Home »Madhya Pradesh »Bhopal »News » Bhopal: 34-Year-OLd Doctor Slips To Death Scaling Down Balcony

रूम में लॉक हुई नन्ही बेटी, तो उसे निकालने में यूं चली गई डॉक्टर की जिंदगी

विशाल त्रिपाठी | Dec 04, 2016, 11:31 AM IST

बेटी को बचाने के लिए बालकनी से जा रहे थे डॉ. अखिलेश मिश्रा।

भोपाल। तीन मंजिला इमारत से गिरने के कारण राजधानी के एक युवा डॉक्टर अखिलेश मिश्रा की शुक्रवार को मौत हो गई। हादसा उस वक्त हुआ जब वे अपनी 4 साल की बेटी को बंद कमरे से निकालने के लिए बालकनी के रास्ते कमरे में दाखिल होने का प्रयास कर रहे थे। हंसते-खेलते परिवार पर टूटा कहर...
साथी डॉक्टरों ने फेसबुक पर जताया दु:ख
- मिसरोद पुलिस के मुताबिक डॉ. अखिलेश मिश्रा रुचि लाइफ स्केप कालोनी में पत्नी सरिता, बेटी सानवी (4) और बेटे सानिद्धय (18 महीने) के साथ रहते थे।
- मूलत: पन्ना के रहने वाले डॉ. अखिलेश की शादी 21 मई 2011 को सरिता से हुई थी।
- 8 जून 1983 में जन्मे डॉ. मिश्रा नेशनल हॉस्पिटल में सहायक डॉक्टर के पद पर कार्यरत थे।
गलती से लॉक हो गया था बेडरूम
- डॉ. मिश्रा की 4 साल की बेटी सानवी गुरुवार रात 11 बजे खेलते-खेलते घर के मास्टर बेडरूम में सो गई थी।
- इस दौरान गलती से उसने बेडरूम लॉक कर लिया था। घबराकर डॉ. मिश्रा एवं उनकी पत्नी सरिता ने कई बार दरवाजा नॉक किया, लेकिन कमरे के अंदर से कोई आवाज नहीं आई।
- इससे डर के वे फौरन ऊपर वाले फ्लोर पर रहने वाले डॉ. राजेश डोबारे के घर गए और उन्हें पूरा घटनाक्रम बताया।
इसीलिए किया बालकनी से जाने का फैसला
- डॉ. मिश्रा को इस बात का अंदेशा था कि बेटी की नींद खुलेगी तो वह डर जाएगी।
- इसीलिए उन्होंने बालकनी के सहारे घर में प्रवेश लेने का मन बनाया।
- डरे हुए डॉ. मिश्रा एवं उनकी पत्नी को डॉ. डोबारे ने समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने।
- बेटी को डर से बचाने के लिए डॉ. मिश्रा ने आनन-फानन में यह फैसला लिया।
चादर के सहारे कर रहे थे बालकनी में प्रवेश
डॉ. मिश्रा अपने ऊपर वाले फ्लोर पर रहने वाले डॉ. राजेश डोबारे के घर की बालकनी से चादर के सहारे अपने घर की बालकनी में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे थे।
- उसी दौरान चादर से उनका हाथ फिसल गया और वे लगभग 40 फीट की ऊंचाई से नीचे गिर गए।
- इस हादसे में उनके सिर, हाथ, पैर,कमर और पीठ में गंभीर चोट आ गई थीं।
- डॉ. डोबारे फौरन उन्हें नेशनल अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
- इस बीच कॉलोनी के लोगों ने गार्ड की मदद से बच्ची को कमरे से बाहर निकाल लिया था।
दरवाजा तोड़कर निकाला तो बेटी ने पूछा- पापा कहां हैं...
कॉलोनी के गार्ड और पड़ोसियों ने दरवाजा तोड़कर मासूम सान्वी को कमरे से बाहर निकाला। उस वक्त घर पर न उसकी मम्मी थीं और न ही पापा। सान्वी अपने पापा की लाड़ली बेटी थी। इसलिए बाहर निकलते ही उसने सबसे पहले पूछा- पापा कहां हैं... ये सुनते ही आस-पास खड़ी महिलाओं की आंखें भर आईं। सभी ने मासूम को दिलासा दी कि बेटा, पापा अभी घर आ जाएंगे।
आगे की स्लाइड्स पर देखें तस्वीरें...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Bhopal: 34-Year-OLd Doctor Slips To Death Scaling Down Balcony
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From News

      Trending Now

      Top