Home »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Uttarakhand Incident: Mp News

PHOTOS: उत्तराखंड में प्रलय: जिंदगी बची कैसे? पूछा तो कांप उठे,रो पड़े!

anoop duboliya | Jun 24, 2013, 12:11 IST

  • भोपाल।उत्तराखंड में आई प्राकृतिक आपदा में फंसे एमपी के करीब 50 परिवार शनिवार दोपहर स्पेशल ट्रेन के जरिये भोपाल पहुंचे। जैसे ही इन लोगों की ट्रेन स्टेशन पर पहुंची, उन्हें लेने आए लोग जार-जार रो पड़े।


    इस ट्रेन से सारंगपुर के विधायक गौतम टेटवाल अपने परिवार के करीब 12 सदस्यों के साथ वापस आए। उनके पिता की उत्तराखंड में मौत हो गई थी। वे उनकी अस्थियां लेकर लौटे हैं।



    इस ट्रेन में भोपाल के अलावा इंदौर, इटारसी और आसपास के कस्बों के लोग शामिल थे। प्रशासन ने इन यात्रियों के लिए स्टेशन पर लंच के पैकेट बंटवाये।

    फोटो : सतीश टेवरे


    सिटी वीडियो में देखें वीडियोज....

  • बेटी की चिंता में बिगड़ी मां की हालत

    पता नहीं बेटी किस हाल में है। डायबिटिक पेशेंट है। दवा भी खत्म हो गई होगी। अब भगवान से ही प्रार्थना कर सकते हैं। ये दर्द है, मालवीय नगर के कान्हा निरूपम में रहने वाली नीरजा बिसारिया की मां माया बिसारिया का। माया की तबीयत बिगड़ रही है, उनका ब्लडप्रेशर बढ़ गया है। रिश्तेदार उन्हें दिलासा दिला दे रहे हैं कि नीरजा लौट आएगी। नीरजा शहर के 13 अन्य लोगों के साथ केदारनाथ यात्रा पर गई हैं। उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है। नीरजा के तमाम रिश्तेदार भोपाल पहुंच गए हैं। उनके भाई संदीप गुना से यहां आए हैं। वे हरिद्वार जाने की तैयारी कर रहे हैं। संदीप कहते हैं कि बीएसएनएल से उनकी टॉवर लोकेशन ली तो लोकेशन प्रतापनगर की मिली। हेल्पलाइन से कुछ मदद नहीं मिल रही है।

  • बस एक बार बात हो जाए

    हबीबगंज स्थित अपेक्स बैंक कॉलोनी में रहने वाले अनिल व अर्चना श्रीवास्तव परिवार के छह सदस्यों के साथ केदारनाथ गए थे। उनसे कोई संपर्क नहीं हो पा रहा है। मैनिट से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी कर चुका बड़ा बेटा आयुष व ११वीं में पढ़ रहा हेमांग गुमसुम हैं। जब भी कोई फोन आता है, वे बड़ी उम्मीद से मोबाइल का डिस्प्ले देखते हैं। नया नंबर देखते हैं तो उम्मीद की कोपलें और हरी हो जाती हैं। इंटरनेट और टीवी चैनलों की तस्वीरों में पापा-मम्मी को ढूंढने की कोशिश कर रहे हैं। आयुष कहता है कि 18 तारीख को आखिरी बार पापा से बात हुई थी। हेमांग कहता है कि बस एक बार पापा-मम्मी से बात हो जाए तो मन को तसल्ली मिल जाए।

  • घर में लटका है ताला, कौन ले खबर

    अपेक्स बैंक कॉलोनी के ही आरके सिंह, पत्नी, बेटे वेदांत व बेटी दीक्षा के साथ केदारनाथ गए हैं। घर में ताला लटका है। कॉलोनी के लोग उनके मोबाइल पर कई बार फोन कर चुके हैं, पर संपर्क नहीं हो पा रहा है।

  • छलक पड़ा तबाही का मंजर देखकर लौटे तीर्थ यात्रियों का दर्द

    आंखें नम, चेहरे पर अपनों को खोने का दर्द और मौत को नजदीक से देखने का खौफ। शनिवार दोपहर 2.45 बजे उत्तराखंड से भोपाल स्टेशन पहुंचे लोगों के चेहरे पर यही भाव थे। इंदौर के विकास विहाणी और पत्नी प्रिया के आंसू तो थमने का नाम नहीं ले रहे थे। खौफनाक मंजर याद करते हुए प्रिया ने बताया कि उन्होंने 11 लोगों को एक साथ उफनती नदी में बहते देखा है।

  • पिता को साथ लेकर गए थे, अस्थियां लेकर लौटे

    माता-पिता और अन्य परिजनों के साथ चारधाम यात्रा पर गए थे। क्या पता था, मुसीबत का ऐसा पहाड़ टूटेगा कि पिता का अंतिम संस्कार कर उनकी अस्थियां लेकर लौटना पड़ेगा। अपनी आंखों के सामने पिता को यमुनोत्री में जानकी चट्टी पर कड़कड़ाती ठंड और मूसलाधार बारिश में दम तोड़ते देखा है। यह आपबीती सुनाई सारंगपुर के भाजपा विधायक गौतम टेटवाल ने। टेटवाल शनिवार को बद्रीनाथ-केदारनाथ की यात्रा से वापस लौटे। उन्होंने बताया कि पिता भेरुलाल धसकती चट्टानें और पहाड़ देखकर ही कंपकंपा उठे थे। उन्हें बेहोशी की हालत में उप स्वास्थ्य केंद्र ले गए। उचित इलाज नहीं मिल पाया और उनकी जान चली गई।

  • सैकड़ों अब भी फंसे

    :राजधानी के 180 यात्रियों के सुरक्षित होने की जानकारी है। :हेल्पलाइन में आए फोन कॉल्स के मुताबिक राजधानी के 238 लोग अब भी फंसे हैं।

  • :बीयू के कर्मचारी, अधिकारी, शिक्षक व बीडीए स्टॉफ ने पीड़ित परिवारों की सहायता के लिए अपना एक दिन का वेतन देने की घोषणा की है। २३ हजार पंचायत सचिव भी 52 लाख रुपए पीएम राहत कोष में देंगे।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Uttarakhand Incident: mp news
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top