Arun Binjola | Sep 03, 2013, 11:38 AM IST

नई दिल्‍ली। नाबालिग लड़की के यौन उत्पीड़न के आरोप में गिरफ्तार विवादास्पद कथावाचक 74 साल के आसाराम की जमानत अर्जी पर मंगलवार को सुनवाई होनी है। इस समय वह 14 दिनों की न्‍यायिक हिरासत में जोधपुर की सेंट्रल जेल में बंद हैं, लेकिन आसाराम का 'पुरुषत्व' देखकर तीन डॉक्टरों की टीम ने दांतों तले उंगलियां दबा लीं। आसाराम ने पोटेंसी टेस्ट (पुरुषत्व परीक्षण) के पहले चरण यानी फिजिकल स्टीमुलेशन में ही अपना दमखम साबित कर दिया। आसाराम के पोटेंसी टेस्ट के लिए दवा की जरूरत ही नहीं पड़ी।

DU का फरमान: लड़कियां नहीं पहन सकती स्कर्ट और शॉर्ट्स

रेप करने के बाद आसाराम पीड़िता से बोले- मैं हूं भगवान, कर दूंगा तुझे तबाह

असल में पुरुषत्‍व परीक्षण टेस्‍ट के लिए उम्र कोई मायने नहीं रखती है। अगर कोई व्‍यक्ति शारीरिक क्षमता का हवाला देते हुए कहता है कि उसमें सेक्‍स करने की ताकत नहीं है तो चिकित्‍सा जांच के जरिए उसकी इस क्षमता का पता किया जाता है। (शादी का मंडप छोड़ भागे थे आसाराम, आज हैं 5 हजार करोड़ के मालिक)

हालांकि, आसाराम के पोटेंसी टेस्‍ट में इस दावे की हवा निकल गई कि उनमें शारीरिक संबंध बनाने की क्षमता नहीं है। यह टेस्‍ट 10 से 15 मिनट में आसानी से उस व्‍यक्ति की शारीरिक संबंध बनाने की क्षमता के बारे में बता देता है। वहीं, इससे पहले पोटेंसी टेस्‍ट होता था, उसमें रात भर का समय लगता था। (19 का प्रेमी और 40 की प्रेमिका, प्‍यार पाने के लिए रच डाली खौफनाक साजिश)

आगे पढ़िए - आखिर कैसे हुआ आसाराम का पोटेंसी टेस्‍ट और पहले रात भर का समय क्‍यों लगता था इस टेस्‍ट में...

ये भी पढ़िए

SHAME: मैं जर्मनी से इंडिया आई थी, यहां हर मर्द ने मुझे घूरकर देखा

तिहरा हत्‍याकांड: रोहिणी कोर्ट ने नौ साल पुराने मामले में तीन आरोपियों को सुनाई सजा-ए-मौत

19 का प्रेमी और 40 की प्रेमिका, प्‍यार पाने के लिए रच डाली खौफनाक साजिश

जानिए कैसे हुआ आसाराम का पोटेंसी टेस्‍ट और पहले रात को क्‍यों होता था ये टेस्‍ट

दिल्‍ली गैंगरेप: आरोपियों की अर्जी खारिज, जज ने कहा, 'मैं 10 सितंबर को दूंगा फैसला

DU का फरमान: लड़कियां नहीं पहन सकती स्कर्ट और शॉर्ट्स

नाबालिग लड़की की रजामंदी से सेक्‍स कोई गुनाह नहीं: अदालत

प्रियंका गांधी के बचपन का प्‍यार थे राबर्ट वाड्रा, पहली नजर में हुआ था लव

PICS: अचानक कॉलेज की दीवार फांदने लगी ये लड़की, जब सच पता लगा

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title:
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top