Home »Madhya Pradesh »Bhopal »News » There Are Many Flaws In The Case Of Girl Misbehavior Said By Raghavendra Sharma

दुष्कर्म मामला: FIR लिखने में पुलिस ने की भारी गलतियां, लिखा 45 बार हुआ है दुष्कर्म

वंदना श्रोती | Mar 18, 2017, 18:02 IST

थाने में मामले की जांच करते आयोग के अफसर।

भोपाल। एक सरकारी प्राइमरी स्कूल के शिक्षक द्वारा दूसरी कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा से ज्यादती के मामले को बाल आयोग ने संज्ञान में लिया है। शनिवार को अवधपुरी थाने पहुंचे मप्र बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष राघवेंद्र शर्मा ने मामले के संबंध में रिपोर्ट मांगी। रिपोर्ट में खामियां मिलने से नाराज शर्मा ने टीआई समेत सभी को फटकार लगाई। रिपोर्ट में नहीं लिखी गई हैं महत्वपूर्ण बातें...

पुलिस ने बाल कल्याण समिति की बजाए एनजीओ को दी मामले की जानकारी
शर्मा के अनुसार बच्ची के साथ दुष्कर्म के मामले को गंभीरता से नहीं लिया गया है। पुलिस थाने में दर्ज रिपोर्ट में कई खामियां है। रिपोर्ट के अनुसार जनवरी से अब तक 45 बार बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ है। इस बारे में पूछने पर थाना प्रभारी ने बताया कि टाइपिंग मिस्टेक के कारण ऐसा हुआ है। शर्मा ने इस बात पर भी आपत्ति जताई है कि बच्चों के साथ होने वाले अपराध के मामले में जिन नियमों का पालन किया जाना था, वह भी नहीं किया गया है। मामला दर्ज होते ही बाल कल्याण समिति को इसकी रिपोर्ट दी जानी चाहिए थी, लेकिन पुलिस ने एक एनजीओ को इसकी सूचना दी। शर्मा ने बच्ची की सुरक्षा के लिए उसके घर के बाहर पुलिसकर्मियों को तैनात कराने के लिए भी कहा।

यह है मामला...
अवधपुरी थाना क्षेत्र स्थित एक सरकारी प्राइमरी स्कूल के शिक्षक ने दूसरी कक्षा में पढ़ने वाली 11 साल की छात्रा से ज्यादती की। यह सिलसिला बीते चार महीने से चल रहा था। खुलासा 15 मार्च को हुआ था, जब बच्ची रोते हुए घर पहुंची और परिजनों को आपबीती सुनाई। परिजनों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपी मोहन सिंह को गिरफ्तार कर धारा 376, 342 आईपीसी 5/6 में केस कायम किया है। बच्ची का परिवार सागर से आठ साल पहले यहां आया। पिता नहीं हैं। बच्ची की दो छोटी बहने हैं। एक छोटा भाई है। पड़ोस में ही बुआ रहती हैं। आरोपी टीचर के यहां बच्ची की मां ने काम किया। बच्ची भी साथ जाती थी।

जैसा की बच्ची ने पुलिस को बताया
सर पहले मुझे बुलाते थे। कभी कान पकड़ते तो कभी पीठ पर मारते थे। उनका यह व्यवहार मुझे अच्छा नहीं लगता था। ये बात मां को बताने की कोशिश की लेकिन मां और भाई का कहना था कि तुम पढ़ाई नहीं करती होगी इसलिए मारते होंगे। मां को तीन बार बताने की कोशिश की। वह बोली- सर से बात करेंगे। मां सर के यहां काम करती थी। यदि मां सर को बताती तो सर और मारते। हमने मना कर दिया कि सर को कुछ नहीं बताना। फिर.. सर अपने कमरे में झाडू लगाने बुलाते थे... मुझे लगता था कि जब इस काम के लिए अम्मा है तो सर मुझे झाडू लगाने क्यों बुलाते हैं। आज सर ने कमरे में झाडू लगाने बुलाया। मैं अपने साथ एक लड़की को लेकर उनके कमरे में गई। सर ने उसे भगा दिया। बाद में बोले- तुम झाडू लगाओ... इसके बाद सर ने कमरा बंद कर दिया... मेरे पास आए और अपने और मेरे कपड़े उतारकर मुझे खींच लिया...फिर मेरे मुंह पर हाथ रख दिया... इतने में दरवाजा खटखटाने की आवाज आई...। वो चिल्लाने लगे ठीक से काम नहीं करती... इसके बाद उन्होंने दरवाजा खोल दिया। मुझे धमकाया कि किसी को कुछ बताना नहीं वर्ना स्कूल से निकाल देंगे। इसके बाद मैं डरकर बुआ के पास गई। बुआ सो रही थी उन्हें जगाकर पूरी बात बताई। बुआ ने भाई को फोन किया, मां को बुलाया और फिर पुलिस को फोन किया...।

मां ने दैनिक भास्कर के साथ बातचीत में बताया-
मैं मोहनसिंह सर के घर दो साल से काम करती थी। उसके बड़े बच्चे हैं। जब भी बेटी मेरे साथ उनके घर जाती तो सब उसे बच्ची की तरह रखते थे। सर भी उसे अच्छे से बोलते थे। मैं भी उनसे पढ़ाई के बारे में पूछती रहती थी। वो बताते थे अच्छा पढ़ रही है। स्कूल में 25 बच्चे हैं। इसमें करीब 15 बच्ची हैं। मेरी बच्ची दूसरी कक्षा में है। क्लास में सबसे बड़ी वही है। उसने दिसंबर में बताया था कि सर अच्छे नहीं है। झाडू लगवाते हैं। मारते हैं। पास बुलाकर डांटते हैं। मैंने सोचा कि पढ़ाई के लिए डांटते हैं। इसलिए बेटी की बातों में कभी ध्यान नहीं दिया। आज जब बदहवास सी घर आई, वह डरी हुई थी। साथ में उसकी बुआ थी। उसने वही बातें बताई जो बुआ को बताई इसके बाद हम सर के पास गए तो हमें देखकर भागने लगे। सर भाग गए तब हमें बेटी की बातों पर भरोसा हुआ और पुलिस के पास गए। हमें लगा आज मेरी बेटी के साथ हुआ कल दूसरे की बेटी के साथ ऐसा सुलूक करेगा।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: There are many flaws in the case of girl misbehavior said by Raghavendra sharma
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top