» लापता नवरुणा का सौ दिन बाद भी सुराग नहीं

लापता नवरुणा का सौ दिन बाद भी सुराग नहीं

BBC Hindi | Dec 27, 2012, 13:45 PM IST

क्या कहती है पुलिस?

पुलिस को शक था कि उन हड्डियों का संबंध इस मामले से हो सकता है. लेकिन सामान्य तर्क-बुद्धि से वहां लोग यही कह रहे थे कि वो हड्डियां बहुत पुरानी और किसी पुरुष के कंकाल का हिस्सा लग रही थीं. मुजफ्फरपुर के पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने गुरुवार सुबह बीबीसी से कहा कि जब तक उन हड्डियों की फ़ॉरेंसिक जांच रिपोर्ट नहीं मिल जाती, तब तक कुछ स्पष्ट कहना सही नहीं होगा. इस मामले में राजेश कुमार ने बताया, ''नवरुणा के पिता अतुल्य चक्रवर्ती ने इस तथ्य को पुलिस से छिपाया है कि वो अपने आवासीय भूखंड को तीन लोगों के हाथ बेचने और एक आदमी से 21 लाख रूपए लेने के विवाद में फंसे थे. हो सकता है कि इस अपहरण का संबंध उस विवाद से भी हो और पुलिस उस दिशा में भी जांच कर रही है.''

पिता का दर्द

उधर अतुल्य चक्रवर्ती से जब संपर्क किया गया तो उन्होंने पुलिस अधीक्षक की इस बात को बकवास करार देते हुए इस मामले में सफेदपोश अपराधी भू-माफिया के साथ पुलिस की साठ-गांठ का आरोप लगाया. नवरुणा के पिता कहते हैं, ''हमने अपने पाँचों भाइयों की सहमति से इस आवासीय भूखंड का बंटवारा किया है. अब कुछ लोग हमें डरपोक बंगाली समझकर डरा-धमकाकर यहां से भगाने और फिर ज़मीन-मकान हड़प लेने की साजिश में जुटे हैं. इसलिए लगता है कि दबाव बनाने के लिए मेरी बेटी का अपहरण किया गया.'' वे कहते हैं, ''पुलिस उन अपराधियों पर हाथ डालने के बजाए मुझे और मेरे परिवार को ही तंग-तबाह करने पर उतारू दिख रही है. पहले पुलिस ने प्रेम-प्रसंग की कहानी गढ़ी और अब घर के पास किसी की हड्डियां फेंककर या ज़मीन-मकान विवाद बताकर अपना और अपराधियों का असली चेहरा छिपा रही है.'' अतुल्य चक्रवर्ती बेहद दुखी और काफ़ी क्षोभ में लगे. वे कहते हैं, ''बेटी जीवित मिल जाने के आश्वासन और सांत्वना के बोल सुनते-सुनते अब थक चुका हूं और कहीं इसी थकान में दम न निकल जाए.''
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: लापता नवरुणा का सौ दिन बाद भी सुराग नहीं
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top