Arun Binjola | Sep 13, 2013, 12:08 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

नई दिल्ली। ‘जिस पाशविकता और भयावह तरीके से 23 वर्षीय लड़की के साथ अपराध किया गया, वह दुर्लभतम अपराध की श्रेणी में आता है। दोषियों के अमानवीय और नृशंस कृत्य ने राष्ट्र के सामूहिक अंतकरण को झकझोर दिया और वे दृष्टांत के योग्य सजा के हकदार हैं, इसलिए दोषियों को फांसी की सजा दी जाती है।‘ साकेत की फास्‍ट ट्रैक कोर्टके न्‍यायाधीश योगेश खन्‍ना ने नौ महीने के लंबे इंतजार के बाद इस निष्‍कर्ष के साथ राष्‍ट्र को झकझोरदेने वाली इस घटना में अपना अहम फैसला सुना दिया।

मौत की सजा को पुष्टि के लिए दिल्ली उच्च न्यायालय के पास भेज दिया गया है। दोषियों को हत्‍या के अपराध के लिए मौत की सजा सुनाईगई, जबकि लड़की से गैंगरेप करने के लिए उम्रकैद की सजा सुनाई गई। अदालत ने प्रत्येक अभियुक्त पर 55-55 हजार रूपए का जुर्माना भी लगाया। ('दामिनी' से गैंगरेप के गुनहगारों को सजा-ए-मौत देते जज ने क्‍या कहा, पढ़ें)

पूर्व घोषणा के मुताबिक, शुक्रवार की दोपहर ठीक ढ़ाई बजे जज अपने चैंबर से अदालत कक्ष आए और सजा का ऐलान किया। खचाखच भरे अदालत कक्ष में अपने 20 पन्नों के आदेश में न्यायाधीश ने कहा कि मुकेश (26) , अक्षय ठाकुर (28), पवन गुप्ता (19) और विनय शर्मा के जघन्य कृत्य की वजह से उनसे समुदाय के संरक्षणात्मक हाथों को खींचने की जरूरत है। न्यायाधीश ने कहा, एक असहाय महिला के खिलाफ इस तरह का अपराध अनुकरणीय सजा की मांग करता है। मैं यहां यह कहकर छोड़ सकता हूं कि घटना की गंभीरता भयावह पाशविक और अद्वितीय बर्ताव को दर्शाती है। (सजा-ए-मौत सुनते ही बदहवास रोने लगे दामिनी के गुनहगार, झल्‍लाए वकील ने किया हंगामा)

'डेथ टू ऑल' का फैसला सुनते ही चारों दोषी रो पड़े, वहीं विनय फूट-फूटकर रोया और ‘सर, सर कहते हुए जज से माफी की मिन्‍नत करने लगा। यह एक ऐसा फैसला था, जिसका इंतजार केवल पीड़िता के परिजनों को ही नहीं, बल्कि पूरे देश और दुनिया को था। बरबस, इसका एक उदाहरण यह भी है कि कोर्ट रूम के बाहर खड़ी बेसब्र जनता को फैसला आने के चंद पलों बाद एक वकील ने बाहर आकर बताया कि ‘फांसी हुई है’ तो पूरा अदालत परिसर तालियों से गूंज उठा और लोग खुशी से चिल्‍लाते रहे। पीड़िता के परिवार ने चारों वयस्क दोषियों को मौत की सजा सुनाए जाने के बाद राहत की सांस ली। पीड़िता के परिवार ने मामले के किशोर दोषी को अधिकतम तीन साल के कारावास की सजा सुनाए जाने के बाद नाखुशी भी जताई।

आगे पढ़ें- इस अहम फैसले में जज ने क्‍या खास बातें कहीं और अन्‍य महत्‍वपूर्ण बातें।

ये भी पढ़ें-

पढ़िए, ‘दामिनी’ क्‍या सजा चाहती थी छह दरिंदों के लिए

जज बोले- दोषियों को फांसी देने से ही मिलेगा 'दामिनी' को इंसाफ

TOTAL RECALL: 'दिल्‍ली गैंगरेप के बाद ये हुआ था राजधानी का हाल

'गैंगरेप के दोषियों ने मेरी भी हत्या कर दी होती'

दिल्‍ली गैंगरेप के बाद हुआ था हिंसक प्रदर्शन, इंडिया गेट पर लगा डाली आग

दामिनी के गुनहगारों ने मीडियावालों को दी गंदी गालियां, वकील पर चले चप्‍पल

'दामिनी' के दोस्‍त की जुबानी, 16 दिसंबर की रात की कहानी

नाबालिग दरिंदे को तीन साल की सजा

अन्‍य अहम खबरें

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title:
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top