Home »Haryana »Panipat» Jaat Reservation Agitation Cancel

दिल्ली कूच रद्द का जाट गांव-गांव भेज रहे मैसेज, फतेहाबाद को छोड़ सभी जगह इंटरनेट बहाल

Parveen Sharma | Mar 20, 2017, 18:23 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

फतेहाबाद में आंदोलनकारियों द्वारा फूंकी गई बस।

पानीपत/फतेहाबाद। प्रदेश में आरक्षण व अन्य मांगों को लेकर 51 दिन से चल रहे आंदोलन के बीच रविवार को दो केंद्रीय मंत्रियों और सीएम के मौजूदगी में जाट आरक्षण संघर्ष समिति के बीच खत्म हुए गतिरोध के बाद सोमवार को धरना स्थलों से सभी गांवों में 20 मार्च को दिल्ली कूच रद्द किए जाने का संदेश भेजा जा रहा है। कल जहां प्रदेश के 16 जिलों में इंटरनेट बैन था, वहीं साेमवार शाम तक फतेहाबाद को छोड़कर सभी जगह यह सेवा बहाल कर दी गई है। DGP केपी सिंह ने जाना घायलों का हाल...
दिल्ली कूच को लेकर ढाणी गोपाल चौपटा धरना स्थल पर हुए विवाद का जायजा लेने के लिए डीजीपी केपी सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने घायलों का हाल जाना। गौरतलब है कि ढाणी गोपाल चौपटा में प्रदर्शनकारियों ने गंडासी और अन्य तेजधार हथियारों से पुलिस पर हमला कर दिया था। पथराव करते हुए पुलिस की दो बसों में आग लगा दी गई थी। हमले में एसपी ओपी नरवाल, डीएसपी गुरदियाल सिंह दो इंस्पेक्टर समेत करीब 50 पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। पैरामिलिट्री के भी एक-दो जवानों को चोटें आई थी। पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ते हुए लाठीचार्ज करना पड़ा था।
46 लोग नामजद
इसी मामले में जायजा लेने के लिए डीजीपी केपी सिंह फतेहाबाद पहुंचेंगे। इस मामले में पुलिस ने 46 लोगों को नामजद करते हुए कई अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर रखा है।
रविवार को इस तरह चला दिनभर का घटनाक्रम
दिल्ली में रविवार को दो केंद्रीय मंत्रियों की मौजूदगी में सीएम मनोहर लाल के साथ ठीक वैसा ही समझौता हुआ है, जैसा कि 16 मार्च को पानीपत में मंत्रियों की कमेटी तथा जाट प्रतिनिधियों में सहमति बनी थी। दोनों पक्षों ने दिल्ली के हरियाणा भवन में दोपहर बाद संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस करके समझौते की घोषणा की।
ये बोले सीएम मनोहर लाल खट्टर
केंद्रीय इस्पात मंत्री बीरेंद्र सिंह, कानून राज्यमंत्री पीपी चौधरी की मौजूदगी में सीएम खट्‌टर ने बताया कि सरकार ने मांगें मानी ली हैं। उन्होंने उन्हीं मांगों पर सहमति फिर दोहराई, जो दो दिन पहले दिल्ली में शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा और चंडीगढ़ में खुद सीएम अपनी-अपनी प्रेस वार्ता में बता चुके थे।
ये बोले जाट नेता यशपाल मलिक
संघर्ष समिति के अध्यक्ष यशपाल मलिक ने बताया कि दिल्ली कूच रद्द कर दिया गया है। 26 मार्च तक धरने खत्म होंगे। हालांकि कुछ धरने सांकेतिक रूप से जारी रहेंगे।
ऐसे बन गया था गतिरोध
पानीपत में तीसरे दौर की बातचीत के लिए शिक्षामंत्री मंत्रियों की कमेटी के अध्यक्ष बनाए गए थे। तब भी दावा किया गया था कि सहमति बन गई है। अगले दिन 17 मार्च को दिल्ली में मलिक गुट और सरकार की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस होनी थी, लेकिन उससे पहले सीएम से मिलाने पर गतिरोध बन गया था। उस दिन डेढ़ घंटे के भीतर दिल्ली में रामबिलास शर्मा, रोहतक में मलिक और चंडीगढ़ में सीएम ने मीडिया को संबोधित किया था।
सरकार की ओर से पत्रकारों को समझौता पत्र भी दिखाया गया, जबकि मलिक ने कहा कि सहमति बनी ही नहीं थी। उन्होंने शिक्षामंत्री को झूठा बताया। कहा कि सहमति तो दिल्ली में सीएम से बात के बाद बननी थी। दिलचस्प है, अब जब रविवार को दोनों पक्ष प्रेस वार्ता के लिए बैठे तो रामबिलास शामिल नहीं थे। दो दिनों में घटनाक्रम तेजी से बदले। हरियाणा को 24 घंटे तनाव से गुजरना पड़ा, लेकिन राहत की बात है कि सहमति बन गई। प्रदेश में 29 जनवरी से धरने जारी थे।
आगे की स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: jaat reservation agitation cancel
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Panipat

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top