Home »Haryana »Panipat » Some Selected Photos Of Jaat Agitation 2017

Photos: फिर हिंसक हुआ जाट आंदोलन, पुलिसवालों का कर दिया ऐसा हाल

Balraj Singh | Mar 19, 2017, 16:49 IST

फतेहाबाद में अस्पताल में दाखिल आंदोलनकारियों से झड़प में घायल पुलिस कर्मचारी।

पानीपत।आरक्षण समेत 7 मांगों को लेकर अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के बैनर तले प्रदेश में चल रहा आंदोलन 50वें दिन हिंसक रूप ले गया। एक तरफ संसद के घेराव के लिए दिल्ली कूच के ऐलान के बीच दिल्ली के हरियाणा भवन में जाट नेताओं की बैठक चल रही है, वहीं हरियाणा के फतेहाबाद जिले में आज हालात बिगड़ते नजर आए। dainikbhaskar.com इस आंदोलन की हवन से अस्पताल तक की कहानी कुछ चुनिंदा फोटोज के जरिए आप तक पहुंचा रहा है। इसलिए बिगड़ा आंदोलन का रंग...
बताते चलें कि 29 फरवरी को प्रदेश में 19 जगह जाट समुदाय की तरफ से हवन के साथ शांतिप्रिय ढंग से धरने शुरू किए गए थे। इनका मुख्यालय रोहतक के गांव जसिया में बनाया गया है। सरकार के साथ अपनी मांगों को लेकर कई बार बैठकें हो चुकी हैं। बावजूद इसके सहमति नहीं बन पाने के चलते बाद में इन धरना की संख्या बढ़कर 31 हो गई थी। अब तक सब ठीक-ठाक ही चल रहा था, लेकिन रविवार को अचानक उस हालात बेकाबू हो गए जब हिसार के कुछ गांवों से जाट आंदोलनकारी फतेहाबाद के गांव ढाणी गोपाल में चल रहे धरने में शामिल होने के लिए आ रहे थे। दरअसल हुआ यूं कि 20 मार्च को दिल्ली कूच को लेकर की गई तैयारियों के बीच प्रशासन ने धारा-144 लगा दी, जिसके चलते ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को एक जिले से दूसरे में प्रवेश करने से रोकने के आदेश हैं। इसी के चलते जब पुलिस ने जाट समुदाय के लोगों को रोका तो दोनों तरफ से हालात बिगड़ गए।
सोनीपत जिले में प्रशासन रास्ते रोकने को तैयार
उधर सोनीपत जिले में प्रशासन ने जाट आंदोलनकारियों को दिल्ली पहुंचने से रोकने की तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके चलते सोनीपत शहर में कुंडली बॉर्डर और गोहाना रोड बाईपास पर सड़कों को भारी-भारी पत्थर रखकर रोक दिया गया है। साथ ही गोहाना शहर में बरोदा रोड पर भी इसी तरह पत्थर रखकर जाटों के ट्रैक्टर-ट्राॅलियों को रोकने की तैयारी है। इसके अलावा पता चला है कि अगली रणनीति के तहत प्रशासन जेसीबी मशीनें बुलवाकर सड़कों को खोदने की तैयारी में है।
ये हैं जाटों की 7 मुख्य मांगें
1. प्रदेश में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान गोली चलवाने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई हो।
2. आंदोलन में मारे गए युवकों को शहीद का दर्जा।
3. पिछले और हाल ही में हुए आंदोलन के दौरान जो मुकदमे दर्ज किए गए हैं, उन्हें रद्द किया जाए।
4. बीसी-बी कैटेगरी में आरक्षण चाहिए, चाहे उसे 11 से बढ़ाकर 14 प्रतिशत किया जाए।
5. गृहमंत्री राजनाथ सिंह और सीएम मनोहर लाल खट्टर द्वारा किए गए वादे तुरंत पूरे किए जाएं।
7. परिवारों को उचित मुआवजा और आश्रितों को नौकरी दी जाए।
आगे देखें इस बार के जाट आंदोलन की चुनिंदा फोटोज..........
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: some selected photos of jaat agitation 2017
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Panipat

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top