Home »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Action Against Illegal Meat Sales In Madhya Pradesh

ऐसी जगहों से चिकन-मीट खाने से पहले 100 बार सोचें, यहां कचरे में फेंका गया

Manoj Joshi | Apr 21, 2017, 18:52 IST

  • भोपाल। उत्तर प्रदेश की 'योगी सरकार' की तर्ज पर मध्य प्रदेश में भी खुले में मांस बेचने वाले दुकानदारों और चिकन सेंटर के खिलाफ एक बड़ी मुहिम शुरू हुई है। पहला एक्शन भोपाल में लिया गया। यहां कई किलोग्राम मांस जब्त करके फिनाइल से धोकर कचरे में फेंक दिया गया। दरअसल, इस अवैध मीट मार्केट और दुकानों के कारण न सिर्फ आमजन परेशान हैं, बल्कि ऐसा मांस खाने वाले लोग बीमार भी होते हैं। जानें पूरा मामला...

    लगातार चलेगी कार्रवाई...
    -राजधानी में गुरुवार को मांस की अवैध दुकानों के खिलाफ कार्रवाई शुरू हुई। दूसरे दिन यानी शुक्रवार को भी कोलार, चूना भट्टी आदि इलाकों में यह कार्रवाई जारी रही।
    -महापौर आलोक शर्मा ने सोमवार को घोषणा की थी कि उप्र की तर्ज पर भोपाल में भी मांस की अवैध दुकानों के खिलाफ कार्रवाई होगी।
    -महापौर की घोषणा के तीन दिन बाद नगर निगम ने कार्रवाई शुरू कर दी। गुरुवार को सुबह निगम का स्वास्थ्य विभाग का अमला बैरागढ़ पहुंचा और अवैध दुकानों से जब्ती की कार्रवाई शुरू कर दी।
    -दोपहर बाद तक बैरागढ़, गांधी नगर और उसके बाद करोंद क्षेत्र में बिना लाइसेंस के और खुले में मांस की बिक्री वालीं 20 से अधिक दुकानों से मांस और अन्य सामान जब्त कर लिया गया।
    -वेटनरी डॉक्टर एसके श्रीवास्तव ने बताया कि पूरे शहर में ऐसी 144 दुकानों को चिह्नित किया गया है, जहां बिना लाइसेंस के मांस की बिक्री हो रही है। पहले चरण में उनके खिलाफ कार्रवाई हो रही है।
    -पहले दिन नगर निगम के अमले ने 70 दुकानों पर जांच की। लालघाटी, बैरागढ़, गांधी नगर और करोंद क्षेत्र की इन दुकानों से 2 क्विंटल से अधिक मांस जब्त किया गया और 35 गुमठियों को जब्त कर लिया गया। नियमों का उल्लंघन करने वालों से 19 हजार रुपए जुर्माना भी वसूला गया।
    -कार्रवाई की शुरुआत बैरागढ़ के गांधी मार्केट से हुई। नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग और अतिक्रमण अमला जैसे ही यहां मांस दुकानों पर कार्रवाई के लिए पहुंचा, व्यापारी और अन्य जन इकट्ठा होकर कार्रवाई का विरोध करने लगे। अपर आयुक्त एमपी सिंह ने पुलिस अफसरों से बात की और थोड़ी देर में बैरागढ़ थाने का अमला मौके पर पहुंच गया।
    -मांस बिक्री के लिए लाइसेंस लेने के बाद भी कुछ नियमों का पालन जरूरी है। जिसमें, खास तौर से मांस का डिस्प्ले नहीं किया जा सकता। मांस को ढंक कर रखना जरूरी है। इसके साथ ही डॉक्टर से जांच का प्रमाण पत्र भी जरूरी है।

    100 में से एक भी मोबाइल चिकन कॉर्नर वैध नहीं
    निगम के अफसरों के अनुसार राजधानी में एक भी मोबाइल चिकन कार्नर वैध नहीं है। शहर में 100 से ज्यादा मोबाइल चिकन कॉर्नर संचालित हो रहे हैं। शाम को यह दुकानें लगती हैं और देर रात तक यहां जमघट लगा रहता है। इनके खिलाफ अतिक्रमण अमले के साथ कार्रवाई करना होगी। राजधानी में करीब 400 दुकानदारों के पास लाइसेंस हैं। वेटनरी डॉक्टर एसके श्रीवास्तव के अनुसार 144 दुकानें ऐसी चिह्नित की गईं हैं, जिनके पास वैध लाइसेंस नहीं है।
    महापौर ने दिए थे कार्रवाई के आदेश...
    -हाल में अपने सरकारी निवास पर आयोजित ‘भोपाल की चौपाल’ के दौरान मीडिया से चर्चा में महापौर ने कहा था कि उन्हें कई दिनों से खुले में अवैध मांस की बिक्री की शिकायत मिल रही थीं।
    -इसके बाद उन्होंने निगम अफसरों से मांस की दुकानों का सर्वे करने को कहा था। इस सर्वे में 100 से ज्यादा अवैध दुकानें सामने आईं हैं।
    -महापौर ने कहा कि कुछ स्थानों पर मांस की बिक्री के लिए बिना अनुमति के पशु वध होता है, इस पर भी रोक लगाई जाएगी। इसके साथ ही जगह- जगह नजर आ रहे मोबाइल चिकन कार्नर की भी जांच होगी। यह देखा जाएगा कि इन चिकन कार्नर ने कोई अनुमति भी ली है या नहीं?

    डॉक्टर ने किया अलर्ट
    साधारण फूड के बजाय मांस पर कीड़े जल्दी पनपते हैं। खुले में बिकने वाला मांस हर तरह से हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाता है। ये हमारे पाचन तंत्र को कमजोर करता है। इसके साथ ही इंफेक्शन और डायरिया जैसी बीमारियों को जन्म देता है। दूषित मांस का सबसे ज्यादा असर पेट पर पड़ता है।
    वीणा सिन्हा, CMHO जेपी अस्पताल
    आगे देखें संबंधित फोटोज
  • दर्जनों दुकानों से मांस जब्त करके डस्टबिन में फेंक दिया।
  • मांस को जब्त करके पहले उसे कीटाणुरहित करने फिनाइल से धोया गया।
  • यूं खुले में काटा जाता है मांस, जो देता है बीमारियों को न्यौता।
  • राजधानी में ऐसी 100 से ज्यादा दुकानें चिह्नित की गई हैं, जिन्हें तोड़ा जाएगा।
  • यूं खुला पड़ा रहता है मांस, जिनमें पनप जाते हैं कीड़े।
  • जब्त मांस को फिनाइल से धोकर फेंकता नगर निगम कर्मचारी।
  • कई घातक बीमारियाें को जन्म दे रहा यह खुला मांस।
  • ऐसी दुकानों को नगर निगम ने तोड़ डाला।
  • डॉक्टर ऐसे खुले मांस को खाने से चेताते हैं।
  • खुले में मांस बेचने वाली दुकानों को हटाता नगर निगम अमला।
  • भोपाल में बड़ी संख्या में ऐसी दुकानों खुल गई हैं।
  • नगर निगम की कार्रवाई का विरोध करता दुकानदार।
  • नगर निगम लगातार ऐसी कार्रवाई करेगा।
  • नगर निगम की कार्रवाई के दौरान यूं लगी रही भीड़।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Action against illegal meat sales in madhya pradesh
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top