» मिलिए बियोन्स घुड़मक्खी, जॉर्ज बुश भंवरे और प्रिंस चार्ल्स मेंढक से..

मिलिए बियोन्स घुड़मक्खी, जॉर्ज बुश भंवरे और प्रिंस चार्ल्स मेंढक से..

BBC Hindi | Jul 20, 2012, 09:00 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

beyonce_380गायिका बियोन्स, पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश, ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स से तो आप वाकिफ हैं. लेकिन क्या आप जॉर्ज बुश भंवरा, बियोन्स घुड़मक्खी, प्रिंस चार्ल्स मेंढक से मिले हैं....?



आइए आपको कुछ ऐसे जीवों से मिलवाते हैं जिनका नामकरण मशहूर हस्तियों के नाम पर किया गया है.



लेकिन ऐसे नाम क्यों? और क्या इन हस्तियों को इस पर आपत्ति नहीं होगी?



जी नहीं, आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि आपत्ति होना तो दूर, इन जानी-मानी हस्तियों में से कई वैज्ञानिकों से संपर्क साधकर उनका धन्यवाद करते हैं, जैसा कि पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने किया.



लंदन नेचुरल हिस्ट्री म्यूज़ियम से जुड़ी डॉक्टर इलिनॉर माइकल के मुताबिक हर साल जीवों की 17,000 से 24,000 प्रजातियों की पहचान होती है जिनमें से कुछ स्तनपायी होते हैं, सैकड़ों उभयचर, हज़ारों कीट-पतंग और दूसरे अकशेरुकी होते हैं.



जो वैज्ञानिक इन जीवों की पहचान करते हैं, उनके सामने बड़ी समस्या इन्हें नाम देने की होती है. अक्सर ऐसे जीवों का नामकरण उनकी खूबियों या उनकी खोज के स्थान के आधार पर किया जाता है.



डॉक्टर इलिनॉर माइकल कहती हैं, "वैज्ञानिक जीवों और प्रजातियों के नाम अपने नाम की पर नहीं रखते हैं. ऐसा करना अहंकार की चरम सीमा छूना होगा. ऐसा करने से किसी भी वैज्ञानिक की प्रतिष्ठा नहीं बढ़ेगी...कुछ वैज्ञानिक उन लोगों के नाम चुनते हैं जिनका वो बहुत सम्मान करते हैं."



आइए जानी-मानी हस्तियों के नाम पर जानी जाती प्रजातियों पर नजर डालें:



बियोन्स घुड़मक्खी



ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में घुड़मक्खी की एक विलक्षण प्रजाति मिली है और उसका नाम इसी साल जनवरी में अमरीकी पॉप गायिका बियोन्स के नाम पर रखा गया है - स्केप्टिया बियोन्सिया.



वैज्ञानिक ब्रायन लेसर्ड कहते हैं, "इस मक्खी के शरीर के निचले हिस्से पर पाए जाने वाले सुनहरे घने बालों के कारण ही मुझे बियोन्स के नाम पर इसका नाम रखने की प्रेरणा मिली."



जॉर्ज बुश भंवरा

भंवरों की कुछ नई प्रजातियों के नाम पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश, उपराष्ट्रपति डिक चेनी और रक्षा मंत्री डोनल्ड रम्सफेल्ड के नाम पर रखे गए हैं. इन भंवरों की खोज करने वाले वैज्ञानिक क्वेन्टिन व्हिलर बताते हैं कि इनके नाम राजनेताओं के नाम पर रखे जाने के लिए कोई शारीरिक विशेषता वजह नहीं है. वो आगे बताते हैं, "नए जीवों के नाम रखते वक्त कई बार रचनात्मकता दिखानी पड़ती है. हम दो वैज्ञानिक ही राजनीतिक रूप से रुढ़िवादी हैं, इसलिए हमने इन भंवरों को ये नाम दिए हैं." वो बताते हैं कि जॉर्ज बुश ने भंवरों के इस नामकरण के लिए फोन कर उन्हें शुक्रिया कहा था.



प्रिंस चार्ल्स मेंढक



इसी साल की शुरुआत में पेड़ों पर पाए जाने वाले एक मेंढक का नाम ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स के नाम पर रखा गया. दरअसल ये मेंढक वर्षा वनों के अपने ठिकाने को सुरक्षित रखने के लिए काफी परोपकारी काम करता है. इसीलिए उसका नाम प्रिंस चार्ल्स के नाम पर रखा गया है. इस मेंढक की खोज इक्वाडोर में साल 2008 में की गई थी.



केट विन्सलेट भंवरा



हॉलीवुड अभिनेत्री केट विन्सलेट के नाम पर एक भंवरे का नाम अग्रा केटविन्सलेट रखा गया है. इस भंवरे की खोज करने वाले कीटविज्ञानी टेरी एर्विन ने बताया कि घटते वनों की वजह से भंवरों पर जो खतरा मंडरा रहा था, ये भंवरा उसकी सूचना दे रहा था. इस तरह इसकी खूबियां केट विन्सलेट के 'टाइटैनिक' फिल्म के किरदार से मिलती हैं, इसीलिए इसे ये नाम दिया गया. केट फिल्म में टाइटैनिक के डूबने के बाद भी जीवित बच गई थीं. लेकिन अगर सभी वर्षावन खत्म हो जाते हैं तो इन प्रजातियों के बारे में ये बात नहीं जा सकेगी.



एडॉल्फ हिटलर भंवरा



एनोफथैल्मस हिटलरी ऐसे भंवरों की प्रजाति है जो स्लोवेनिया की पांच आर्द्र गुफाओं में पाई जाती है. बेशक इसका नाम हिटलर के प्रसंशक एक जर्मन कलक्टर ने 1933 में तब रखा था जब हिटलर जर्मनी के चांसलर बने थे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: मिलिए बियोन्स घुड़मक्खी, जॉर्ज बुश भंवरे और प्रिंस चार्ल्स मेंढक से..
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Science Tech

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top