Home »Haryana »Panipat » A SHO Killed In A Road Accident

भयानक हादसे में पूर्व मंत्री के बेटे की मौत, मुश्किल से निकाली डेड बॉडी

Narendra Sharma Parwana/Sachin Kumar Singh | Mar 20, 2017, 17:38 IST

पानीपत में हुए सड़क हादसे के बाद क्षतिग्रस्त कार (इनसेट) इंस्पेक्टर विजय मलिक की फाइल फोटो।

पानीपत। हरियाणा पुलिस के एक एसएचओ की पानीपत में रविवार रात सड़क हादसे में मौत हो गई। घटना उस वक्त की है, जब सोनीपत के गांव पिपलीखेड़ा के रहने वाले विजय मलिक नामक यह एचएचओ डिपार्टमेंटल कोर्स के लिए पंचकूला जा रहे थे। अचानक पीछे से आ रहे एक बेकाबू ट्रक ने उसकी कार को कुचल दिया। फिलहाल पोस्टमार्टम करवाकर पुलिस ने विजय की डेड बॉडी को परिजनों के हवाले कर दिया है। पूर्व मंत्री वेद सिंह मलिक के पुत्र थे विजय...

- प्राप्त जानकारी के अनुसार पानीपत से गुजरते नेशनल हाईवे नंबर-1 पर रविवार रात करीब डेढ़ बजे एक ट्रक और कार की टक्कर हुई। उसमें सवार एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई।
- हादसे की सूचना पाकर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच शुरू की तो मृतक की पहचान हरियाणा पुलिस के इंस्पेक्टर विजय मलिक के रूप में हुई, जिसकी डेड बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा मामले की जांच शुरू कर दी। वहीं हादसे के बाद ट्रक चालक मौके से फरार बताया जा रहा है।
2003 में हरियाणा पुलिस में भर्ती हुए थे विजय
- सोनीपत के गांव पिपलीखेड़ा के रहने वाले पूर्व मंत्री चौधरी वेद सिंह मलिक के पुत्र विजय मलिक 2003 में हरियाणा पुलिस में भर्ती हुए थे।
-इन दिनों इंस्पेक्टर के तौर पर विजय की पोस्टिंग महेंद्रगढ़ जिले के कनीना थाने में थी। बताया जा रहा है कि विजय अपने किसी डिपार्टमेंटल कोर्स के लिए रविवार रात पंचकूला जा रहे थे।
- जब वह पानीपत से गुजर रहे थे एक बेकाबू ट्रक ने उनकी कार को चपेट में ले लिया और हादसे में उनकी मौत हो गई।
मामले की जांच में जुटी पुलिस
- फिलहाल पानीपत पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर इंस्पेक्टर विजय की लाश काे परिजनों के हवाले कर दिया है और अज्ञात ट्रक चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है।

ये है राजनीति में मलिक परिवार का सफर
- पूर्व मंत्री वेद सिंह मलिक के दादा चौधरी मांगेराम मलिक ने 1952 में सबसे पहले सरपंच बने। यह पंचायत का पहला चुनाव था।

- एक बार रिजर्व होने पर अपने समर्थक को जीत दिलाई, इसके बाद ब्लाक समिति गन्नौर, मार्केट कमेटी गन्नौर, मार्केट सोसायटी गन्नौर के चेयरमैन रहे। फिर लगातार गांव की सरपंची संभाली और जनवरी 1973 सरपंच रहते हुए उनका निधन हो गया।

- फिर पिता रामस्वरूप 1960 से 1963 तक सरपंच रहे, ब्लाॅक समिति गन्नौर के सदस्य, मार्केट कमेटी सोनीपत, मार्केट सोसायटी सोनीपत, सोनीपत लैंडमोर्गेज डेवलपमेंट बैंक के चेयरमेन रहे, रोहतक और करनाल लैंड मोर्गेज बैंक के निदेशक, भारत कृषिक समाज के वाइस चेयरमेन बने, अहमदपुर गांव में शिक्षा संस्थान आरंभ कराई।

- इनकी मां शांति देवी एक बार, भाई रणबीर मलिक दो बार सरपंच रहे, सेंट्रल कॉपरेटिव बैंक के डायरेक्टर, भाई सतबीर सिंह युवा जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष सोनीपत, जबकि गन्नौर मार्केट कमेटी सोसायटी के चेयरमेन भी रहे। वेद सिंह मलिक इनेलो के राज में परिवहन मंत्री रहे।

आगे की स्लाइड्स में देखें और फोटोज........
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: a SHO killed in a road accident
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Panipat

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top