वर्मा की अदालत में गुहार (एक्जीक्यूशन) लगाई।
- जिस पर कोर्ट ने किसान को मुआवजा दिलाने के लिए अदालत के बेलिफ को रेलवे की संपत्ति कुर्क करने के लिए भेजा।
- इस संपत्ति की सूची मुवक्किल ने अपने वकीलों के जरिए मुहैया कराई। जिसमें स्वर्ण शताब्दी ट्रेन के साथ रेलवे स्टेशन मास्टर का ऑफिस भी शामिल है।
आगे की स्लाइड्स में देखें तस्वीरें...
फोटोः विजय चयाल, लुधियाना
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Farmer became owner of Swarna Shatabdi train
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top