Home »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Recognition Will Be Canceled Of Advance Medical College And Hospital

एडवांस मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल की मान्यता पर संकट, MIC ने किया मना

निश्चय बोनिया | Apr 21, 2017, 18:52 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Recognition will be canceled of Advance Medical College and Hospital

demo pic

भोपाल। कोलार रोड स्थित एडवांस मेडिकल कॉलेज व हॉस्पिटल की मान्यता संकट में आ गई है। मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने सत्र 2017-18 में एडमिशन के लिए कॉलेज को मान्यता जारी करने से इंकार कर दिया है।
 
इसके पीछे कारण बताया गया है कि कॉलेज के हॉस्पिटल के संचालन को अभी तीन साल पूरे नहीं हुए हैं। एमसीआई ने यह जानकारी शुक्रवार को अपने जवाब में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में दी।
 
 
एमसीआई के इस जवाब व निर्णय को लेकर अब नए सवाल खड़े हो गए हैं। इस बात पर सवाल उठाए जा रहे हैं कि जब नियम के अनुसार मान्यता के लिए किसी कॉलेज के हॉस्पिटल के संचालन को तीन साल पूरे होना जरूरी है, तो एडवांस मेडिकल कॉलेज व हॉस्पिटल को किस आधार पर मान्यता दी गई।
 
 
एनजीटी ने एमसीआई और राज्य सरकार को कॉलेज में पढ़ रहे 150 छात्रों को दूसरे कॉलेज में शिफ्ट करने के लिए की जाने वाली कार्रवाई पर जवाब मांगा है। 
 
यह है मामला
-प्रेम ढींगरा द्वारा एडवांस मेडिकल साइंस एंड एजुकेशन सोसायटी के खिलाफ पर्यावरण नियमों के उल्लंघन को लेकर दायर याचिका पर शुक्रवार को एनजीटी में सुनवाई हुई। पिछली सुनवाई में दिए आदेश के तहत शुक्रवार को पहली बार एमसीआई की ओर से जवाब प्रस्तुत किया गया। एमसीआई की ओर से कहा गया है कि सत्र 2017-18 में कॉलेज को एडमिशन की मान्यता जारी नहीं की जाएगी। 
-याचिकाकर्ता के वकील आयुष वाजपेयी के अनुसार फरवरी 2016 में एमपी स्टेट असेसमेंट एंड एन्वायर्नमेंट अथॉरिटी (सिया) ने कॉलेज का निरीक्षण किया था, जिसमें कई कमियां बताई थीं। इसके बाद कॉलेज प्रबंधन ने अपने जवाब में बताया था कि कमियों को दूर कर लिया गया है।
-शुक्रवार को हुई सुनवाई में ट्रिब्यूनल ने सिया को दोबारा से कॉलेज व हॉस्पिटल का निरीक्षण करने के आदेश दिए हैं। कॉलेज के खिलाफ बिना पर्यावरण अनुमति के ही निर्माण का आरोप था।
-सुनवाई के दौरान इस बात पर भी सवाल उठाए गए कि जब कॉलेज को पर्यावरण अनुमति लेनी चाहिए थी, तब क्यों नहीं ली। साथ ही एमसीआई ने भी खुद को इस मामले में पार्टी बनाए जाने पर आपत्ति जताई। इस पर सुनवाई में ही स्पष्ट किया कि मान्यता देने से पहले कॉलेज की कमियों का निरीक्षण नहीं किया  गया इसीलिए एमसीआई को पार्टी बनाया गया है।  
-एनजीटी ने आगामी 9 मई को होने वाली सुनवाई में राज्य शासन को फाइनल जवाब प्रस्तुत करने के लिए कहा कि कॉलेज के 150 छात्रों को दूसरे कॉलेज में शिफ्ट करने के लिए क्या कदम उठाए जा रहे हैं।  
-पिछली सुनवाई में एनजीटी ने चेतावनी दी थी कि यदि एमसीआई इस मामले में अपना जवाब पेश नहीं करती है, तो उसके खिलाफ एकपक्षीय कार्रवाई करते हुए अपील करने का अधिकार छीन लिया जाएगा। एनजीटी ने जवाब मांगा था कि कि जब काॅलेज के पास पर्यावरण अनुमति नहीं थी तो छात्रों को एडमिशन कैसे दे दिए गए थे। 
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Recognition will be canceled of Advance Medical College and Hospital
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top